scriptblack marketing of fertilizers in badarwas starts at night | दिन में टोकन बांटकर किसानों को कराते हैं लंबा इंतजार, रात में शुरु होती है खाद की कालाबाजारी | Patrika News

दिन में टोकन बांटकर किसानों को कराते हैं लंबा इंतजार, रात में शुरु होती है खाद की कालाबाजारी

locationशिवपुरीPublished: Nov 14, 2022 02:41:13 pm

Submitted by:

Faiz Mubarak

-खाद की कालाबाजी का खेल
-सरकार के प्रयास का पलीता लगा रहे अफसर
-दिन में टोकन वितरण, रात में कालाबाजारी
-पत्रिका के स्टिंग में चौंकाने वाला खुलासा

News
दिन में टोकन बांटकर किसानों को कराते हैं लंबा इंतजार, रात में शुरु होती है खाद की कालाबाजारी

संजीव जाट की रिपोर्ट

शिवपुरी. एक तरफ सरकार और जिला प्रशासन किसानों को खाद पहुंचाने का हर संभव प्रयास किया जा रहा है, लेकिन जिम्मेदार है कि, वो अपनी कारगुजारियों से बाज नहीं आ रहे हैं। हालात ये है कि, दिनभर लाइन में लगकर किसान टोकन लेता है और रात में उसका नंबर आने का इंतजार करता है। हालात ये है कि, टोकन मिलने के तीन चार दिन बाद भी खाद नहीं मिल पा रहा। उक्त समस्या को लेकर पत्रिका प्रतिनिधि के द्धारा रात्रि में नगर परिषद कार्यलय के पीछे खाद के गोदाम में किसान बनकर खाद की मांग की तो वो 1900 रूपर में गोदाम खोलकर देने तैयार हो गए। ये पूरा मामला पत्रिका ने कैमरे में कैद किया है।

जब उक्त गोदाम प्रभारी को पता चला कि, उक्त पूरे मामले की वीडियो बन गई तो तत्काल मोबाइल से वीडियो डिलीट किया गया, लेकिन इससे पहले ही किसान बनकर गए प्रतिनिधि ने संबंधित वीडियो पत्रिका तक पहुंचा दिया था। इसके बाद जब मामले पर जिम्मेदारों से सवाल किया गया तो तो इसपर पर्देदारी करते नजर आए। लेकिन, हकीकत ये है कि, जिले के वरिष्ट अधिकारी कागजी घोड़े दौड़ाकर भृमित कर रहे हैं, जबकि जमीनी हालात कुछ और ही हैं।

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.