BREAKING : ST/SC संशोधन बिल के विरोध में अर्धनग्न होकर सड़कों पर उतरे लोग,मंत्री के बंगले का घेराव,जिले में हाई अलर्ट,See video

BREAKING : ST/SC संशोधन बिल के विरोध में अर्धनग्न होकर सड़कों पर उतरे लोग,मंत्री के बंगले का घेराव,जिले में हाई अलर्ट,See video

monu sahu | Publish: Sep, 02 2018 03:09:09 PM (IST) | Updated: Sep, 02 2018 03:24:54 PM (IST) Gwalior, Madhya Pradesh, India

BREAKING : ST/SC संशोधन बिल के विरोध में अर्धनग्न होकर सड़कों पर उतरे लोग,मंत्री के बंगले का घेराव,जिले में हाई अलर्ट,See video

ग्वालियर। सुप्रीम कोर्ट द्वारा एससी एसटी एक्ट में बिना जांच किए गिरफ्तारी पर रोक लगाने आदेश जारी किए थे। केन्द्र सरकार द्वारा संसद में इसके बिल पास करके सुप्रीम कोर्ट के आदेश को निष्प्रभावी कर दिया। इसके विरोध में सामान्य व पिछड़ा वर्ग के लोगों में आक्रोश है। लोगों में एससी एसटी एक्ट का विरोध दिनों दिन बढ़ता ही जा रहा है। दो दिन पहले जहां मुरैना में भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व राज्य सभा सदस्य प्रभात झा को चूडिय़ां भेंट कर विरोध जताया। वहीं शनिवार को में मंत्री रुस्तम ङ्क्षसह सहित कई नेताओं को काले झंडे दिखाए। साथ ही गाड़ी को घेर लिया और गाड़ी के कांच नहीं खोले गए तो गाड़ी के ऊपर चूडिय़ां फेंकी गई।

यह भी पढ़ें : 6 सितंबर को भारत बंद को लेकर प्रदेश में भारी अलर्ट,ये निर्देश किए जारी

काफी देर तक गाड़ी को घेर कर नारेबाजी की गई। भारी पुलिस फोर्स के चलते बमुश्किल मंत्री की गाड़ी को निकाला जा गया। रविवार को भी शहर में केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के बंगले पर एससी एसटी एक्ट के विरोध प्रदर्शन करने के लिए भारी संख्या में लोग पहुंचे। लेकिन उससे पहले बंगले पर पुलिस पहुंची और सुरक्षा व्यावस्था कड़ी कर दी गई। यहां सपाक्स के युवा पहुंचे और उन्होंने विराधे प्रदर्शन किया। इसके साथ ही डबरा में भी स्वर्ण समाज और ओबीसी समाज के लोगों ने सडक़ों पर अर्धनग्न होकर प्रदर्शन किया।

 

विरोध करते हुए स्वर्ण समाज जिंदाबाद के नारे लगाते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बिल में और संसोधन कर स्वर्ण समाज को फांसी पर लटकाने की मांग की है। ये सभी युवा मुख्य चौराहे पर एकत्रित होकर अर्धनग्न प्रदर्शन करते हुए शहर के मुख्य मार्ग से होते हुए चौराहे पर पहुंचे और वहीं पर बैठकर प्रदर्शन करते हुए सरकार को चेतावनी दी।

 

उन्होंने कहा कि अगर जल्द ही सरकार ने इस एसटी एसएसी बिल कानून में कोई फैसला नहीं लिया तो आगे और आंदोलन होगा जिसकी जिम्मेदारी सरकार की होगी। साथ ही अगर कोई बड़े नेता ने शहर में दस्तक दी तो काले झंडे व चुडिया फेककर बिरोध प्रदर्शन किया जाएगा। साथ ही ग्वालियर शहर में मंत्री माया सिंह और मंत्री नारायण सिंह व जयभान सिंह पवैया के घर भी सुरक्षा बढ़ाने की बात कही गई है।

 

एससी एसटी एक्ट के विरोध में आमसभा आज
सुप्रीम कोर्ट के आदेश के विरुद्ध एस सी एसटी एक्ट कानून के मूल प्रावधानों को बहाल करने के बिल को सरकार व विपक्ष की मूंक सहमति के चलते मंजूर किया गया। इसके विरोध में सर्व समाज की आमसभा दो सितंबर को दोपहर दो बजे से गांधी मैरिज होम गांधी कॉलोनी में आयोजित की जा रही है। सामान्य व पिछड़ा वर्ग के लोगों ने सर्व समाज के पीडि़त लोगों से आव्हान किया है सभा में उपस्थित होकर आंदोलन में भागीदार बनें।

Bharat bandh

सांसद, मंत्री किसी भी पार्टी का हो, होगा विरोध
एससी एसटी एक्ट के विरोध को लेकर सामान्य व पिछड़ा वर्ग के लोगों ने तय किया है कि किसी भी पार्टी का सांसद, मंत्री हो, उसका हर तरह से पुरजोर विरोध किया जाएगा। क्योंकि एससी एसटी एक्ट को लेकर सुप्रीम कोर्ट के खिलाफ सांसद में बिल पास किया जा रहा था तब किसी पार्टी के सांसद ने विरोध नहीं जताया। इसलिए हर पार्टी के सांसद व मंत्री का विरोध किया जाएगा। आगामी दस सितंबर को कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष कमलनाथ अगर मुरैना आए तो उनका भी विरोध किया जाएगा।

Ad Block is Banned