जेफ बेजोस ने रचा नया इतिहास, 11 मिनट की स्पेस यात्रा कर धरती पर लौटे

 

भारतीय समय के मुताबिक जेफ बेजोस मंगलवार शाम करीब 6 बजकर 42 मिनट पर न्यू शेपर्ड से भाई मार्क, 82 साल की वैली फंक और 18 साल के ओलिवर डेमेन के अंतरिक्ष के लिए रवाना हुए थे। 11 मिनट की अंतरिक्ष यात्रा पूरी करने के बाद बेजोस की स्पेस कैप्सूल ने टेक्सास में लैंडिग की।

By: Dhirendra

Updated: 20 Jul 2021, 08:47 PM IST

नई दिल्ली। दुनिया की टॉप ई-कॉमर्स कंपनी अमेजन के फाउंडर जेफ बेजोस अंतरिक्ष की 11 मिनट की यात्रा करने के बाद धरती पर लौट आए। भारतीय समय के मुताबिक वे मंगलवार शाम करीब 6 बजकर 42 मिनट पर न्यू शेपर्ड से रवाना हुए थे। उनके साथ 3 और यात्री थे। इनमें एक उनके भाई मार्क, 82 साल की वैली फंक और 18 साल के ओलिवर डेमेन शामिल हैं। यात्रा पूरी करने के बाद बेजोस की स्पेस कैप्सूल ने टेक्सास में लैंडिग की।

जेफ बेजोस की इस उड़ा पर दुनियाभर की निगाहें टिकी हुई थीं। कुछ दिन पहले ही ब्रिटिश अरबपति रिचर्ड ब्रैनसन ने अंतरिक्ष की यात्रा की थी। इससे साफ है कि दुनिया के अरबपतियों के बीच स्पेस रेस शुरू हो गई है। हालांकि, इन अरबपतियों का कहना है कि वे स्पेस यात्रा को सबके लिए मुहैया कराना चाहते हैं।

Read More: LIC: आरोग्य रक्षक हेल्थ इंश्योरेंस प्लान इस मामले में सबसे अलग, एक ही प्लान में शामिल हैं कई बड़े फायदे

Read More: FD में निवेश कर टैक्स सेविंग का बना रहे हैं प्लान तो करें ये काम, होगा ज्यादा फायदा

इस उड़ान से बने 2 रिकॉर्ड

दुनिया के सबसे ज्यादा अमीर व्यक्तियों में शुमार जेफ बेजोस ने अपनी कंपनी ब्लू ऑरिजन के न्यू शेपर्ड लॉन्चिंग व्हीकल के जरिए अंतरिक्ष के लिए उड़ान भरी। इस यात्रा के दौरान दो रिकॉर्ड बने। पहला रिकॉर्ड ये रहा कि वैली फंक स्पेस में जाने वालीं दुनिया की सबसे बुजुर्ग व्यक्ति बन गई। दूसरा रिकॉर्ड ये बना कि 18 वर्षीय ओलिवर डेमेन स्पेस में जाने वाले दुनिया के सबसे कम उम्र के व्यक्ति बन गए।

कर्मन लाइन तक पहुंचा न्यू शेपर्ड

जेफ बेजोस का स्पेसक्राफ्ट न्यू शेपर्ड अंतरिक्ष के किनारे तक पहुंचा, जिसे कर्मन लाइन के रूप में जाना जाता है। इस रेखा को इंटरनेशनल एयरोनॉटिक्स बॉडी ने रेखांकित किया है। यह पृथ्वी के वातावरण और अंतरिक्ष के बीच सीमा माना जाता है। फिर भी 100 किमी की ऊंचाई पर पहुंचने वाले बेजोस ने ब्रैनसन की तुलना में अधिक दूरी तय की। उड़ान भरने से पहले बेजोस ने कहा था कि वह इस यात्रा को लेकर बहुत उत्साहित हैं।

Read More : HCL Tech के एमडी शिव नादर ने छोड़ा पद, सी विजयकुमार को सौंपी जिम्मेदारी

Read More: जनधन खाता नहीं खुलवाया तो पुराने सेविंग अकाउंट को ही करा लें कन्वर्ट, 2 लाख रुपए का मिलेगा लाभ

क्या है न्‍यू शेपर्ड रॉकेट?
न्‍यू शेपर्ड रॉकेट सबऑर्बिटल फ्लाइट है। यह ध्‍वनि की तीन गुना रफ्तार से अंतरिक्ष की ओर उड़ान भरने में सक्षम है। यह तब तक सीधा अंतरिक्ष में जाता रहा जब तक कि उसका अधिकांश ईंधन खत्‍म नहीं हो गया। इसके बाद कैप्सूल रॉकेट से अलग हो गया।। कर्मन लाइन क्षेत्र में 11 मिनट तक बिताने के बाद न्यू शैपर्ड धरती पर लौट आया।

Dhirendra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned