SSP की नयी पहल , फरियादियों का फीडबैक तय करेगा थानेदार का भविष्य

SSP की नयी पहल , फरियादियों का फीडबैक तय करेगा थानेदार का भविष्य

Devesh Singh | Publish: Sep, 05 2018 12:28:04 PM (IST) Varanasi, Uttar Pradesh, India

अब फरियादियों को गुमराह नहीं कर पायेंगे पुलिकर्मी, पुलिस विभाग में मचा हड़कंप

वाराणसी. फरियादियों का फीडबैक अब थानेदार का भविष्य तय करेगा। एसएसपी आनंद कुलकर्णी की नयी पहल से पुलिस प्रशासन में हड़कंप मचा है। एसएसपी ने योजना को जमीन पर भी उतार दिया है और पहली बार में ही कैंट व रोहनिया पुलिस फेल हो गयी है। अभी तक फरियादियों के फीडबैक पर गंभीरता नहीं दिखायी जाती थी जिसके चलते पुलिस के व्यवहार में परिवर्तन नहीं हो रहा था।
यह भी पढ़े:-डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या का प्रतिनिधि बताकर मांगी दो लाख की रंगदारी, मचा हड़कंप

सीएम योगी आदित्यनाथ सरकार में डीजीपी ओपी सिंह लगातार पुलिस की कार्यप्रणाली को अधिक पारदर्शी बनाने का प्रयास कर रहे हैं। पुलिस का व्यवहार जनता से अच्छा होना चाहिए। इसके लिए भी कई उपाय किये गये हैं। इसी क्रम में बनारस के एसएसपी आनंद कुलकर्णी की नयी योजना देखी जा रही है। सीएम योगी की हेल्पलाइन पर पुलिस थानों की कार्यप्रणाली को लेकर शिकायत की गयी थी। पुलिस की शिकायत से मामलों की शिकायत करने वालों का नम्बर लिया गया। इसके बाद पूछा गया कि थाने में आपसे कैसा व्यवहार किया गया। शिकायतों के निस्तारण में कितना समय लगा। पुलिस थाने में सफाई थी की नहीं। फरियादियों के बैठने की व्यवस्था कैसी थी। फारियादी से इन्ही प्रश्रों का जवाब पूछा गया ओर उसी आधार पर संबंधित थाने को नम्बर दिया गया है। प्रश्रों को 100 नम्बर में बांटा गया है। एसएसपी आनंद कुलकर्णी ने साफ कर दिया कि पचास नम्बर से कम अंक पाने वाले थानेदार को पहली बार चेतावनी दी जायेगी। इसके बाद भी कार्यप्रणाली में सुधार नहीं हुआ तो उनकी थानेदारी भी जा सकती है। एसएसपी की इस योजना में कैंट व रोहनिया पुलिस फेल हो चुकी है। सबसे अच्छी कार्यप्रणाली जैतपुरा व चोलापुर थाने की मिली है जिन्हें क्रमश: 73.9 व 64.1 अंक मिले हैं।
यह भी पढ़े:-मौत की चाहत में लगायी गंगा में छलांग, NDRF ने टूटने नहीं दी सांस

फरियादियों को पहली बार मिली ऐसी ताकत
फारियादियों को पहली बार ऐसी ताकत मिली है। यदि पुलिस थाने में आपसे अच्छा व्यवहार नहीं होता है तो इसकी शिकायत पुलिस कप्तान से कर सकते हैं। किसी थाने की लगातार ऐसी शिकायत मिलेगी तो थानेदार पर कार्रवाई होना तय है। पुलिस को समझ आयेगा कि जनता से अच्छा व्यवहार करना भी हमारी नौकरी का ही एक हिस्सा है। फिलहाल नयी व्यवस्था को लेकर पुलिस प्रशासन में हड़कंप मचा है।
यह भी पढ़े:-सीएम योगी की सारी चेतावनी बेअसर, फिर डूबा वरुणा कॉरीडोर, प्रवासी सम्मेलन से पहले लगा झटका

Ad Block is Banned