तमिलनाडु: पुलिस ने स्वराज इंडिया पार्टी के नेता योगेंद्र यादव को लिया हिरासत में, धक्का-मुक्की का आरोप

तमिलनाडु: पुलिस ने स्वराज इंडिया पार्टी के नेता योगेंद्र यादव को लिया हिरासत में, धक्का-मुक्की का आरोप

Mohit sharma | Publish: Sep, 08 2018 02:27:11 PM (IST) राजनीति

योगेंद्र यादव 8 लेने एक्सप्रेसवे योजना के खिलाफ किसानों के विरोध प्रदर्शन में हिस्सा लेने जा रहे थे, तभी वहां मौजूद पुलिस ने उनको हिरासत में ले लिया।

नई दिल्ली। तमिलनाडु से एक बड़ी खबर सामने आई है। यहां स्वराज इंडिया पार्टी के नेता योगेंद्र यादव को हिरासत में लिया गया है। योगेंद्र 8 लेने एक्सप्रेसवे योजना के खिलाफ किसानों के विरोध प्रदर्शन में हिस्सा लेने जा रहे थे, तभी वहां मौजूद पुलिस ने उनको हिरासत में ले लिया। योगेंद्र ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी। उन्होंने बताया कि वह किसानों से मिलने जा रहे थे, तभी पुलिस ने बीच में ही रोक लिया और उनके साथ धक्का-मुक्की की और उनके फोन भी छीन लिए। उन्होंने यह भी बताया कि तमिलनाडु पुलिस ने उनको चेंगाम थाने में रखा है। आपको बता दें कि योगेंद्र यादव हमेशा किसानों के मुद्दों और आंदोलनों में भाग लेते रहे हैं।

कश्‍मीर: पत्थरबाजों को पकड़ने के लिए खुद भीड़ में शामिल हो गई पुलिस, गुनहगारों को किया गिरफ्तार

 

कश्मीर: नए डीजीपी के चार्ज लेते ही एक्शन में आई पुलिस, भीड़ में शामिल हो पकड़े पत्थरबाज

पुलिस कप्तान ने नहीं दी अनुमति

इसके बाद किए गए दूसरे ट्वीट में योगेंद्र ने कि पुलिस ने उनकी मौजूदगी में यहां कानून-व्यवस्था बिगड़ने की बात कही थी। हालांकि उन्होंने इसके लिए पुलिस से इजाजत मांगी, लेकिन पुलिस कप्तान ने इसकी अनुमति नहीं दी। योगेंद्र यादव ने कहा कि ऐसा लगता है कि गांधी का सविनय अविज्ञा ही अब एक मात्र रास्ता है। आपको बता दें कि इलेक्शन एक्सपर्ट से राजनीति में आए योगेंद्र यादव कभी अरविंद केजरीवाल खास माने जाते थे।

कश्मीर: पत्थरबाजों पर कार्रवाई को लेकर सोशल मीडिया पर छिड़ी बहस, कहीं विरोध तो कहीं शाबाशी

कश्मीर: अनंतनाग में मुठभेड़ के दौरान सुरक्षाबलों ने मार गिराया एक आतंकी, पुलिसकर्मी घायल

वह आम आदमी पार्टी के नेता भी रह चुके हैं, लेकिन पार्टी लाइन से मतभेदों के चलते उन्होंने पार्टी छोड़ दी थी। इसके बाद उन्होंने स्वराज इंडिया पार्टी का गठन किया था। योगेंद्र यादव ने कहा कि उन्होंने तिरुवन्नामलाई के जिलाधिकारी से अधिग्रहण और 8-लेन एक्सप्रेस-वे के संबंध में बात की थी। इस दौरान उन्होंने इस मामले में किसी भी तरह से पुलिस हस्तक्षेप से इंकार किया था। बावजूद इसके फोन पर बात करने के कुछ ही समय बाद पुलिस ने हमें हिरासत में लिया।

 

Ad Block is Banned