उदयपुर में साड़ी शोरूम में आग के बाद दमकल के देरी से पहुंचने पर लोगों में रोष

उदयपुर. आग से हजारों के नुकसान का अनुमान है।

By: jyoti Jain

Published: 11 Dec 2017, 12:32 PM IST

उदयपुर . हिरणमगरी सेक्टर-4 स्थित बीएसएनएल कार्यालय के पास की गली में रविवार तडक़े शॉर्ट सर्किट से साड़ी के शो-रूम में आग लग गई। आग से हजारों के नुकसान का अनुमान है।
पूजा बेकरी के निकट स्थित अमोलिका साड़ी- सूट्स के शो-रूम पर तडक़े छह बजे दुकान मालिक अनिल बया ने धुआं उठता देख दुकानदार सेक्टर-8 निवासी आशीष जैन को सूचना दी। दुकानदार ने जब शटर ऊंचा किया तो आग की लपटें बाहर निकल चुकी थी। क्षेत्र के लोगों ने दमकल को सूचना दी लेकिन स्टॉफ की कमी से करीब पौन घंटे बाद दमकल पहुंची। लोगों के आक्रोश के बीच दमकलकर्मियों ने आग पर काबू पाने का प्रयास किया। तब तक सारा माल खाक हो चुका था।आधे घंटे की मशक्कत के बाद दमकलकर्मियों ने आग पर काबू पाया। आग से दुकान में रखा सामान व फर्निचर भी जल गया।

 

 

READ MORE: बाल तस्करी का गढ़ बनता जा रहा ‘राजस्थान’, वर्ष 2009 से अब तक इतने हजार बालकों की हुई तस्करी

 

परिजनों के साथ हुआ एनएसयूआई

उदयपुर. नेशनल स्टूडेंट्स यूनियन ऑफ इंडिया के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष दीपक मेवाड़ा ने राहत हॉस्पिटल में नवजात के उपचार में हुई लापरवाही को लेकर आक्रोश जताते हुए जिम्मेदार चिकित्सक एवं नर्सिंग स्टाफ के खिलाफ उचित कार्रवाई की मांग की है। आरोप लगाया कि चिकित्सक संगाठनात्मक शक्ति के बूते गरीब लोगों के साथ परेशान करने वाली प्रवृति रखते हैं। गरीब माता-पिता या पीडि़त की जगह चिकित्सकों को खुद रखकर देखना चाहिए। तभी वेदना को समझा जा सकता है।

 

दीपक ने कहा कि विरोध कर रहे छात्रों के खिलाफ किसी भी तरह की कार्रवाई होती है तो विरोध किया जाएगा। गौरतलब है कि मधुबन स्थित राहत हॉस्पिटल में नवजात के उपचार में लापरवाही बरतने का आरोप लगाते हुए परिजनों और छात्र नेताओं ने शनिवार दोपहर तोडफ़ोड़ की थी। दोनों पक्षों की ओर से मामला दर्ज हुआ था। चिकित्सक संगठनों ने पुलिस-प्रशासनिक अमले पर दबाव बनाने के लिए सामूहिक बैठक कर विरोध दर्ज कराया।

jyoti Jain
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned