क्या शिवराज की राजनीतिक विरासत संभाललेंगे उनके बेटे कार्तिकेय, बीजेपी से टिकट पर पिता ने दिया ये जवाब

क्या शिवराज की राजनीतिक विरासत संभाललेंगे उनके बेटे कार्तिकेय, बीजेपी से टिकट पर पिता ने दिया ये जवाब
क्या शिवराज की राजनीतिक विरासत संभाललेंगे उनके बेटे कार्तिकेय, बीजेपी से टिकट पर पिता ने दिया ये जबाव

Pawan Tiwari | Updated: 06 Oct 2019, 12:23:05 PM (IST) Bhopal, Bhopal, Madhya Pradesh, India

  • शिवराज सिंह चौहान के दौ बेटे हैं।
  • शिवराज के बड़े बेटे राजनीति में सक्रिय हैं।
  • पिता के विधानसभा क्षेत्र बुदनी में चुनावी सभाएं भी कर चुके हैं।


भोपाल. मध्यप्रदेश के पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान के बड़े बेटे कार्तिकेय सिंह चौहान राजनीत में सक्रिय है, जबकि उनके छोटे बेटे अभी सियासी कार्यक्रमों से दूर ही रहते हैं। ऐसे में माना जा रहा है कि शिवराज सिंह चौहान की राजनीतिक विरासत को उनके बड़े बेटे कार्तिकेय सिंह चौहान संभाल सकते हैं। हालांकि बेटे की सियासत को लेकर शिवराज सिंह चौहान की अलग ही राय है। पत्रिका टीवी से बात करते हुए शिवराज सिंह चौहान ने कहा- मैं अपने बेटों को किसी क्षेत्र में जाने का दबाबव नहीं बनाऊंगा। वो स्वतंत्र हैं और जिस क्षेत्र में जाना चाहते हैं उस क्षेत्र में अपना भविष्य बना सकते हैं।



सवाल- आपके दो बेटे हैं एक कार्तिकेय जो कि इन दिनों पॉलिटिक्स में एक्टिव दिखाई दे रहे हैं और दूसरे अभी पढ़ रहे हैं। क्या वाकई में दोनों को राजनीति में लाएंगे या किसी एक को लाएंगे?
इस सवाल के जबाव में पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा- देखिए दोनों फैसला करेंगे। हमारे पिताजी ने हम पर अपनी मर्जी नहीं लादी। वह तो हमेशा यह चाहते थे कि मैं राजनीति में न आऊं। मैं डॉक्टर, इंजीनियर बनूं कोई नौकरी करूं लेकिन मेरे दिल में तड़प थी काम करता चला गया। सार्वजनिक जीवन में आ गया लेकिन किसी भी पिता को बच्चों पर अपनी इच्छा लादने का अधिकार नहीं है। वह स्वतंत्र हैं अपना फैसला करेंगे। अभी दोनों की पढ़ाई पूरी हुई है अपने अपने काम में भी लगे हैं। कार्तिक राजनीतिक कामों में भी रुचि लेता है तो उसकी अपनी मर्जी है। कुणाल की कोई अभी तक ऐसी इच्छा दिखाई नहीं दी।

सवाल एक पिता के तौर पर अगर कार्तिकेय आपसे टिकट दिलवाने की बात करते हैं, तब क्या करेंगें?
जवाब- किसी को भी केवल इसलिए टिकट नहीं मिलेगा कि वह फलाने का बेटा है। किसी को भी नहीं। पिता इस मामले में राजनीतिक कार्यकर्ता के नाते पिता और कार्यकर्ता अलग नहीं हो सकता। अगर कार्तिकेय से योग्य कोई और व्यक्ति हो तो कार्यकर्ता और पिता जो योग्य है उसी का नाम लेगा। वैसे ही भारतीय जनता पार्टी में आप इस समय देख रहे हैं कि परिवारवाद का पक्षधर कोई भी नहीं है।

राजनीति में सक्रिय हैं कार्तिकेय
शिवराज सिंह चौहान के बड़े बेटे कार्तिकेय सिंह चौहान राजनीति में सक्रिय हैं। हालांकि अभी वो केवल अपने पिता शिवराज सिंह चौहान ने विधानसभा क्षेत्र तक ही समीति हैं। कार्तिकेय ने अपने पिता शिवराज सिंह चौहान ने के लिए बुदनी में प्रचार करते हैं। मध्यप्रदेश में कमलनाथ सरकार बनने के बाद कार्तिकेय कई बार कमलनाथ पर हमला भी बोल चुके हैं। कार्तिकेय का नाम तब सुर्खियों में आया था जब कांग्रेस के तत्कालीन अध्यक्ष राहुल गांधी ने उन पर आरोप लगाया था।

शिवराज के बेटे का लिया था नाम
गौरतलब है कि राहुल गांधी ने मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव के दौरान झाबुआ में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए आरोप लगाया था कि पनामा पेपर्स में शिवराज सिंह चौहान के बेटे कार्तिकेय का नाम आया है। इसके बावजूद उनके बेटे के खिलाफ कोई भी कार्रवाई नहीं हुई है। राहुल गांधी के इस बयान के बाद कार्तिकेय ने राहुल गांधी के खिलाफ मानहानि का केस भी दर्ज कराया है।

shivraj__4_1.jpg

राजनीतिक बयान भी देते हैं कार्तिकेय
राहुल गांधी के आरोपों के बाद मीडिया से चर्चा करते हुए कार्तिकेय ने कहा था- राहुल ने एक और बयान दिया कि वह कन्फ्यूज थे। पर असल में पूरी कांग्रेस कन्फ्यूज है। राहुल तो भ्रम में हैं ही। मगर उनके पार्टी कार्यकर्ता भी कन्फ्यूज हैं कि आखिर पार्टी का नेता कौन है। मैं इस चीज के लिए उन्हें (राहुल) जिम्मेदार नहीं ठहराऊंगा। पूरी कांग्रेस कन्फ्यूज है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned