Video: संसदीय सचिव के समर्थन में सैकड़ों ग्रामीण, नदी में उतरकर रेत खदान बंद रखने के लगाए नारे

Illegal Sand: परसवार में महान नदी से अवैध रेत उत्खनन (Illegal sand mining) के मामले में संसदीय सचिव (Parliamentary Secretary) के ऊपर संगठन द्वारा दबंगई कर खदान बंद करने का लगाया गया था आरोप

By: rampravesh vishwakarma

Published: 08 Jun 2021, 05:42 PM IST

राजपुर. राजपुर विकासखंड अंतर्गत ग्राम परसवार से होकर गुजरे महान नदी से अवैध रेत उत्खनन (Illegal sand mining) का मामला अब तूल पकड़ता जा रहा है। संसदीय सचिव चिंतामणि महाराज व बलरामपुर कांग्रेस संगठन के बीच जुबानी जंग जहां जारी है, वहीं दोनों के समर्थन में लोग खड़े होने लगे हैं।

मंगलवार की दोपहर परसवार के ग्रामीणों ने संसदीय सचिव (Parliamentary Secretary) के समर्थन में महान नदी में उतरकर रेत खदान बंद रखने के नारे लगाए। उधर संगठन के समर्थन में ब्लॉक कांग्रेस के कार्यकर्ता खड़े नजर आए।

गौरतलब है कि कुछ दिन पूर्व बलरामपुर जिला कांग्रेस अध्यक्ष राजेंद्र तिवारी ने परसवार स्थित रेत खदान को जहां वैध कहते हुए संसदीय सचिव चिंतामणि महाराज पर दबंगई करने का आरोप लगाया था। उन्होंने कहा था कि संसदीय सचिव ने रेत खदान को बंद करा दिया है।

Read More: अवैध रेत खनन पर संसदीय सचिव और कांग्रेस जिलाध्यक्ष में वार-पलटवार, चिंतामणि बोले- बाप-बेटे का बनकर रह गया है संगठन

आरोप पर पलटवार करते हुए संसदीय सचिव ने प्रेस कांफ्रेंस आयोजित कर बलरामपुर संगठन को पिता-पुत्र का संगठन कहा था। उन्होंने कहा था कि संगठन के पदों पर जिलाध्यक्ष के चहेते बैठे हुए हैं।

संसदीय सचिव के इस बयान पर संग़ठन के ब्लॉक कांग्रेस शंकरगढ के कार्यकताओं ने संसदीय सचिव पर संगठन की उपेक्षा का आरोप लगाते हुए संगठन का समर्थन किया था।

इधर मंगलवार को अवैध रेत खदान के विरोध में सैकड़ों ग्रामीण परसवार में महान नदी किनारे एकजुट हो गए। उन्होंने नदी में उतरकर अवैध रेत खदान बंद रखने के नारे लगाए।

Read More: नगर में ये देखते ही सीएमओ पर भड़क गए विधायक, कहा- काम करना है तो अच्छे से करिए, नहीं तो...


पूर्व सरपंच व सरपंच पति ने ये कहा
परसवार के पूर्व सरपंच गोपाल राम व सरपंच पति राजेन्द्र प्रसाद ने कहा कि अवैध रेत खदान (Illegal sand mine) को बंद कराकर चिंतामणि महराज ने हम सब के जीवन की रक्षा करने में मदद की है। उनके हम आभारी हैं। उन्होंने कहा कि चिंतामणि महाराज को संग़ठन के नाम से डराने वाले कभी संग़ठन का झोला लेकर परसवार और आसपास के पंचायतों में नहीं आते है।

उसके बाद भी परसवार पंचायत से लगभग हर चुनाव में कांग्रेस को भारी बढ़त मिलती है। उन्होंने कहा कि संसदीय सचिव चिंतामणि महराज को संगठन से डरने की जरूरत नहीं है। जरूरत पड़ी तो आने वाले समय मे परसवार का हर एक नौजवान विधान सभा के हर बूथ में नजर आएगा।

rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned