चलता-फिरता ऑफिस है यह स्मार्ट चश्मा

इस स्टार्टअप ने ऐसे समार्ट ग्लास बनाए हैं जो कम्प्यूटर और लैपटॉॅप पर काम करने की निर्भरता को खत्म कर देगा, इस स्मार्ट चश्मे को पहनकर कर सकते हैं एक साथ 6 कम्प्यूटर पर काम

By: Mohmad Imran

Published: 07 Sep 2020, 01:56 PM IST

भविष्य की तकनीक जैसे 5G इंटरनेट, क्वांटम तकनीक (Quantum Computers) औैर हालोग्राफिक कॉलिंग सिस्टम (Hollowgraphic Calling System) 21वीं सदी के युवाओं की जरुरत है। इन्हें हकीकत में बदलने पर तेजी से काम चल रहा है लेकिन एक चीज है जिसे आज ही बदला जा सकता है। ऑफिस या घर से काम करने के दौरान अपने स्मार्टफोन, लैपटॉॅप और कम्प्यूटर स्क्रीन पर हमारी निर्भरता हमें एक ही जगह घंटो बैठे रहने को विवश करती है। लेकिन अब इस मजबूरी से छुटकारा मिल सकता है। दरअसल, दक्षिण भारत के अर्नाकुलम के एक स्टार्टअप नीमो प्लैनेट (Nimo Planet) ने ऐसा कमाल का 'स्मार्ट ग्लास' (Smart Glass) बनाया हैं जिन्हें पहनकर कभी भी और कहीं भी आसानी से काम किया जा सकता है वह भी बिना कम्प्यूटर या लैपटॉप के। जी हां, रोहिलदेव नट्टुकलिंगल के स्टार्टअप ने तीन साल की मेहनत के बाद 'नीमो' नाम का एक खास चश्मा बनाया है जो हमारे काम करने के परंपरागत तरीकों को बदलकर रख देगा। इसे पहनकर हम एक साथ 6 कम्प्यूटर स्क्रीन पर काम कर सकते हैं।

चलता-फिरता ऑफिस है यह स्मार्ट चश्मा

ऑफिस जिसे कहीं भी ले जा सकेंगे
रोहिलदेव ने बताया कि यह चश्मा दरअसल हमें आभासी दुनिया (Virtual World) में बने ऐसे मल्टीपल-कम्प्यूटर स्क्रीन (Multiple Computer Sccreen) और स्थिर डेस्कटॉप (Stable Desktop) वाले ऑफिस में ले जाता है जिसे हम कहीं भी ले जा सकते हैं। इतना ही नहीं इस चश्मे को पहनकर हम एक ही बार में छह से अधिक वर्क स्पेस पर एक ही समय में काम कर सकते हैं। इसमें प्रत्येक वर्चुअल स्क्रीन तीन मीटर की दूरी पर मौजूद है जो 60 इंच तक चौड़ी है।

चलता-फिरता ऑफिस है यह स्मार्ट चश्मा

डिजायन और तकनीक का संगम
यह खास चश्मा दरअसल, बहुत ही खूबसूरत लेकिन पेशेवराना डिजाायन और नीमो प्लैनेट के नए ऑपरेटिंग सिस्टम 'प्लैनेट ओएस' (Planet OS) का बेजोड़ संगम है। इस नए ऑपरेटिंग सिस्टम को मौजूदा दौर के हजारों प्रोडक्टिविटी एप्स को सपोर्ट करने के लिए बनाया गया है। प्लैनेट ओएस ऐप में तुरंत कोई बदलाव किए बिना मौजूदा एंड्रॉइड ऐप्स को एक मल्टी-विंडो (Multi Window) में बदल देता है। इइतना ही नहीं नीमो ग्ग्लासेज में लगा यह ऑपरेटिंग सिस्टम अपने मौजूदा सॉफ्टवेयर सिस्टम को अपग्रेड किए बिना नीमो को लैपटॉप और स्मार्टफोन जैसे उपकरणों की स्क्रीन को Virtual Mode में दिखाता है। इसे प्रभावी और सुरक्षित रूप से कहीं भी काम करने के लिए डिज़ाइन किया गया है। इसे बनाने में उन्हें और टीम को तीन साल का समय लगा है। नीमो की शुरुआती लागत 699 डॉलर है। वे फरवरी 2021 तक इसके पहले ऑर्डर की खेप भेजने की उम्मीीद कर रहे हैं।

चलता-फिरता ऑफिस है यह स्मार्ट चश्मा
Show More
Mohmad Imran Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned