महबूबा मुफ्ती के बयान से भड़के घाटी के युवा, पीडीपी दफ्तर पर तिरंगा फहराने का किया प्रयास

 

  • महबूबा से नाराज युवाओं ने PDP दफ्तर पर धावा बोला।
  • मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने युवाओं को शांति भंग करने से रोका।

By: Dhirendra

Updated: 25 Oct 2020, 06:49 PM IST

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर ( Jammu-Kashmir ) की पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती ( Mehbooba Mufti) के तिरंगा ( National Flag ) को लेकर दिए गए विवादित बयान पर कश्मीर घाटी में विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। केंद्रशासित प्रदेश में रविवार को भी नाराज लोगों को महबूबा के खिलाफ प्रदर्शन किया।

इस मामले को लेकर भारी संख्या में नाराज युवा आज पीडीपी दफ्तर पहुंच गए और उनके कार्यालय के ऊपर तिरंगा फरहाने की कोशिश की। हालांकि, पुलिस ने उन्‍हें ऐसा करने से रोक दिया।

वंदे मातरम का किया जयघोष

रविवार को सैकड़ों की संख्‍या में पीडीपी दफ्तर पहुंचे युवाओं ने महबूबा मुफ्ती के खिलाफ नारेबाजी की और वंदे मातरम का जयघोष किया। इस बात पर पीडीपी ( PDP ) नेताओं और युवाओं के बीच जोरदार बहस भी हुई। मौके पर मौजूद पुलिस ने स्थिति को कंट्रोल कर लिया और हिंसक नहीं होने दिया।

तिरंगे की शान के लिए हम कुछ भी कर सकते हैं

प्रदर्शनकारियों का नेतृत्व कर रहे अमनदीप सिंह ने बताया कि युवा दोपहिया वाहनों पर आए और पीडीपी मुख्यालय पर राष्ट्रीय ध्वज फहराने का प्रयास किया। कानून व्‍यवस्‍था का हवाला देते हुए पुलिस ने उन्हें रोक लिया। अमनदीप ने बताया कि हमारा बीजेपी से कोई संबंध नहीं है। हम राष्ट्रवादी हैं और तिरंगे की शान के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं।

बता दें कि जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने गुरुवार को कहा था कि धारा 370 बहाल होने तक वह तिरंगा नहीं फहराएंगी। अपने अधिकारों को लेकर वह अपना संघर्ष जारी रखेंगी।

Dhirendra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned