टिकट पर घमासान: पत्नी नवजोत कौर के बचाव में उतरे सिद्धू, 'मेरी पत्नी कभी झूठ नहीं बोलती'

टिकट पर घमासान: पत्नी नवजोत कौर के बचाव में उतरे सिद्धू, 'मेरी पत्नी कभी झूठ नहीं बोलती'

Kaushlendra Pathak | Publish: May, 17 2019 12:14:12 PM (IST) राजनीति

  • लोकसभा टिकट को लेकर पंजाब कांग्रेस में बवाल जारी
  • सिद्धू की पत्नी ने अमरिंदर पर लगाया था अमृतसर से टिकट न देने का आरोप
  • पवन कुमार बंसल को कांग्रेस ने अमृतसर से दिया है टिकट

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव ( Loksabha Election ) के आखिरी चरण के लिए पार्टियों के बीच घमासान जारी है। प्रचार-प्रसार के आखिरी दिन सभी दलों ने पूरी ताकत झोंक दी है। वहीं, दूसरी ओर पंजाब कांग्रेस ( CONGRESS ) में बवाल थमने का नाम नहीं ले रहा है। लोकसभा टिकट को लेकर नवजोत कौर ( Navjot Kaur ) और पंजाब सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ( Amrinder Singh ) के बीच छिड़ी जंग में नवजोत सिंह सिद्धू ( Navjot Singh Sidhu ) भी कूद पड़े हैं। कांग्रेस के फायरब्रांड नेता सिद्धू ने अपनी पत्नी का बचाव करते हुए कहा कि वह कभी झूठ नहीं बोलती हैं।

पढ़ें- गेम चेंजर साबित हो सकतें है नीतीश कुमार

पत्नी नवजोत कौर के बचाव में उतरे सिद्धू

चंडीगढ़ में मीडिया से बात करते हुए सिद्धू ने कहा कि नवजोत कौर ने कैप्टन अमरिंदर सिंह पर जो आरोप लगाए हैं वह झूठ नहीं है। उन्होंने कहा कि मेरी पत्नी सच बोल रही हैं। सिद्धू के आरोप पर कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि डॉ. नवजोत ने चंडीगढ़ से टिकट मांगा था और आलाकमान नेे पवन बंसल को टिकट देना उचित समझा। गौरतलब है कि नवजोत कौर ने आरोप लगाया था कि कैप्टन अमरिंदर सिंह के कहने पर कांग्रेस हाईकमान ने उनका टिकट काट दिया था। इस आरोप पर अमरिंदर सिंह ने पलटवार करते हुए कहा था कि नवजोत कौर को अमृतसर और बठिंडा से टिकट का ऑफर दिया गया था, लेकिन उन्होंने मना कर दिया। इतना ही नहीं नवजोत कौर ने यह भी कहा था कि कैप्टन अमरिंदर सिंह के कहने पर ही पंजाब में नवजोत सिंह सिद्धू से प्रचार-प्रसार नहीं कराया जा रहा है।

पढ़ें- लोकसभा चुनाव: आखिरी चरण के मतदान के लिए आज थम जाएगा चुनाव प्रचार, 59 सीटों पर 19 मई को मतदान

सिद्धू और अमरिंदर सिंह के बीच खींचतान

गौरतलब है कि नवजोत सिंह सिद्धू और पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के बीच चल रही खींचतान पहले भी कई बार सामने आ चुकी है। यहां तक कि कैप्टन अमरिंदर सिंह से कथित तकरार के कारण सिद्धू पंजाब में चुनाव प्रचार से भी दूर ही रहे। अब देखना यह है कि पंजाब कांग्रेस में यह विवाद जल्द थमता है या फिर कुछ और परिणाम सामने आएगा।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned