कोरोना लॉकडाउन में ड्यूटी में लापरवाही पड़ी भारी, दुर्ग में पांच सरकारी कर्मचारियों पर गिरेगी निलंबन की गाज

Coronavirus lockdown in Durg: में ड्यूटी में लापरवाही दुर्ग जिले के पांच सरकारी कर्मचारियों को भारी पड़ गया। कलेक्टर ने संबंधित विभागों को अनुशासनात्मक अथवा निलंबन की कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।

By: Dakshi Sahu

Published: 20 Apr 2021, 12:44 PM IST

दुर्ग. कोरोना लॉकडाउन में ड्यूटी में लापरवाही दुर्ग जिले के पांच सरकारी कर्मचारियों को भारी पड़ गया। कलेक्टर ने संबंधित विभागों को इन कर्मचारियों के खिलाफ अनुशासनात्मक अथवा निलंबन की कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। जिला प्रशासन से मिली जानकारी के मुताबिक कलेक्टर (Durg collector) डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने इन पांचों कर्मचारियों की ड्यूटी 17 अप्रैल को लगाई थी, लेकिन कर्मचारी सोमवार की शाम तक ड्यूटी में हाजिर नहीं हुए। जिसके बाद कोरेानाकाल में ड्यूटी में गंभीर लापरवाही मानकर कार्रवाई करने का आदेश जारी किया गया है।

ये कर्मचारी नहीं पहुंचे ड्यूटी में
कर्मचारी -कार्यालय
सुमित दुबे सहायक ग्रेड-3 जिला सहकारी केंद्रीय बैंक दुर्ग
उत्तम साहू सहायक ग्रेड-3 जिला सहकारी केंद्रीय बैंक दुर्ग
कमलेश ठाकुर सहायक ग्रेड-3 -दुर्ग विश्वविद्यालय
पंकज कुमार सहायक ग्रेड-3 - महिला एवं बाल विकास दुर्ग
सिद्धार्थ सहायक ग्रेड-3 - जल संसाधन शिवनाथ मंडल दुर्ग

उडऩदस्ता टीम ने की चालानी कार्रवाई
कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेन्द्र भूरे के निर्देश पर जिले में लागू लॉकडाउन के नियमों का पालन कराने एवं कोरोना महामारी को नियंत्रित करने रिसाली नगर निगम की उडऩदस्ता टीम प्रतिदिन क्षेत्र के चौक चौराहों, सार्वजनिक स्थलों की लगातार चौकसी कर रही है। निगम आयुक्त प्रकाश कुमार सर्वे के निर्देश पर क्षेत्र में लॉकडाउन का पालन कराने निगम की उडऩदस्ता टीम सभी वार्डों में पहुंचकर हठधर्मियों के विरूद्ध चालानी कार्रवाई को एक अभियान का रूप दे रखा है। रविवार को उडऩदस्ता टीम ने रिसाली बस्ती, कृष्णा टॉकिज रोड रिसाली, तालपुरी, रूआबांधा, टंकी मरोदा, स्टेशन मरोदा, नेवई आदि वार्डों के चौराहों व सार्वजनिक स्थलों का सघन निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान टीम निगम के ग्रामीण वार्ड डुंडेरा, जोरातराई भी पहुंची। इस दौरान डुंडेरा में सब्जी विक्रेता सहित ऑटो रिपेयर व्यवसायी तथा शासन द्वारा निर्धारित समय उपरांत साइकिल में घूम-घूमकर दूध बेच रहे दुग्ध व्यवसायी से 1300 रुपए की चालानी कार्रवाई की। साथ ही लॉकडाउन के नियमों का सख्त पालन करने की चेतावनी दी। निरीक्षण के दौरान राजस्व निरीक्षक अनिल मेश्राम, धर्मरक्षक पाठक, टेकराम व पंकज भगत शामिल थे।

Dakshi Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned