West Bengal Assembly Elections 2021: आजादी में बड़ी भूमिका निभाने वाले दार्जिलिंग के विकास पर दीदी ने लगाया फुल स्टाप

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मंगलवार को दार्जिलिंग में एक जनसभा को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि दार्जिलिंग ने देश की आजादी के लिए बहुत बड़ी भूमिका निभाई है। मगर पहले कांग्रेस फिर कम्युनिस्ट और अब दीदी ने यहां के विकास पर फुल स्टाप लगा दिया है।

 

By: Ashutosh Pathak

Published: 13 Apr 2021, 01:56 PM IST

नई दिल्ली।

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव (West Bengal Assembly Elections 2021) में चार चरण का मतदान हो चुका है, जबकि पांचवें चरण के लिए 17 अप्रैल को वोट डाले जाएंगे। इससे पहले केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मंगलवार को दार्जिलिंग में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस, कम्युनिस्ट पार्टी और ममता बनर्जी पर जमकर निशाना साधा।

अमित शाह ने कहा कि दार्जिलिंग ने देश की आजादी के लिए बड़ी भूमिका निभाई है। आजादी के बाद कांग्रेस, कम्युनिस्ट पार्टी और अब ये दीदी, इन्होंने दार्जिलिंग के विकास पर फुल स्टाप लगा दिया है। शाह ने कहा कि बंगाल में 200 से ज्यादा सीटों के साथ भाजपा की सरकार बनेगी। अब दीदी इसे रोक नहीं पाएंगी। उन्होंने कहा कि गोरखाओं को मुख्यधारा में लाना ही होगा। देश के लिए बलिदान करने वालों की सूची बनती है, तो उसमें गोरखाओं का नाम सबसे पहले होता है।

यह भी पढ़ें:- भाजपा नेता ने कहा- सुरक्षा बलों को चार नहीं आठ लोगों को गोली मारना चाहिए था

शाह ने कहा कि भाजपा की सरकार बनने के बाद आंदोलन के कारण जिस भी गोरखा पर मुकदमे हैं, एक सप्ताह के अंदर उन्हें वापस लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि दो मई को दार्जिलिंग में दीवाली होने वाली है। दो मई को पहाड़ पर आग नहीं लगेगी बल्कि, दीए जलाकर उत्सव मनाया जाएगा। उन्होंने दावा किया कि चाय बागान में श्रमिकों का वेतन बढ़ाकर साढ़े तीन सौ रुपए कर दिया जाएगा।

यह भी पढ़ें:-कूच बिहार फायरिंग केस में राहुल ने दिया था बयान, चुनाव आयोग ने लगाया 48 घंटे का प्रतिबंध

अमित शाह ने कहा कि देश बहुत आगे निकल गया है और दार्जिलिंग वहीं का वहीं रह गया है। सभी ने दार्जिलिंग को आराम करने की जगह के रूप में समझा। किसी ने दार्जिलिग का विकास नहीं किया। शाह ने दावा किया कि भाजपा पांच साल में दार्जिलिंग की सभी समस्या का सामधान कर देगी। इसी के साथ उन्होंने गोरखा भाषा को बंगाल की सह भाषा का दर्जा देकर राज्य सभा का दर्जा देने की बात भी कही।

कोरोना संक्रमण की वजह से राज्य की कुल 294 विधानसभा सीटों पर इस बार 8 चरण में मतदान हो रहे हैं। पहले चरण की वोटिंग 27 मार्च को थी, जबकि दूसरे चरण के लिए 1 अप्रैल और तीसरे चरण के लिए 6 अप्रैल को वोट डाले गए। वहीं, चौथे चरण के लिए 10 अप्रैल को मतदान हुआ। अब पांचवे चरण के लिए 17 अप्रैल को, छठें चरण के लिए 22 अप्रैल को, सातवें चरण के लिए 26 अप्रैल को और आठवें चरण के लिए 29 अप्रैल को वोटिंग होगी। नतीजे 2 मई को घोषित होंगे।

Ashutosh Pathak
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned