मस्जिद में हनुमान चालीसा पढ़ने की अनुमति देने वाले माैलाना काे गांव वालों ने मस्जिद से निकाला

Highlights

  • माैलाना ने भाजपा नेता को दी थी हनुमान चालीसा पढ़ने की अऩुमति
  • इस घटना से गुस्साए मुस्लिम समाज के लाेगाें ने माैलाना काे निकाला

By: shivmani tyagi

Published: 05 Nov 2020, 09:58 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

बागपत। मस्जिद ( mosque ) में हनुमान चालीसा और गायत्री मंत्र पढ़ने की अनुमति देने वाले मौलाना को मस्जिद से निकाला दे दिया गया है। विरोध के बाद मौलाना बागपत से अपने सामान के साथ जिला गाजियाबाद के लोनी लाैट गए। यह फैसला गुपचुप तरीके से मुस्लिम समाज के लोगों ने सुनाया। जब इस घटना का पता हिंदू समाज के लोगों काे चला ताे वह भी मुखर हो गए। अब हिंदू समाज के लाेगा मौलाना के समर्थन में पंचायत करने की योजना बना रहे हैं।


जानिए आखिर क्या है पूरा मामला
दरअसल खेकड़ा क्षेत्र के गांव विनयपुर में भाजपा नेता मनु पाल बंसल ने मस्जिद के माैलाना से गायंत्री मंत्र पढ़ने की इजाजत मांगी थी। उन्हाेंने कहा थआ कि वह भाईचारे का संदेश देना चाहते हैं। इसके लिए मस्जिद में हनुमान चालीसा का पाठ करना चाहते हैं। राम रहीम जैसे सौहार्द को देखते हुए मौलाना अली हसन ने भाजपा नेता को मस्जिद के अंदर हनुमान चालीसा पढ़ने की इजाजत दे दी थी। इजाजत मिलने के बाद भाजपा नेता मस्जिद में पहुंचे और उन्होंने वहां पर गायत्री मंत्र और हनुमान चालीसा पढ़ी। इस दाैरान भाजपा नेता ने फेसबुक पर लाइव भी किया।

यह लाइव सोशल मीडिया पर चला तो मुस्लिम समाज के लोगों ने इस पर अपना विरोध दर्ज कराना शुरू कर दिया। यह विरोध इतना बढ़ा कि मस्जिद से मौलाना को मस्जिद से निकल जाने का फरमान सुना दिया गया। इसके बाद मौलाना अपना सारा सामान लेकर वापस लौट गए। यह घटना क्षेत्र में चर्चा का विषय बनी हुई है। बताया जा रहा है कि अब हिंदू संगठन के लोग मौलाना के समर्थन में पंचायत करने की योजना बना रहे हैं।

shivmani tyagi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned