निजी अस्पतालों में भर्ती कोरोना मरीजों का अब आयुष्मान से इलाज, 81 अस्पताल अनुबंधित

बड़ी राहत: शुक्रवार देर रात स्वास्थ्य मंत्री ने जारी किया आदेश .

 

By: Bhupesh Tripathi

Published: 10 Apr 2021, 07:54 PM IST

रायपुर. प्रदेश में बढ़ते कोरोना संक्रमण और इससे निजी अस्पतालों में भर्ती मरीजों पर पडऩे वाले आर्थिक बोझ को कम करने के लिए सरकार ने बड़ा फैसला ले लिया है। प्रदेश के चिन्हित 81 निजी अस्पतालों में कोरोना मरीजों का डॉ. खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना एवं आयुष्मान के तहत अनुबंधित किया गया है, जो निर्धारित पैकेज पर इलाज करेंगे।

'पत्रिका' से बातचीत में स्वास्थ्य मंत्री ने आयुष्मान से इलाज की पुष्टि करते हुए कहा कि इससे संबंधित तमाम गाइडलाइन वेबसाइट पर अपलोड कर दी गई है। मरीज इसका लाभ ले सकते हैं। गौरतलब है कि निजी अस्पतालों में बड़ी संख्या में मरीज भर्ती हो रहे हैं और इलाज का बिल लाखों में बन रहा है। मुख्य रूप से आईसीयू, वेंटीलेटर और ऑक्सीजन का खर्च अधिक है। अब यह सबकुछ आयुष्मान के अंतर्गत सरकार वहन करेगी। उधर, सरकार का 2020 का वह आदेश भी लागू है जिसमें बेड चार्ज तय किए गए थे। यहां यह भी स्पष्ट कर दें कि योजना के तहत न आने वाले मरीजों को स्वयं इलाज का खर्च वहन करना होगा।

इस प्रकार हैं दरें
एनएबीएच संबद्ध अस्पताल- आईसीयू के लिए 4000 रुपए प्रतिदिन, वेंटीलेटर के साथ 11 हजार रुपए और बिना वेंटीलेटर के साथ आईसीयू 8,500 रुपए प्रतिदिन।

एनएबीएच गैर संबद्ध अस्पताल- यहां सिर्फ बिना वेंटीलेटर के साथ आईसीयू में 7,500 रुपए दर निर्धारित की गई है।

ये शुल्क शामिल नहीं- कोविड जांच, दवाइयां, सीटी स्कैन और एमआरआई जांच का शुल्क मरीजों को वहन करना होगा।

Bhupesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned