दोस्तों के साथ मंदिर पर गई छात्रा, लौटते में हुआ हादसा और चली गई जान

छात्रा की मौत से गुस्साए परिजनों ने लगाया जाम,पुलिस से की कार्रवाई की मांग

By: monu sahu

Published: 07 Jul 2019, 01:35 PM IST

ग्वालियर। शहर में पड़ोसी युवकों के साथ शीतला मंदिर दर्शन करके लौट रही दसवीं कक्षा की छात्रा हादसे का शिकार हो गई। युवकों ने उसे निजी नर्सिंग होम में भर्ती कराया। हालात बिगडऩे पर डॉक्टर ने जेएएच रैफर कर दिया। सुबह उसकी मौत हो गई। घरवालों ने नर्सिंग होम के डॉक्टर पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए हॉस्पिटल के सामने शव को सडक़ पर रखकर चक्काजाम कर दिया। उनका कहना था डॉक्टर पर कार्रवाई की जाए और उन युवकों से भी अच्छी तरह पूछताछ की जाए।

इसे भी पढ़ें : चॉकलेट खाने के ये फायदे जानकर हैरान रह जाएंगे आप

पुलिस ने उन्हें समझाया तब जाम खुला। पुलिस के मुताबिक शिन्दे की छावनी निवासी मुस्कान बाथम (15) पुत्री अनूप बाथम की मौत हुई है। मुस्कान शुक्रवार को घर से महाराज बाड़े की कहकर निकली थी,लेकिन पड़ोसी नवल और मुकुल उसे शीतला मंदिर दर्शन कराने लेकर चले गए। वहां से लौटते समय आंधी आ गई। तीनों एक दीवार के किनारे बैठ गए। आंधी और पानी से दीवार मुस्कान के ऊपर गिर पड़ी, जिससे वह घायल हो गई। युवकों ने उसे पाटनकर चौराहा पर स्थित शांता नर्सिंगहोम में भर्ती करा दिया। गंभीर हालत होने पर डॉक्टर ने उसे जेएएच भेज दिया,जहां मुस्कान ने दम तोड़ दिया।

इसे भी पढ़ें : श्वान मारने पर इनाम देकर फंसे सीएमओ, मेनका गांधी ने एसपी को लिखा पत्र-कहा एफआईआर करो

बहन ज्योति ने बताया नर्सिगहोम में अच्छी तरह से बातचीत कर रही थी। डॉक्टर ने मामी से फॉर्म पर अंगुठा लगवाकर ऑपरेशन कर दिया। बाकी घरवालों को बताया नहीं। ऑपरेशन के बाद उसकी हालत बिगड़ी तो डॉक्टर ने जेएएच भेज दिया। ज्योति का आरोप है कि ऑपरशन से पहले मुस्कान अच्छी तरह बातचीत कर रही थी। ऑपरेशन के बाद ही उसकी हालत बिगड़ी थी। डॉक्टर की लापरवाही से मुस्कान की जान गई है।

इसे भी पढ़ें : मेहनताना मांगने पर मजदूर की पीट पीटकर हत्या, परिजनों ने पुलिस को बताई पूरी कहानी

झूठ बोलकर एक्सीडेंट की एफआईआर कराई
पुलिस का कहना है जिन युवकों के साथ मुस्कान मंदिर गई थी, उन्होने घर वालों से झूठ बोला कि बाड़े पर कार की टक्कर से वह घायल हुई है। इसलिए घरवालों ने कोतवाली थाने में एक्सीडेंट की एफआईआर करा दी। बाद में उन युवकों से पूछताछ की तो सच पता चला।

इसे भी पढ़ें : रथ पर सवार होकर निकले भगवान जगन्नाथ, उमड़े श्रद्धालु

डॉक्टर ने फोन बंद किया
इस संबध में शांता नर्सिग होम के डॉक्टर ओपी गुप्ता से बात करनी चाही तो उनका मोबाइल नंबर बंद था। नर्सिगहोम फोन लगाया तो स्टाफ ने डॉक्टर से बात नहंी कराई।

इसे भी पढ़ें : गुप्त नवरात्र में यह नक्षत्र है विशेष फलदायी, जमकर बरसेगी माता की कृपा

टीआई कोतवाली थाना अजय चानना ने बताया कि लडक़ी पर दीवार गिर गई थी। पहले उसे एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया। हालत बिगडऩे पर जेएएच लेकर आए, जहां उसकी मौत हो गई। परिजनों का कहना है कि डॉक्टर की लापरवाही से जान गई है। फिलहाल मर्ग कायम कर लिया है।

monu sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned