सिंधिया खेमे के मंत्रियों ने दिग्विजय के खिलाफ खोला मोर्चा, कांग्रेस विधायक बोले- भाजपा में शामिल हो जाऊंगा

  • कांग्रेस विधायक ने कमलनाथ के मंत्री पर लगाया आरोप, कहा- पैसे लेकर करते हैं काम, भाजपा में शामिल हो जाऊंगा।
  • रणवीर सिंह जाटव ने दिग्विजय सिंह सरकार पर भी हमला बोला है।

By: Pawan Tiwari

Published: 05 Sep 2019, 09:00 AM IST

भोपाल. मध्यप्रदेश के सियासी ड्रामे में अब नया मोड आ गया है। वन मंत्री उमंग सिंघार के बाद अब ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थक दो मंत्रियों ने दिग्विजय सिंह पर हमला बोला है। उसके साथ ही सिंधिया समर्थक विधायक रणवीर सिंह जाटव ने सिंधिया समर्थक मंत्री पर हमला बोलते हुए पैसे लेकर काम करने का आरोप लगाया है। वहीं, वन मंत्री उमंग सिंघार ने एक बार फिर से बागी तेवर दिखाए हैं।


उमंग के समर्थन में सिंधिया
वहीं, ज्योतिरादित्य सिंधिया भी वन मंत्री उमंग सिंघार के समर्थनमें आ गए हैं। ग्वालियर में मीडिया को संबोधित करते हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा- दिग्विजय सिंह का नाम लिए बिना ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा- प्रदेश सरकार में किसी का भी हस्ताक्षेप नहीं होना चाहिए। अगर मतभेद उठ रहे हैं तो मुख्यमंत्री का दायित्व है कि वे दोनों की बात सुनकर इसका समाधान करें। 15 साल बाद कांग्रेस की सरकार बनी है इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए। जनता को हमसे बहुत उपेक्षाए हैं।

मंत्री गोविंद सिंह राजपूत और महेंद्र सिंह सिसोदिया ने बोला हमला
कांग्रेस के सियासी ड्रामे में अब सिंधिया समर्थक मंत्री भी कूद गए हैं। मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने सरकार में दिग्विजय सिंह की भूमिका पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि सरकार में किसी का भी हस्ताक्षेप नहीं होना चाहिए। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि इस प्रदेश में ज्योतिरादित्य सिंधिया और कमलनाथ जी के नेतृत्व में चुनाव हुए थे।

इसे भी पढ़ें- ज्योतिरादित्य सिंधिया का कमलनाथ सरकार पर हमला, कहा- प्रदेश में अभी भी हो रहा है अवैध उत्खनन

सिंधिया को है हस्ताक्षेप का अधिकार
वहीं, मंत्री महेन्द्र सिंह सिसौदिया ने कहा-सिंधिया हस्ताक्षेप कर सकते हैं। क्योंकि भाजपा ने नारा दिया था माफ करो महाराज। उसके बाद ही जनता ने सिंधिया और कांग्रेस को चुना है। बाकि किसी को सरकार में हस्ताक्षेप नहीं करना चाहिए।

विधायक ने खोला मोर्चा
भिंड के गोहद से कांग्रेस विधायक रणवीर जाटव और मुरैना के अंबाह से विधायक कमलेश जाटव ने सिंधिया खेमा और दिग्विजय खेमे पर हमला बोला है। रणवीर जाटव ने स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट पर तबादलों में लेन देन का आरोप लगाया है। रणवीर जाटव ने कहा- आठ महीनों में कई छोटे कर्मचारियों के ट्रांसफर का आग्रह किया, लेकिन उन्होंने कर्मचारी को भोपाल भेजने के लिए कह दिया। जब कर्मचारी भोपाल पहुंचा तो उन्होंने कर्मचारी को अपने बेटे से इंदौर में मिलने को कहा और तुलसी सिलावट का बेटा हर ट्रांसफर के लिए पैसे मांगता है।

इसे भी पढ़ें- मध्यप्रदेश में 'कमल' का रहेगा वर्चस्व, सिंधिया के बाद अब दिग्विजय को नेपथ्य में भेजने की साजिश !

दिग्विजय खेमे पर भी हमला
वहीं, रणवीर सिंह जाटव ने डॉ गोविंद सिंह पर भी हमला बोला है। डॉ गोविंद सिंह को दिग्विजय सिंह का करीबी माना जाता है। जाटव ने आरोप लगाते हुए कहा- डॉ गोविंद सिंह खुद अपने क्षेत्र में अवैध उत्खनन करवा रहे हैं। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि ऐसा ही होता रहा तो जल्द ही कांग्रेस छोड़कर भाजपा में चला जाऊंगा।

Congress Jyotiraditya Scindia Kamal Nath
Pawan Tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned