गल्ती नगर निगम की और सजा भुगत रही अशोक विहार कॉलोनी की जनता

-20 लाख का ठेका देकर भी अधूरा छोड़ा नाला निर्माण
-अब भुगत रही अशोक विहार कॉलोनी की जनता, वार्ड पांच में आती है कॉलोनी

By: Meghshyam Parashar

Updated: 03 Jul 2021, 04:46 PM IST

भरतपुर. शहर के विकास का जिम्मा संभाल रहे नगर निगम व नगर सुधार न्यास की कार्यशैली हमेशा सवालों के घेरे में रहती है। यही कारण है कि शहर में आए दिन लापरवाही सामने आती है। अब मामला सुभाष नगर की अशोक विहार कॉलोनी से जुड़ा हुआ है, जहां नगर निगम ने जिस ठेकेदार को 20 लाख रुपए से नाला निर्माण का ठेका दिया, वह अधूरा काम छोड़ गया। खुद नगर निगम के अधिकारियों को ही इस बारे में पता नहीं है। नगर निगम की लापरवाही की सजा वहां की जनता को भुगतनी पड़ रही है। बताते हैं कि अशोक पार्क की ओर से नाला आ रहा है। आउटलेट गोलपुरा रोड पर है। करीब 30 फीट का नाला बनाकर उसे जोडऩा बाकी है।
जानकारी के अनुसार सुभाष नगर अशोक विहार कॉलोनी में जलभराव की समस्या से लोग परेशान है। लोगों का घर से निकलना भी दूभर हो रहा है। जलभराव के कारण बच्चे तो घर से निकलते ही नहीं है। मोहल्ले वासियों का कहना है कि अशोक विहार पार्क के पास ठेकेदार की ओर से बनाई गई सड़क एवं नाली का निकास सही नहीं किया गया है। इससे मोहल्लेवासियों के घरों के आगे गंदा पानी भरा रहता है। उनका कहना है कि बारिश में तो बहुत ही बुरी स्थिति हो जाती है। कुछ माह पूर्व ठेकेदार की ओर से सड़क एवं नाली का निर्माण कराया गया था, लेकिन ढलान सही नहीं होने से घरों के आगे ही पानी भरा रहता है। इससे आवागमन में समस्या हो रही है।

आपस में हो रहे झगड़े, थाने तक पहुंच चुका विवाद

अशोक विहार कॉलोनी में जलभराव की समस्या के कारण आए दिन झगड़े भी हो रहे हैं। पड़ोसियों के बीच कहानुी हो रही है। दो प्रकरणों में तो मारपीट तक हो गई है व थाने में कई रिपोर्ट भी हो गई हैं। मोहल्लेवासियों की ओर से कई बार नगर निगम को भी अवगत कराया जा चुका है, लेकिन समस्या समाधान के नाम पर सिर्फ झूठ बोला जा रहा है।

लोग बोले: नगर निगम की लापरवाही सजा भुगत रहे हम

-सड़क नीचे और नाली ऊपर होने के कारण जलभराव की समस्या बनी रहती है। रोज कोई न कोई गंदे पानी में गिर जाता है। बच्चों का घर से निकलना दूभर है।

डॉ. लाखन सिंह, अशोक विहार कॉलोनी


-जलभराव के कारण घर में पानी भरा रहता है। नाली ऊंची और सड़क नीचे है। इससे सड़क पर ही पानी भरा रहता है। एक माह पहले ही नाली-सड़क का निर्माण हुआ था। आवागमन में काफी समस्या हो रही है।

गीता, अशोक विहार कॉलोनी


-एक माह पहले नाली व सड़क निर्माण हुआ था। सड़क और नाली का लेवल सही नहीं होने से पानी नालियों की बजाय सड़क पर ही भरा रहता है।

बहादुर सिंह, अशोक विहार कॉलोनी

-जलभराव के कारण मच्छर होने से बीमार हो जाते हैं। घर से निकलना भी दूभर हो जाता है। नाली वे सड़क सही तरह से बनाई नहीं गई है। काफी समस्या होती है।

सिमरन, छात्रा, अशोक बिहार कॉलोनी


-जलभराव के कारण घर से निकलना मुश्किल हो रहा है। घर से बाहर जाते समय कई बार गंदे पानी में गिर चुका हूं। पहले इतनी समस्या नहीं थी जब से नाली व सड़क निर्माण हुआ है तब से समस्या ज्यादा हो गई है।

दिव्यांश, छात्र, अशोक विहार कॉलोनी


-गंदे पानी से जलभराव होने के कारण घर में ही रहना पड़ता है। गंदे पानी में निकल कर कैसे जाएं। जलभराव की समस्या का निदान शीघ्र होना चाहिए।

जगदीश, अशोक विहार कॉलोनी

-जलभराव की समस्या से काफी दिन से परेशान हैं। कोई सुनने वाला नहीं है। जब से नाली और सड़क का निर्माण हुआ है। तब से तो भारी समस्या हो रही है। बच्चों भी घर से बाहर नहीं निकलते हैं। इस समस्या का शीघ्र निदान होना चाहिए।

नीतू, अशोक विहार कॉलोनी


-कॉलोनी में पानी निकासी की काफी समस्या है। बारिश में बुरा हाल है। जल की निकासी को लेकर लोग आपस में ही झगड़ा करते हैं। मारपीट के बाद थाने में मुकदमा भी दर्ज हो गया है।

वीर सिंह, अशोक विहार कॉलोनी सुभाष नगर

-पानी की निकासी नहीं होने से बारिश में काफी समस्या रहती है। नाला अवरुद्ध है तो पानी कहां से निकलेगा। नाला आगे से बंद है। मकानों में पानी भरा रहता है।

प्रहलाद शर्मा, सुभाष कॉलोनी अशोक विहार

-जलभराव की समस्या को लेकर काफी दिन से परेशान हैं। नगर निगम की ओर से नाला अधूरा पड़ा हुआ है। मकानों में ही पानी भर रहा है। मैं बहुत बुरी स्थिति होती है। मच्छरों का प्रकोप रहता है।

संजय, सुभाष नगर अशोक विहार कॉलोनी


इनका कहना है

-वार्ड नंबर पांच में सुभाष नगर कॉलोनी की अशोक विहार कॉलोनी में नाला अधूरा पड़ा हुआ है, क्योंकि ठेकेदार सुनील गुप्ता को ब्लेक लिस्ट कर दिया था। उस दौरान उसने सात काम ले लिए थे। इसके बाद ठेकेदार को कोरोना हो गया। इससे आर्थिक परेशानी आ गई। जेईएन ने बिल पास नहीं किए। जलभराव की समस्या इसलिए भी है कि आउटलेट नहीं है, नो आउटलेट एरिया में जल निकासी कर नहीं सकते हैं। ठेकेदार का भुगतान हो जाए तो आउटलेट जुड़कर काम हो जाए। नाला 30-40 फुट का अधूरा रह गया है।

सुरजीत सिंह, पार्षद वार्ड नंबर पांच


-अगर कोई अधूरा रह गया है तो जानकारी कर उसे पूरा कराया जाएगा। ठेकेदार ने सड़क तो बनाई थी। नाले के बारे में जानकारी कर रहा हूं।

विनोद चौहान
एक्सईएन

Meghshyam Parashar Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned