डॉ. रामविलास दास वेदांती : 2019 से पहले ही होगी राम मंदिर निर्माण की शुरूआत

डॉ. रामविलास दास वेदांती : 2019 से पहले ही होगी राम मंदिर निर्माण की शुरूआत

Mahendra Pratap Singh | Updated: 25 Jun 2018, 03:43:42 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

राम जन्मभूमि न्यास के वरिष्ठ सदस्य डॉ रामविलास दास वेदांती ने राम मंदिर निर्माण को लेकर बड़ा बयान।

अयोध्या. राम जन्मभूमि न्यास के वरिष्ठ सदस्य डॉ रामविलास दास वेदांती ने राम मंदिर निर्माण को लेकर बड़ा बयान दिया। वेदांती ने दावा करते हुए कहा है कि 2019 के पहले कभी भी राम मंदिर के निर्माण की शुरूआत की जा सकती है। राम जन्मभूमि न्यास के सदस्य और बीजेपी के पूर्व सांसद रामविलास वेदांती ने बताया है कि जिस तरीके से अचानक विवादित ढांचा ध्वस्त किया गया था, ठीक उसी तरह से रातों-रात मंदिर का निर्माण भी शुरू किया जा सकता है। उन्होंने साफतौर पर एक संदेश दिया है कि जब मस्जिद तोड़ने के लिए कोई परमिशन नहीं ली गई थी। तो अब ठीक उसकी तरह राम मंदिर बनवाने के लिए भी किसी की परमिशन की जरुरत नहीं है।

वहां मस्जिद नहीं मंदिर का खंडहर था

बीजेपी के पूर्व सांसद रामविलास वेदांती ने साफ शब्दों में कहा है कि भाजपा ही राममंदिर का निर्माण को पूरा करा सकती है। इसके अलावा कोई और पार्टी राम मंदिर का निर्माण नहीं करा सकती है। वेदांती ने यह उम्मीद भी जताई है कि 2019 में फिर भाजपा की सरकार बनेगी और नरेंद्र मोदी भारत के दोबारा प्रधानमंत्री भी बनेंगे। इसके साथ ही वेदांती ने कहा कि यह आरोप सरासर गलत है कि मस्जिद तोड़ी गई। बल्कि उस स्थान पर मस्जिद थी ही नहीं। वहां केवल एक ढांचा बना हुआ था। जो कि राम मंदिर का खंडहर था। जिसे वहां नया राम मंदिर बनाने के लिए तोड़ दिया गया था। लेकिन तभी से राम मन्दिर क लेकर विवाद चल रहा हैय़

नरेंद्र मोदी और योगी आदित्यनाथ को देना चाहते हैं वक्त

गौरतलब है कि वेदांती अयोध्या आंदोलन के अग्रणी चेहरों में से एक रहे हैं और बीजेपी के पूर्व सांसद भी हैं लेकिन वह पीएम नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को कुछ महीनों का वक्त और देना चाहते हैं। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अपील करते हुए कहा है कि अब देश और प्रदेश में भाजपा की पूर्ण बहुमत वाली सरकार है। लिहाजा वे राम जन्मभूमि न्यास को उसकी 67 एकड़ की जमीन वापस कर दें। जिससे वहां भव्य राममंदिर बनाकर तैयार किया जा सके।

राम भक्तों के दिलों को जीतने की कोशिश

विश्व हिंदू परिषद की तर्ज पर अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद का गठन करने वाले प्रवीण तोगड़िया अपने सभी समर्थकों के साथ मंगलवार को अयोध्या पहुंचेंगे। इससे पहले रविवार को शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी ने राम जन्मभूमि मंदिर निर्माण के लिए राम जन्मभूमि कार्यशाला में 10 हजार रुपए का चंदा दिया था। अयोध्या पहुंचे वसीम रिजवी ने कहा है कि एक मुकदमा जीतने से बेहतर है कि करोड़ों राम भक्तों के दिलों को जीतने की कोशिश की जाए। इसके बाद मुकदमा जीतने के बारे में सोचा जाए।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned