पहली बार ऐसी होगी महाकाल की शाही सवारी, एक ही रथ सवार होंगे पांच स्वरूप, भक्त सिर्फ ऐसे करेंगे दर्शन

महाकालेश्वर की श्रावण-भादौ की महासवारी सोमवार शाम 4 बजे महाकाल मंदिर से निकलेगी।

By: Faiz

Published: 17 Aug 2020, 09:45 AM IST

उज्जैन/ महाकालेश्वर की श्रावण-भादौ की महासवारी सोमवार शाम 4 बजे महाकाल मंदिर से निकलेगी। इसे लेकर अब तक सभी तैयारियां पूरी की जा चुकी हैं। मंदिर और सवारी मार्ग को सजाया जा रहा है। मंदिर परिसर स्थित साक्षी गोपाल मंदिर पर हरि-हर मिलन होगा। हरसिद्धि मंदिर पर शिप्रा आरती की तर्ज पर महाआरती की व्यवस्था रहेगी।

 

पढ़ें ये खास खबर- Corona Update : कोरोना ने फिर पकड़ी रफ्तार, अब तक 1424 पॉजिटिव, 76 जानें भी गईं


भक्त इस तरह करेंगे दर्शन

सवारी के दौरान मुख्य आकर्षण का केन्द्र इलेक्ट्रॉनिक आतिशबाजी रहेगी। कोरोना के चलते महाकालेश्वर की श्रावण-भादौं की छह सवारियों की तरह की प्रमुख सवारी के दौरान भी सवारी मार्ग को सभी तरफ से बंद किया जाएगा। सवारी शाम 4 बजे महाकाल मंदिर से रवाना हो जाएगी। सवारी का महाकाल मंदिर की वेबसाइट, मोबाइल एप और अन्य टीवी चैनलों पर लाइव प्रसारण किया जाएगा। सवारी में भगवान के सभी सातों स्वरूपों के दर्शन होंगे। इनमें से एक ही रथ पर पांच स्वरूप पहली बार निकलेंगे।

 

पढ़ें ये खास खबर- Corona Update : टूट गए सभी रिकॉर्ड, आज सामने आए 1022 नए पॉजिटिव, कुल संक्रमितों की संख्या 45455

 


महाकालेश्वर मंदिर से रामघाट तक दिखेंगे आकर्षण

प्रमुख सवारी के लिए मंदिर के गर्भगृह से लेकर रामघाट तक आकर्षक सजावट की तैयारी जारी है। मंदिर के गर्भगृह और नंदीगृह में फूलों की आकर्षक सजावट की गई। पूरे मार्ग पर रेड कारपेट, गमलों की सजावट, इलेक्ट्रॉनिक आतिबाजी, रंगोली आदि भी की जाएगी। हरसिद्धि पर महाकालेश्वर की शिप्रा आरती की तर्ज पर महाआरती होगी। रामानुज कोट ने भी विवाह मंडप जैसी सजावट की है।

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned