scriptFrench President accepts PM Jean Casteux's resignation, Elisabeth Born | 30 साल बाद फ्रांस को फिर से मिली महिला पीएम, राष्ट्रपति मैक्रों ने श्रम मंत्री एलिजाबेथ बोर्न को नियुक्त किया नया पीएम | Patrika News

30 साल बाद फ्रांस को फिर से मिली महिला पीएम, राष्ट्रपति मैक्रों ने श्रम मंत्री एलिजाबेथ बोर्न को नियुक्त किया नया पीएम

फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने लेबर पार्टी की नेता एलिसाबेथ बोर्न को देश की नई प्रधानमंत्री नियुक्त किया है। 30 साल में दूसरी बार किसी महिला को फ्रांस का प्रधानमंत्री बनाया गया है।

नई दिल्ली

Updated: May 17, 2022 07:57:03 am

फ्रांस के प्रधानमंत्री ज्यां कास्तेक्स ने पिछले महीने मध्यमार्गी इमैनुएल मैक्रों के दोबारा राष्ट्रपति चुने जाने के बाद अपेक्षित कदम के तहत सोमवार को इस्तीफा दे दिया। जिसके बाद फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने सोमवार को एलिज़ाबेथ बोर्न को देश की नई प्रधानमंत्री नियुक्त किया, जो तीन दशकों में यह पद संभालने वाली पहली महिला होंगी। यानी की 30 साल में दूसरी बार किसी महिला को फ्रांस का प्रधानमंत्री बनाया गया है। बता दें, इससे पहले फ्रांस के राष्ट्रपति कार्यालय एलिसी ने एक बयान में कहा कि प्रधानमंत्री जीन कास्टेक्स औपचारिक रूप से अपना इस्तीफा देने के लिए सोमवार को राष्ट्रपति भवन आए, जिसे राष्ट्रपति ने स्वीकार कर लिया।
फ्रांस के प्रधानमंत्री ने इस्तीफा दिया, राष्ट्रपति मैक्रों ने श्रम मंत्री एलिजाबेथ बोर्न को नया पीएम किया नियुक्त
फ्रांस के प्रधानमंत्री ने इस्तीफा दिया, राष्ट्रपति मैक्रों ने श्रम मंत्री एलिजाबेथ बोर्न को नया पीएम किया नियुक्त
फ्रांसीसी मीडिया में आई खबरों में पहले ही कहा गया था कि श्रम मंत्री एलिसाबेथ बोर्न इस पद के लिए मैक्रों की पसंद हैं। फ्रांस में किसी राष्ट्रपति के कार्यकाल के दौरान एक से अधिक प्रधानमंत्री का नियुक्त होना आम बात है। बता दें, एलिसाबेथ बोर्न ने 2020 के आसपास मैक्रों की पिछली सरकार में श्रम मंत्री के रूप में भी काम किया है।
इससे पहले, बोर्न परिवहन मंत्री थीं और बाद में मैक्रों के तहत पर्यावरण संक्रमण मंत्री भी थीं। अब नए प्रधानमंत्री चुने जाने के बाद उनका पहला कार्य यह सुनिश्चित करना होगा कि जून में फ्रांस के संसदीय चुनाव में मैक्रों की मध्यमार्गी पार्टी और उसके सहयोगी अच्छा प्रदर्शन करें। राष्ट्रपति मैक्रों और नई प्रधानमंत्री एलिजाबेथ बोर्न आने वाले दिनों में फ्रांस की पूर्ण नई सरकार नियुक्त के लिए बातचीत करेंगे।

यह भी पढ़ें

IAS अधिकारी ने भारत की थॉमस कप जीत पर मच्छर रोधी रैकेट की शेयर की तस्वीर, क्रिकेटर ने लगाई फटकार - 'ये तो है सरासर अपमान'

तो वहीं राष्ट्रपति मैक्रों ने फ्रांस में रहने की बढ़ती लागत के संबंध में एक विधेयक लाने का भी वादा किया। देश में खाद्य सामग्री और ऊर्जा यानी तेल एवं गैस की कीमतें बढ़ रही हैं। यह विधेयक उनकी नयी सरकार द्वारा तैयार किया जाएगा और संसदीय चुनाव के ठीक बाद पेश किए जाने की उम्मीद है। मैक्रों ने ये भी वादा किया कि नए प्रधानमंत्री सीधे 'हरित योजना'के प्रभारी होंगे, जो फ्रांस की जलवायु संबंधी नीतियों के कार्यान्वयन में तेजी लाना चाहते हैं। मैक्रों ने अपने दूसरे कार्यकाल में ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन पर अंकुश लगाने के लिए दोगुनी तेजी से कदम उठाए जाने का संकल्प लिया।

यह भी पढ़ें

दिल्ली में जारी आग का तांडव! मुंडका के बाद नरेला की चप्पल फैक्ट्री में लगी भीषण आग, मौके पर पहुंची 9 दमकल गाड़ियां

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Presidential Election 2022: लालू प्रसाद यादव भी लड़ेंगे राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव! जानिए क्या है पूरा मामलाMumbai News Live Updates: बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस के निवास पहुंचे एकनाथ शिंदेMaharashtra Political Crisis: उद्धव के इस्तीफे पर नरोत्तम मिश्रा ने दिया बड़ा बयान, कहा- महाराष्ट्र में हनुमान चालीसा का दिखा प्रभावप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने MSME के लिए लांच की नई स्कीम, कहा- 18 हजार छोटे करोबारियों को ट्रांसफर किए 500 करोड़ रुपएDelhi MLA Salary Hike: दिल्ली के 70 विधायकों को जल्द मिलेगी 90 हजार रुपए सैलरी, जानिए अभी कितना और कैसे मिलता है वेतनKangana Ranaut ने Uddhav Thackeray पर कसा तंज, कहा- 'हनुमान चालीसा बैन किया था, इन्हें तो शिव भी नहीं बचा पाएंगे'उदयपुर हत्याकांड: आरोपियों के कराची कनेक्शन पर पाकिस्तान की बेशर्मी, जानिए क्या बोलाUdaipur Murder: उदयपुर में हिंदू संगठनों का जोरदार प्रदर्शन, हत्यारों को फांसी दो के लगे नारे
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.