scriptThe revolutionary Persian princess Qajar | मूंछों वाली इस खूबसूरत राजकुमारी से शादी करने के लिए सैकड़ों ने मांगा था हाथ, इंकार करने पर 13 लोगों ने की आत्महत्या | Patrika News

मूंछों वाली इस खूबसूरत राजकुमारी से शादी करने के लिए सैकड़ों ने मांगा था हाथ, इंकार करने पर 13 लोगों ने की आत्महत्या

हद तो तब हो गई जब उनसे शादी के लिए 145 युवकों ने उनका हाथ मांगा

नई दिल्ली

Published: February 05, 2019 10:35:02 am

नई दिल्ली। आज के जमाने में लड़कियां छरहरा फिगर पाने के लिए क्या कुछ नहीं करती हैं, जिम से लेकर डायटिंग और न जानें क्या-क्या क्योंकि वर्तमान समाज में हेल्दी नहीं बल्कि पतली लड़कियों को सुंदरता का दर्जा दिया जाता है। हालांकि यह भी सच है कि सुंदरता देखने वाले की आंखों में होती है।

Princess Qajar

आज हम आपको एक ऐसी राजकुमारी के बारे में बताने जा रहे हैं जिसे उस वक्त के लोग बेहद हसीन और खूबसूरत मानते थे और तो और उनके लिए किसी भी हद तक जाने को तैयार थे।

हैरान करने वाली बात तो यह थी कि दिखने में वह राजकुमारी बिल्कुल भी आकर्षक नहीं थी इसके बावजूद लोगों ने उन्हें खूबसूरती का ताज पहनाया।

 

Princess Qajar

हम यहां कजर की राजकुमारी की बात कर रहे हैं। बता दें कजर वंश, तुर्किश मूल का ईरानी शाही वंश था। इस राजकुमारी का जन्म तेहरान में 1883 में हुआ था। उनका रंग गोरा था लेकिन, दिखने में वह बिल्कुल खूबसूरत नहीं थी। इस फारसी राजकुमारी का पूरा नाम जहरा खानम तदज एस-सल्टानेह था। हालांकि उनमें दो खूबियां थी और वह ये कि एक तो शाही वंश से ताल्लुक रखने के चलते वह बेहद अमीर थी और दूसरी बात यह थी कि वह उस समय इराक में सबसे शिक्षित महिलाओं में से एक थी।

 

Princess Qajar

राजकुमारी जब बड़ी हुई तो पुरुष उनकी ओर आकर्षित होने लगें। हद तो तब हो गई जब उनसे शादी के लिए 145 युवकों ने उनका हाथ मांगा और जब वह उन्हें नहीं मिली तो इनमें से 13 लोगों ने आत्महत्या कर ली थी। बाद में जहरा ने अपने प्रेमी फारसी राजा नासिर अल-दीन शाह काजर से शादी कर ली और 2 बेटे और 2 बेटियों को जन्म दिया।

Princess Qajar

राजा की भले ही 84 पत्नियां थीं लेकिन जहरा उनके सबसे करीब मानी जाती थीं। इस राजा से एक दफा एक विदेशी व्यापारी ने पूछा था कि यहां ज्यादा वजन की औरतों को सुंदर मानने के पीछे की वजह क्या है? इस सवाल के जवाब में नासिर ने कहा था कि जब हम कसाई के पास जाते हैं तो हड्डियों को खरीदना ज्यादा पसंद करते हैं या गोश्त? इस तरह से उन्होंने अपनी सोच को उस व्यापारी के सामने रखा।

 

Princess Qajar with husband

दरअसल, उनका ऐसा मानना था कि बाहरी खूबसूरती से ज्यादा इंसान का मन ज्यादा महत्व रखता था। जहरा के साथ भी कुछ ऐसा ही था। जहरा एक शिक्षित महिला होने के साथ-साथ चित्रकला में भी पारंगत थीं।

 

Princess Qajar

महिलाओं को उनका हक दिलाने के लिए उन्होंने काफी संघर्ष किया था, इसके लिए जहरा ने सोसाइटी ऑफ वूमेन फ्रीडम नामक एक संस्था का निर्माण भी किया। बेहद साहसी और गुणकारी जहरा की इसी खूबसूरती के लोग कायल थे और उन्हें हमसफर बनाने की चाह रखते थे।

Princess Qajar

साल 1936 में जहरा का निधन हो गया लेकिन उन्होंने जमाने के सामने खूबसूरती की परिभाषा को बदल कर रख दिया। उनकी अदाओं और साहस पर लोग अपनी जान तक दांव पर लगाने का दम रखते थे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

वायरल फोटो के बाद गहलोत के मंत्रियों के निशाने पर कटारिया, भाजपा से माफी की मांगMaharashtra Assembly Speaker Election: महाराष्ट्र में विधानसभा स्पीकर का चुनाव आज, भाजपा और महा विकास अघाड़ी के बीच सीधी टक्करमस्क-बेजोस सहित कई अरबपतियों की दौलत में भारी गिरावट, जुकरबर्ग की संपत्ति हुई आधीबिहार में पैसेंजर ट्रेन के इंजन में लगी आग, रक्सौल से नरकटियागंज जा रही थी रेलगाड़ीराहुल गांधी के बयान को उदयपुर की घटना से जोड़ा, जयपुर में रिपोर्ट दर्जMumbai News Live Updates: स्पीकर चुनाव में शिंदे खेमा जीता, राहुल नार्वेकर ने पार किया बहुमत का जादुई आंकड़ाMaharashtra Politics: सीएम शिंदे और डिप्टी सीएम फडणवीस को गर्वनर भगत सिंह कोश्यारी ने खिलाई मिठाई, तो चढ़ गया सियासी पारा!Char Dham Yatra 2022: चार धामा यात्रा को लेकर आई बड़ी खबर, केदारनाथ धाम गर्भगृह के दर्शन पर लगा प्रतिबंध हटा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.