परिवार ने छोड़ा तो पुलिस बनी प्रेमी जोड़े का सहारा : आरक्षक ने किया मंत्रोच्चारण, TI ने कन्यादान, थाने में दिलाए सात फेरे

पुलिस ने दोनों की रजामंदी जानने के बाद थाने में ही हिंदू रीति रिवाज से दोनों का विवाह करवाया। पुलिस ने थाने में ही मंत्रोच्चारण कराकर दोनों को सात फेरे दिलवाए।

By: Faiz

Updated: 03 May 2021, 04:14 PM IST

शहडोल/ मध्य प्रदेश के शहडोल में पुलिस का एक अलग चहरा देखने को मिला, जिसके चलते शहरभर में पुलिस के इस कार्य की खासा सराहना की जा रही है। जिले के गोहपारू थाना इलाके के एक युवक और युवती के घर से भाग जाने के बाद पुलिस द्वारा उन्हें दस्तयाब करके दोनों के परिजन को सौंपा, तो परिजन ने युवक और युवती की अलग अलग बिरादरी होने के कारण समाज के डर से दोनों को अपने-अपने साथ ले जाने से इंकार कर दिया। इसपर पुलिस ने दोनों से अपने घरों से भागने का कारण जाना तो पता चला कि, दोनो एक दूसरे से प्रेम करते हैं, लेकिन अलग-अलग जात के होने की वजह से समाज उनकी शादी को कबूल नहीं करना चाहता, इसलिये वो समाज की रस्मों को तोड़कर भाग आए थे।

 

पढ़ें ये खास खबर- पश्चिम बंगाल और असम के चुनावी नतीजों का असर : तोमर का सियासी सफर चमका, विजयवर्गीय की सियासत पर आंच

 

देखें खबर से संबंधित वीडियो...

थाना परिसर में सात फेरे, पुलिस ने आशीर्वाद देकर किया कन्यादान

प्रेमी जोड़ा कानूनी तौर पर बालिग है और एक दूसरे से प्रेम करता है। इस बिना पर पुलिस ने उन दोनों का सहारा बनने का फैसला लिया और दोनों की रजामंदी जानने के बाद थाने में ही पूरे रीति रिवाज के साथ दोनों का विवाह करवाया। पुलिस ने थाने में ही मंत्रोच्चारण कराकर दोनों को सात फेरे दिलवाए। साथ ही साथ, थाना परिसर में बने मंदिर में सात जन्मों तक एक दूजे का साथ निभाने की शपथ दिलाते हुए बेटी को आशीर्वाद देकर उसका कन्यादान किया। इसके बाद पुलिस द्वारा दोनों को उनके घर ले गए और परिवार सहित दोनों को मिठाई खिलाकर उनके प्रेम को सामाजिक जातियों से परे अधिक महत्वपूर्ण बताते हुए दोनों परिवारों को एकजुट किया।

 

पढ़ें ये खास खबर- पहले ऑक्सीजन कम था अब उसे लाने के लिये पर्याप्त टैंकर नहीं, जरूरत हैं 96 टैंकरों की एमपी के पास सिर्फ 86


परिजन ने अपनाने से किया इंका तो पुलिस ने थाने से किया कन्यादान

दरअसल, जिले के गोहपारू थाना क्षेत्र के एक युवक और युवती घर से अचानक लापता हो गए थे। दोनों के परिजन ने उनकी गुमशुदगी की रिपोर्ट भी दर्ज करा दी थी। पुलिस ने पतासाजी करके दोनों को दस्तयाब कर लिया। गोहपारू थाना प्रभारी ज्योति सिकरवार के मुताबिक, पुलिस पूछताछ में सामने आया कि, दोनों एक दूसरे की रजामंदी से प्रेम करने की वजह से घर से भाग गए थे। युवती ने अपनी रजामंदी से युवक के साथ जाने की बात कही। इसके बाद पुलिस द्वारा दोनों के परिजन को उन्हें लेने के लिये बुलाया गया, तो दोनों ही परिवारों ने समाज की बंदिशों का हवाला देते हुए उन्हें ले जाने से इंकार कर दिया। पुलिस की काफी समझाइश के बाद भी परिजन उन्हें कबूल करने को राजी नहीं हुए।

 

पढ़ें ये खास खबर- Weather Alert : दक्षिण-पूर्वी राजस्थान में बना सिस्टम देगा गर्मी से राहत, अगले 4 दिनों तक प्रदेशभर में गरज-चमक

 

प्रेमी युगल को जीवनभर साथ रहने की दिलाई शपथ

news

इसपर पुलिस द्वारा दो प्रेमी जोड़ों को मिलाने के सरोकार के तहत युवक-युवती की थाना परिसर में ही शादी कराई। यहां पर प्रधान आरक्षक रामानंद तिवारी ने विवाह संबंधित मंत्रोच्चारण किये। साथ ही, थाना परिसर में बने हनुमान मंदिर में सात फेरे दिलाते हुए पुलिस ने युवक और युवती को जीवनभर एक दूजे का साथ निभाने की शपथ दिलाते हुए उनका विवाह संपन्न कराकर घर ले जाया गया।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned