बसपा नेता हत्याकांड में बड़ा खुलासा, पिता-पुत्र ने योजना बनाकर इसलिए उतारा मौत के घाट, देखें वीडियो

lokesh verma | Updated: 15 Jun 2019, 11:00:40 AM (IST) Shamli, Shamli, Uttar Pradesh, India

  • खास बातें
  • शामली जिले के थानाभवन क्षेत्र में बसपा नेता शौकत की हत्या का मामला
  • पुलिस ने हत्या के आरोपी पिता-पुत्र को किया गिरफ्तार, दो अभी भी फरार
  • पारिवारिक जमीनी विवाद बसपा नेता के हस्तक्षेप करने पर मारी थी गोली

शामली. चार दिन पहले थानाभवन क्षेत्र में हुई बसपा नेता की हत्या का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। बताया जा रहा है कि जमीनी विवाद को लेकर बसपा नेता शौकत की गोली मारकर हत्या की गई थी। वारदात को अंजाम देकर हत्या के आरोपी फरार हो गए थे, जिन्हें पुलिस ने शुक्रवार को गिरफ्तार कर लिया। हालांकि बसपा नेता हत्याकांड के दो अन्य आरोपी फरार चल रहे हैं। पुलिस की कई टीम फरार आरोपियों को पकडऩे के लिए जगह-जगह दबिश दे रही है।

यह भी पढ़ें- पति के नाजायज रिश्तों का विरोध करने पर नवविवाहिता को जलाकर मारा, चिता से शव उठा लायी पुलिस

बता दें कि गत मंगलवार को शामली जिले के थानाभवन क्षेत्र में बसपा नेता शौकत को गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया गया था। इस हत्याकांड में पुलिस ने मुख्य आरोपी इंतजार और उसके पिता लतीफ को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस के मुताबिक दोनों शुक्रवार दोपहर को बाइक पर सवार होकर हींड पुलिया के रास्ते फरार हो रहे थे। इसी बीच पुलिस को सूचना मिली और पुलिस ने मौके से दोनों को गिरफ्तार कर लिया।

यह भी पढ़ें- सीएम योगी ने तीनों प्राधिकरण के अधिकारियों संग की समीक्षा बैठक, लोगों में समस्या दूर होने की जगी आस

shamli police

पारिवारिक जमीनी विवाद हस्तक्षेप करने पर उतारा मौत के घाट

पुलिस गिरफ्त में आए हत्यारोपी इंतजार ने पूछताछ में खुलासा किया है कि उनका पारिवारिक जमीनी विवाद चल रहा था, जिसमें बसपा नेता शौकत लगातार हस्तक्षेप कर रहा था। उन्होंने हत्या से पहले कई बार शौकत को चेतावनी भी दी थी, लेकिन वह इसके बावजूद लगातार हस्तक्षेप कर रहा था। जब वह नहीं माना तो हमने कोर्ट में ही उसकी हत्या करने की योजना बनाई और उसे योजना के मुताबिक गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया। पुलिस के मुताबिक, बसपा नेता शौकत हत्याकांड को चार लोगों ने अंजाम दिया है, जिनमें से दो को गिरफ्तार किया जा चुका है। वहीं फरार चल रहे दो आरोपियों की तलाश में पुलिस टीम दबिश दे रही है।

यह भी पढ़ें- लूट करके भाग रहे हिस्ट्रीशीटर की रात के अंधेरे में पुलिस से मुठभेड़, जानिए कहां लगी गाेली

मौसी की संपत्ति को लेकर शुरू हुआ था विवाद

पुलिस पूछताछ में हत्या के आरोपी लतीफ ने बताया कि उसकी मौसी का कोई वारिश नहीं था। इसलिए बचपन से वह मौसी के साथ ही रहता था। पहले मौसी ने उसे पाला और मौसी के अंतिम समय में उसने ही उनकी सेवा की। इसलिए उनकी मौत के बाद मौसी की संपत्ति पर उनका ही हक था, लेकिन बसपा नेता शौकत ने उसके चचेरे भाईयों को भड़का कर जमीन को लेकर मुकदमा दर्ज करा दिया और लगातार इस विवाद में बेवजह हस्तक्षेप करने लगा। इसलिए उन्होंने योजना बनाकर शौकत को ही रास्ते से हटा दिया। फिलहाल पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। वहीं फरार आरोपी आशू व शाहरूख की तलाश की जा रही है।

UP News से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Uttar Pradesh Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned