5 लाख में बनाते हैं शिक्षाकर्मी, धोखाधड़ी का मामला आया सामने

Amil Shrivas

Publish: Jan, 13 2018 04:16:31 PM (IST)

Bilaspur, Chhattisgarh, India
5 लाख में बनाते हैं शिक्षाकर्मी, धोखाधड़ी का मामला आया सामने

पैसे लेकर शिक्षाकर्मी बनाने के नाम पर पैसे लेकर हुआ गायब। न नौकरी लगायी। न पैसे वापस किये।

बिलासपुर। शहर के सरकंडा थाना में धोखाधड़ी और नौकरी लगाने के नाम पर पैसे लेने का मामला सामने आया है। अपराध में मोपका निवासी राधेश्याम दिवाकर के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराया गया है। पीड़ित के बताये अनुसार, राधेश्याम दिवाकर विवेकानंद नगर मोपका का निवासी है। राधेश्याम पेशे से बीईओ है जिसने सावित्री श्रीवास्तव को शिक्षाकर्मी बनाने के नाम पर 5 लाख रुपये लिए। कहा की बाकी का 1 लाख काम होने के बाद। क़ाफी दिनों तक जब कुछ बात नहीं बनी तो सरकंडा थाने में रिपोर्ट दर्ज कराया गया है। सन् 2016 में पुलिस अधीक्षक बिलासपुर को इस धोखाधडी की सूचना देकर कार्यवाही करने की मांग की गयी थी परंतु अभी तक कोई कार्यवाही नही हुई है। राधेश्याम ने जया श्रीवास्तव एवं प्रकाश साहू से भी पैसे लिए और शिक्षाकर्मी में नौकरी लगाने का झूठा आश्वासन देकर पैसे गायब कर दिया।

सुभाष श्रीवास्तव उम्र 50 वर्ष सरकंडा बिलासपुर में मौसम विभाग कार्यालय के पीछे रहता है । रधेश्याम दिवाकर (बी.ई.ओ.), से सुभाष की पुरानी मित्रता थी परिवारिक संबंध भी थे । सुभाष की पत्नी सावित्री श्रीवास्तव भी उनके घर आती जाती थी, आपसी बातचीत में राधेश्याम की पत्नी कामिनी दिवाकर ने सावित्री से कहा कि उसके पति शिक्षा विभाग में नौकरी करते है । विभाग के बडे बडे अधिकारियों तब उसकी पहुच है, खर्च करने पर नौकरी लगाने का झांसा देकर 5 लाख देने की बात कही । और 1 वर्ष का समय माँगा । दिनांक 12-09-2012 को राधेश्याम दिवाकर को सुभाष ने नौकरी लगाने के लिए 4 लाख नगद दिए और 1 लाख काम होने के बाद देने की बात कही। इसके बाद सावित्री ने अपनी देवरानी जया श्रीवास्तव को भी उक्त बातें बतायी तो उसकी देवरानी जया श्रीवास्तव एवं प्रकाश साहू भी पैसा देने को तैयार हो गये कुछ दिनों बाद उन दोनो ने भी राधेश्याम दिवाकर को तीन तीन लाख दिये, दिवाकर ने उन्हे भी नौकरी लगाने का आश्वासन दिया था । सुभाष और सावित्री राधेश्याम दिवाकर के पास जाकर कई बार पूछताछ किये परंतु 1 साल बीतने पर भी सावित्री की नौकरी नही लगाया और अपने मित्रतापूर्ण संबंधो का लाभ लेते हुए धोखा देते रहे । इसके बाद राधेश्याम दिवाकर ने पैसा वापसी कहकर 10 लाख रूपये का चेक दिया और बैंक में जाकर बैंक मैनेजर से चेक गुम हो जाने की सूचना देकर सुभाष से धोखा देकर उनसे पैसा ले लिया है ।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned