पत्नी ने पति की टीबी से मौत बता किया था अंतिम संस्कार, हुआ खुलासा तो सभी रह गये दंग

पत्नी ने पति की टीबी से मौत बता किया था अंतिम संस्कार, हुआ खुलासा तो सभी रह गये दंग
Police and criminal

Devesh Singh | Updated: 26 Jul 2019, 04:55:59 PM (IST) Varanasi, Varanasi, Uttar Pradesh, India

बेटी भी नहीं बता पायी सच्चाई, जानिए क्या है कहानी

वाराणसी. पत्नी ने पति की टीबी से मौत होने की बात बताते हुए अंतिम संस्कार करा दिया था। बेटी सारी सच्चाई जानती थी लेकिन डर के मारे वह कुछ कह नहीं पायी। बाद में जब खुालसा हुआ तो सभी दंग रह गये। चेतगंज पुलिस ने सीसीटीवी की मदद से जब सच्चाई सामने लगायी तो किसी को विश्वास नहीं हुआ कि एक औरत अपने प्रेमी के लिए पति का कत्ल करा सकती है। पुलिस ने महिला सहित चार लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।
यह भी पढ़े:-भोर में हुए एनकाउंटर में शातिर बदमाश घायल, दरोगा को भी लगी गोली



Police and  <a href=criminal " src="https://new-img.patrika.com/upload/2019/07/26/crime_1_1_4892022-m.jpg">
IMAGE CREDIT: Patrika

एसएसपी आनंद कुलकर्णी ने बताया कि चेतगंज थाना क्षेत्र स्थित सेनपुरा में संतोष चौरसिया अपनी पत्नी रुपा व तीन बच्चों के साथ रहता था। संतोष पान दरीबा में पान का कारोबार करता था। रुपा की पहचान आॢटफिशियल ज्वेलरी का काम करने वाले आमिर से हो गयी। इसके बाद संतोष की अनुपस्थिति में आमिर घर जाने लगा। संतोष को यह बात पता चली तो उसने पत्नी को डाटा और आमिर से दूर रहने को कहा। लेकिन उसकी पत्नी नहीं मानी। पत्नी पर इश्क का ऐसा जुनून चढ़ गया था कि उसने आमिर के साथ मिल कर पति को रास्ते से हटाने की योजना बनायी। रुपा ने आमिर को असलहा खरीदने के पैसे भी दिये थे। आमिर ने संतोष को गोली कर लूट करने की योजना तक बना ली थी। संतोष की हत्या कर आमिर ने रुपा के जरिए उसकी सम्पत्ति बेचने का भी प्लान बनाया था अभी वह अपने प्लान पर अमल करता कि टीबी होने से संतोष बीमार पड़ गया था। इसके बाद रुपा ने आमिर के साथ घर पर ही संतोष की हत्या की करने की योजना पर काम शुरू किया। आमिर ने अपने दो दोस्त रवि केसरा निवासी थाना चौक व अमन निवासी थाना चौक के साथ मिल कर २१ जुलाई को रुपा के घर गये। वहां पर बेटी के सामने ही संतोष की गला दबा कर हत्या कर दी। रुपा ने परिजनों को बताया कि उसकी पति की टीबी से मौत हो गयी। संतोष को पहले से टीबी था इसलिए किसी को मौत पर शक नहीं हुआ। सभी ने मिल कर अंतिम संस्कार कर दिया। इसके बाद संतोष की बहन सरिता चौरसिया भी यहां पर रहने आ गयी। रुपा को फोन पर लगतार बात करते देख कर उसे शक हुआ तो उसने अपने पति रमाशंकर चौरसिया को पूरी बात बतायी। इसके बाद वह लोग पुलिस के पास पहुंचे। चेतगंज थाना प्रभारी प्रवीण कुमार ने जब सारी बात सुनी तो उन्होंने मामले की जांच शुरू की। रुपा के घर के पास लगे सीसीटीवी से खुलासा हुआ कि मौत वाली रात को आमिर व उसके दो दोस्त वहां पर गये थे। इसके बाद पुलिस ने तीनों को पकड़ कर कड़ाई से पूछताछ की तो सारी सच्चाई सामने आ गयी। पुलिस ने आरोपियों के पास से ३२ बोर का पिस्टल, चार कारतूस व चार मोबाइल भी बरामद किया है। पत्रकार वार्ता में एसपी क्राइम ज्ञानेन्द्र प्रसाद, एसपी सिटी दिनेश सिंह, सीओ चेतगंज अंकिता सिंह भी उपस्थित थी।
यह भी पढ़े:-कैंट थाना प्रभारी लाइन हाजिर, डा.आलोक सिंह को 14 दिन की न्यायिक अभिरक्षा में भेजा गया जेल



खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned