Assam Assembly Elections 2021: ईवीएम बवाल के बाद एक और गड़बड़ी, 90 वोटर वाले बूथ पर वोट पड़ गए 171

Assam Assembly Electins 2021 दूसरे चरण के मतदान के बाद सामने आई एक और गड़बड़ी, एक बूथ पर मतदाता सूची में सिर्फ 90 नाम, वोट पड़े 171

By: धीरज शर्मा

Published: 06 Apr 2021, 09:06 AM IST

नई दिल्ली। असम विधानसभा चुनाव ( Assam Assembly Elections 2021 ) में तीसरे चरण का मतदान जारी है। लेकिन दूसरे चरण के मतदान को लेकर एक ओर गड़बड़ी का मामला सामने आया है। दरअसल दूसरे चरण के मतदान के बाद बीजेपी उम्मीदवार की गाड़ी में ईवीएम मिलने का मामला अभी ठंडा ही हुआ था कि अब उसी चरण में एक ओर गड़बड़ी ने विवाद खड़ा कर दिया है।

दरअसल इसी चरण में कुल 90 मतदाताओं वाले एक बूथ पर 171 वोट पड़ने का मामला सामने आया है। इसका खुलासा होने पर चुनाव अधिकारियों में हड़कंप मचा गया है, जिसके बाद बूथ पर मतदान से जुड़े पांच अधिकारियों को निलंबित कर दिया गया है।

यह भी पढ़ेँः Assam Assembly Elections 2021 अंतिम चरण में 12 जिलों की 40 सीटों पर वोटिंग, 337 उम्मीदवारों की दांव पर साख

ये है मामला
असम के दीमा हसाओ जिले में एक मतदान केंद्र पर बड़ी अनियमितता का खुलासा हुआ है। यहां सिर्फ 90 मतदाता पंजीकृत हैं, लेकिन कुल 171 वोट पड़े हैं।

यह मतदान केंद्र हाफलोंग विधानसभा क्षेत्र में है। आपको बता दें कि इस जगह दूसरे चरण में एक अप्रैल को वोटिंग हुई थी। हाफलोंग में 74 फीसदी मतदान हुआ था।

बताया जा रहा है कि इस पोलिंग बूथ पर दोबारा मतदान हो सकता है। वहीं इस घटना के सामने आने के बाद जिला निर्वाचन अधिकारी ने मतदान केंद्र के पांच चुनाव अधिकारियों को सस्‍पेंड कर दिया है।

इन अधिकारियों को किया निलंबित
जिन अधिकारियों को तत्काल प्रभाव से निलंबित किया गया है, उनमें सेक्टर ऑफिसर एस ल्हांगुम, पीठासीन अधिकारी प्रह्लाद सी रॉय, मतदान अधिकारी परमेश्वर चारंगसा, स्वराज कांति दास और एल थीक के नाम शामिल हैं।

गांव प्रधान ने अपनी सूची से डलवाए वोट
यह मतदान केंद्र खोटलिर एलपी स्कूल के 107 (ए) में था। एक अधिकारी के मुताबिक मतदान केंद्र के लिए मतदाता सूची में सिर्फ 90 नाम थे, लेकिन ईवीएम में 171 वोट पड़े हैं। दरअसल गांव के प्रधान ने मतदाता सूची को स्वीकार करने से इनकार कर दिया था और वह अपनी सूची लेकर वहां पहुंच गया।

यह भी पढ़ेँः Assam Assembly Elections 2021: मंत्री हिमंत बिस्वा का कोरोना को लेकर अजीब बयान, कह दी इतनी बड़ी बात

खास बात यह है कि गांव प्रधान के सूची ले जाने बाद ग्रामीणों ने उसी सूची के आधार पर मतदान कर दिया। यहां गौर करने वाली बात यह है कि गांव प्रधान तो अपनी सूची लेकर गया , लेकिन चुनाव अधिकारियों ने उसे रोका क्यों नहीं। उसकी लाई गई सूची को किस आधार पर स्वीकार कर लिया गया।

फिलहाल इन सवालों के जवाब सामने नहीं आए हैं। इसके साथ ही पोलिंग बूथ पर मौजूद सुरक्षाकर्मियों की भूमिका पर भी सवाल उठ रहे हैं। आखिर इस बूथ पर सुरक्षाकर्मी तैनात थे या नहीं और उनकी क्या भूमिका रही, इसको लेकर भी जांच की जा रही है।

आपको बता दें कि असम विधानसभा चुनाव ( Assam Assembly Elections 2021 ) के दूसरे चरण में 39 सीटों पर वोट डाले गए थे।

आइए पढ़ेंः Assam Assembly Elections 2021 - Bhartiya Janta Party (BJP) Full Candidates List

धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned