देवबंद में उलेमाओं की अपील के बाद जुमे के दिन का नजारा देख हर कोई कर रहा तारीफ

Highlights:

-देशभर में कोरोना के चलते लॉकडाउन घोषित है

-लोगों को एक जगह एकत्रित होने की अनुमति नहीं है

-जुमे की नमाज लोगों ने अपने घरों पर अदा की थी

By: Rahul Chauhan

Updated: 27 Mar 2020, 05:40 PM IST

देवबंद। कोरोना वायरस के चलते देशभर में लॉकडाउन घोषित है। साथ ही यूपी में धारा 144 लागू की गई है। जिसके चलते लोगों के घरों से बाहर निकलने व एक जगह एकत्रित होने पर पाबंदी है। इस सबके बीच प्रशासन को लगातार शिकायतें मिल रही थीं कि मस्जिदों में नमाज पढ़ी जा रही हैं जिसमें भारी संख्या में लोग हिस्सा लेने पहुंचते हैं। जिस पर संज्ञान लेते हुए प्रशासन द्वारा मस्जिद में न जाकर घरों में ही नमाज पढ़ने की हिदायत दी गई थी।

यह भी पढ़ें : हाइवे ही नहीं जल्द पहुंचने के लिए मजदूरों ने रेलवे लाइन का लिया सहारा, बोले अभी घर है 200 किलोमीटर और दूर

वहीं जुम्मे की नमाज के मद्देनजर गुरुवार को सभी मुस्लिम इदारों व उलेमाओं ने मस्जिदो में नमाज पढ़ने के लिए मना करते हुए जनता से अपील की थी कि सभी अपने-अपने घरों में जुमे की नमाज अदा करें। इसका असर शुक्रवार को देवबन्द नगर में भी देखने को मिला। जहां कोई भी व्यक्ति घरो से बाहर नहीं निकला और घरों के अन्दर ही नमाज अदा की गई।

यह भी पढ़ें: Delhi से पैदल लखनऊ व बिहार के लिए निकले 200 लोग, Rampur DM ने कराया बसों का इंतजाम

इसके लिए दारुल उलूम देवबंद, जमीयत उलेमा हिन्द, मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड समेत देश के बड़े मुस्लिम उलेमा और सरकार द्वारा अपील की गई थी। जिसके चलते मुस्लिम समुदाय के लोगों ने जुमे की नमाज़ घरों पर ही अदा की। वहीं दारुल उलूम देवबंद के मोहतमिम मुफ़्फ़ी अबुल क़ासिम नोमानी ने भी लोगों से मस्जिद में भीड़ ना करने की अपील करते हुए नमाज़े अपने घरों पर अदा करनी की अपील की थी।

coronavirus
Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned