scriptDharad Mahakal Mandir Ratlam Mahakal Temple Sawan Mass Mahakal Sawari | Sawan 2021 रतलाम में भी विराजमान हैं महाकाल, उज्जैन मंदिर तक है गुफा | Patrika News

Sawan 2021 रतलाम में भी विराजमान हैं महाकाल, उज्जैन मंदिर तक है गुफा

- 1200 शताब्दी में बने धराड़ के मंदिर में स्थापित हैं पंचमुखी शिवलिंग

 

रतलाम

Updated: August 03, 2021 01:53:21 pm

रतलाम. जिला मुख्यालय से करीब 11 किमी दूर लेबड़ नयागांव फोरलेन पर धराड़ गांव में स्थित महाकाल मंदिर अति प्राचीन होने के साथ—साथ कई धार्मिक विशेषताओं को समेटे हुए है। 12वीं शताब्दी में परमार राजाओं द्वारा बनाए गए इस मंदिर के गर्भगृह में न सिर्फ पंचमुखी शिवलिंग स्थापित हैं बल्कि गर्भगृह से उज्जैन के महाकाल मंदिर तक जाने के लिए गुफा मार्ग भी है।

Dharad Mahakal Mandir Ratlam Mahakal Temple Sawan Mass Mahakal Sawari
Dharad Mahakal Mandir Ratlam Mahakal Temple Sawan Mass Mahakal Sawari

Sawan Somwar महाकाल का अनूठा श्रृंगार, दर्शन के लिए नियत किया यह समय

इस मंदिर का जीर्णोद्धार वर्ष 1952 में संत सुंदर गिरी महाराज के मार्गदर्शन में ग्रामीणजनों के सहयोग से कराया गया था। अगस्त 1977 में राज्य पुरातत्व विभाग द्वारा इस मंदिर को अधिग्रहित किया गया था। विगत 49 वर्षो से प्रतिवर्ष महाशिवरात्रि पर पंचकुंडात्मक महारुद्र यज्ञ व सावन में विशेष शाही सवारी निकाली जाती है। इस बार भी सावन के अंतिम सोमवार को शाही सवारी निकाली जाएगी। सावन के अंतिम दिवस महाप्रसादी का आयोजन होगा।

Sawan 2021 इस प्राचीन मंदिर में प्रकृति स्वयं करती है शिव का अभिषेक

मन्दिर पुजारी सत्यनारायण बैरागी ने बताया कि 12 वीं सदी में निर्मित मंदिर के पोल व मंदिर के आस-पास बनी आकृतियां देखने लायक हैं। गर्भगृह में पंचमुखी शिवलिंग है। उसके ऊपर महाकाल विराजित हैं। यहां मां पार्वती, भगवान गणेश, कार्तिकेय, हनुमान भी विराजित हैं। मंदिर में जो खंबे हैं उन्हें अभी तक एक बार में कोई नहीं गिन पाया है। जब भी गिने जाते हैं तो उनकी गिनती अलग—अलग आती है।

मौत का मकान: मलबे में दफन चार परिजन, सोती ही रह गईं मां—बेटा और दो मासूम बच्चियां

mandir_dharad_1.jpg

पहले गांव वाले इसे फूटला मंदिर के नाम से जानते थे। बड़े पेड़ और झाडिय़ां होने से यहां आने में लोग डरते थे। इसी बीच संत सुंदर गिरी सन 1950 में धराड़ पहुंचे। उन्होंने शिव मंदिर में जाने की इच्छा प्रकट की थी। मंदिर की स्थिति देख वे दुखी हुए और उन्होंने प्रण लिया कि जब तक मंदिर का जीर्णोद्धार नहीं होगा तब तक वे अन्न ग्रहण नहीं करेंगे।

शिवलिंग को नुकसान पहुंचाने आए सैनिकों का नागों ने रोक लिया रास्ता

इसके बाद ग्रामीणों के सहयोग से मंदिर का जीर्णोद्धार हुआ था। दो साल में (1952) में जीर्णोद्धार का कार्य पूर्ण हुआ था। संतश्री के गुरु आए थे तब उन्होंने मूंग की दाल से व्रत पूर्ण करवाया। रतलाम की बसावट ही धराड़ से हुई थी। सबसे पहले महाराजा रतनसिंह धराड़ आए थे। यहां का मंदिर सालों पुराना होकर चमत्कारी है। महादेव पाप नाशक हैं।

Sawan 2021 जरा दैत्य को मारने के बाद यहां ध्यानमग्न हुए थे भोलेनाथ

यह मंदिर साधना—स्थल के रूप में भी जाना जाता है। शिखर के नीचे साधना स्थल बना हुआ है। महाशिवरात्रि पर्व पर विशेष रूप से पंचमुखी महादेव मंदिर पर आराधना करने से सभी पापों का नाश होता है। जनमान्यता है कि उक्त मंदिर उड़कर आया था। यह प्रदेश का दूसरा महाकाल मंदिर है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्सयहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतिशुक्र का मेष राशि में गोचर 5 राशि वालों के लिए अपार 'धन लाभ' के बना रहा योगराजस्थान के 16 जिलों में बारिश-आंधी व ओलावृ​ष्टि का अलर्ट, 25 से नौतपाजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथइन बर्थ डेट वालों पर शनि देव की रहती है कृपा दृष्टि, धीरे-धीरे काफी धन कर लेते हैं इकट्ठा7 फुट लंबे भारतीय WWE स्टार Saurav Gurjar की ललकार, कहा- रिंग में मेरी दहाड़ काफीशुक्र देव की कृपा से इन दो राशियों के लोग लाइफ में खूब कमाते हैं पैसा, जीते हैं लग्जीरियस लाइफ

बड़ी खबरें

ज्ञानवापी मस्जिद मामलाः सुप्रीम कोर्ट में दाखिल हुई एक और याचिका, जानिए क्या की गई मांगऑक्सफैम ने कहा- कोविड महामारी ने हर 30 घंटे में बनाया एक नया अरबपति, गरीबी को लेकर जताया चौंकाने वाला अनुमानसंयुक्त राष्ट्र की चेतावनी: दुनिया के पास बचा सिर्फ 70 दिन का गेहूं, भारत पर दुनिया की नजरबिहार में भीषण सड़क हादसा, पूर्णिया में ट्रक पलटने से 8 लोगों की मौतश्रीनगर पुलिस ने लश्कर के 2 आतंकवादियों को किया गिरफ्तार, भारी संख्या में हथियार बरामदGood News on Inflation: महंगाई पर चौकन्नी हुई मोदी सरकार, पहले बढ़ाई महंगाई, अब करेगी महंगाई से लड़ाईकोरोना वायरस का नहीं टला है खतरा, डेल्टा-ओमिक्रॉन के बाद अब दो नए सब वैरिएंट की दस्तक से बढ़ी चिंताNEET UG 2022: 3 घंटे से ज्यादा मिलेगा समय, टाइ ब्रेकिंग रूल और मार्किंग पैटर्न भी बदला, 14 विदेशी केंद्रों में भी होंगे Exam
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.