दुनिया का पहला Game Boy, जिसमें गेम खेलने के लिए नहीं है बैटरी की जरूरत

नॉर्थवेस्टर्न यूनिवर्सिटी (Northwestern University) और नीदरलैंड में डेल्फ़्ट यूनिवर्सिटी ऑफ़ टेक्नोलॉजी (TU Delft) के शोधकर्ताओं ने एक ऐसा Game Boy बनाया है, जो पूरी तरह से बैटरी मुक्त है।

 

By: Vivhav Shukla

Published: 08 Sep 2020, 12:30 PM IST

नई दिल्ली। गेमिंग डिवाइस का बैटरी बैकअप कितना भी अच्छा क्यों न हो, लेकिन ज्यादा गेम खेलने के बाद बैटरी तेज से खत्म हो ही जाती है। ऐसे में अगर आपस हम कहें की एक ऐसा Game Boy भी है जिसका बैटरी से कोई लेना-देना ही नहीं है, तो क्या आप इस पर यकीन कर पाएंगे?

अगर आपका जवाब नहीं हो तो आप गलत हैं। दरअसल, शोधकर्ताओं ने पहली बार बैटरी मुक्त, ऊर्जा-संचयन, इंटरेक्टिव डिवाइस विकसित किया है जिसके जरिए आप बिना बैटरी के डिस्चार्ज होने वाली चिंता किए दिन रात गेम खेल सकते हैं।

 

asa.jpg

8-बिट निन्टेंडो गेम बॉय की तरह दिखने वाले इस डिवाइस को नॉर्थवेस्टर्न यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं और नीदरलैंड में डेल्फ़्ट यूनिवर्सिटी ऑफ़ टेक्नोलॉजी (TU Delft) के शोधकर्ताओं ने मिलकर विकसित किया है।

ये गेंम ब्वाय डिवाइस सूर्य से ऊर्जा प्राप्त करता है और हमेशा के लिए चलता रहता है। इस उपकरण को बनाने में अहम भूमिका निभाने वाले नॉर्थवेस्टर्न के जोशिया हेस्टर ने बताया कि ‘यह पहला बैटरी-फ्री इंटरएक्टिव डिवाइस है जो उपयोगकर्ता दिन रात इस्तेमाल कर सकते हैं। जब आप एक बटन दबाते हैं, तो डिवाइस उस ऊर्जा को किसी ऐसी चीज में परिवर्तित करता है जिसकी वजह से आप गेम का मजा ले सकते हैं।

 
maxresdefault.jpg

जोशिया ने आगे बताया कि ये गेम बॉय सिर्फ एक खिलौना नहीं है। ये एक शक्तिशाली प्रूफ-ऑफ-कॉन्सेप्ट है, जो बैटरी-मुक्त आंतरायिक कंप्यूटिंग की सीमाओं को और आगे विकसित करने के लिए प्रेरणा देता है। उन्होंने आगे बताया कि इस तकनीक की मदद से आगे कई बैटरी-फ्री इंटरएक्टिव डिवाइस बनाए जा सकते हैं।

 
Vivhav Shukla
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned