अवैध सम्बन्धों में नौ महीने का बच्चा बना बाधा तो मां ने कर दिया ढाई लाख में सौदा

Highlights

  • प्रेमी के साथ हो गयी थी फरार
  • फिर बच्चे का कर दिया था सौदा
  • घर आकर रच दी अपहरण की साजिश

रामपुर: जनपद के सैफनी क्षेत्र में बेहद चौंकाने वाला मामला सामने आया है। यहां प्रेम में बाधा बन रहे नौ महीने के बच्चे को कलयुगी मां ने महज ढाई लाख रूपए में बेच दिया। शिकायत के बाद हरकत में आई पुलिस ने प्रेमी को गिरफ्तार करने के साथ ही हरियाणा से बच्चा भी बरामद कर लिया है और पूरे मामले का खुलासा भी कर दिया है। क्यूंकि महिला ने पहले अपहरण का मामला दर्ज करवाया था लेकिन कहानी अवैध सम्बन्धों की निकली। इस घटना को सुन हर कोई हैरान है।

Police की नाक के नीचे होती रही चोरी और सोती रही पुलिस, देखें कार चोरी का लाइव Video

ये है मामला

मामला सैफनी चौकी क्षेत्र के गांव सागरपुर का है, यहां 26 सितंबर को गांव के आलम ने सैफनी निवासी विपिन पर अपनी बहन चमन फिरोज निवासी संभल व उसके नौ माह के बेटे फैज के अपहरण का मुकदमा दर्ज कराया था। शुक्रवार को पुलिस ने बिलारी रोड से विपिन को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में उसने चौंकाने वाला खुलासा किया। विपिन ने पुलिस को बताया कि उसके चमन से अवैध संबंध हो गए थे। उसका 9 माह का बेटा इस संबंध में आड़े आ रहा था। इसलिए वे योजना बनाकर 26 सितंबर को बदायूं चले गए। उन्होंने वहां बच्चे को ढाई लाख रुपए में हरियाणा निवासी राहुल पुत्र दीवानचंद को बेच दिया। बच्चे को बेचने के बाद दोनों गुजरात के चिकली चले गए और वहां गृहस्थी बसा ली। इस सारे मामले में उसकी मदद खरसौल निवासी अमर सिंह, संध्या और राघवेंद्र ने की थी।

VIDEO: भाजपाइयों ने राहुल गांधी के खिलाफ खोला मोर्चा, राष्ट्रपति से की ये मांग

चेक हो गया बाउंस

विपिन ने बताया कि राहुल ने गोदनामा तैयार कराकर बच्चे के बदले सत्तर हजार रुपए नकद दिए थे और बाकी एक लाख अस्सी हजार का चेक दिया था। गुजरात में चमन की तबियत होने पर अस्पताल में सत्तर हजार रुपये खर्च हो गए। जब चेक से पैसे नहीं निकले तो अमर सिंह ने राहुल से एक लाख रुपये और मांगे। यही रुपये लेने विपिन निकला लेकिन वापस नहीं लौटा। इसके बाद चमन घर लौट आई और अपनी छवि साफ दिखाने के लिए विपिन के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा दिया। पुलिस ने जब इस अपहरण कांड में विपिन को गिरफ्तार किया तो सारा मामला खुल गया।

BSNL की आर्थिक हालत खस्ता, बिजली का बिल न चुका पाने में 80 BTS टॉवर बंद

ऐसे आये पकड़ में

इंस्पेक्टर शाहाबाद नरेंद्र त्यागी ने बताया कि पहले बच्चे का अपहरण का मामला दर्ज किया था। जब गहराई से छानबीन हुई तो इस काण्ड का खुलासा हुआ। बच्चे को बरामद कर सौंप दिया गया है, जबकि सभी आरोपियों को जेल भेज दिया गया है। वहीँ जिस परिवार ने बच्चे को गोद लिया था उसने घटना का पूरा वीडियो बना लिया था और गोदनामा भी तैयार करवाया था। फिर भी जांच की जा रही है।

jai prakash
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned