आजम खान की पत्नी बोली- मेरे पति को जान का खतरा, दी जाए जेड श्रेणी की सुरक्षा

आजम खान की पत्नी बोली- मेरे पति को जान का खतरा, दी जाए जेड श्रेणी की सुरक्षा

lokesh verma | Publish: Mar, 17 2019 02:40:26 PM (IST) Rampur, Rampur, Uttar Pradesh, India

आजम खान की पत्नी आैर राज्यसभा सांसद डॉ. तजीन फातमा ने निर्वाचन आयोग को लिखा पत्र

रामपुर. सपा के कद्दावर नेता आजम खान की पत्नी आैर राज्यसभा सांसद डॉ. तजीन फातमा ने निर्वाचन आयोग को एक पत्र लिखकर सियासी हलके में हलचल मचा दी है। उन्होंने मुख्य चुनाव आयुक्त को लिखे पत्र में कहा है कि जिला प्रशासन से उनके पति आजम खान को खतरा है। इसलिए आजम खान को जेड श्रेणी की सुरक्षा मुहैया करार्इ जाए। उन्होंने सीधा आरोप लगाते हुए कहा है कि प्रशासन लोकसभा के चुनाव में भाजपा को लाभ पहुंचाने के लिए काम कर रहा है। उनका कहना है कि जिस तरह उनके आजम खान के विकास कार्यों का ध्वस्त किया जा रहा है। उससे जिले का माहौल खराब हो गया है आैर अब उन्हें अपने पति की सुरक्षा को लेकर खतरा महसूस हो रहा है। इसलिए जिले के पांच अधिकारियों का तबादला किया जाए।

यह भी पढ़ें- मदरसों में पढ़ने वाले देशभर के हजारों छात्र लोकसभा चुनाव में नहीं करेंगे मतदान, जानिये क्यों

उल्लेखनीय है कि जिला प्रशासन ने गैरकानूनी बताते हुए आजम खान के कार्यकाल में बनाए गए उर्दू गेट को ध्वस्त कर दिया था। इसके बाद प्रशासन ने आजम खान के ड्रीम प्रोजेक्ट मौलाना मोहम्मद अली जोहर विश्वविद्यालय के मिनी शिक्षण संस्थान यानी रामपुर पब्लिक स्कूल के खिलाफ कार्रवार्इ करते हुए 22 कमरों को खाली करा दिया था। इस पर जिला प्रशासन ने कहा था कि कमरों पर गैरकानूनी तरीके से कब्जा किया गया था। प्रशासन ने इन कमरों को रामपुर पब्लिक स्कूल से कब्जा मुक्त कराकर यूनानी अस्पताल को सौंप दिया था। इस कार्रवार्इ को लेकर आजम खान के साथ सपार्इयों में भारी रोष है।

यह भी पढ़ें- भाजपा कार्यालय के बाहर इस वरिष्ठ नेता पर हुआ जानलेवा हमला, खबर सुनते दौड़े भाजपार्इ, देखें वीडियो

इस संबंध में जहां स्वार विधानसभा से विधायक अब्दुल्लाह आजम ने सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव से मुलाकात कर जिले के माहौल पर चर्चा की है। अब्दुल्ला ने बताया है कि अखिलेश यादव ने उन्हें अन्याय नहीं होने देने का आश्वासन दिया है। वहीं इसी कड़ी में राज्यसभा के पूर्व सदस्य चौधरी मुनव्वर सलीम ने भी चुनाव आयोग को पत्र भेजकर रामपुर के माहौल से अवगत कराया है। साथ ही कहा है कि माहौल को देखते हुए यहां निष्पक्ष चुनाव होना संभव नहीं है। बता दें कि चौधरी मुनव्वर सलीम आजम खान के बेहद करीबी हैं।

यह भी पढ़ें- कांग्रेस की चौथी लिस्ट में कैराना से इस पूर्व सांसद को मिला टिकट, टेंशन में गठबंधन, त्रिकोणीय मुकाबले के आसार

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned