कैशवैन को लूटने और गार्ड का मर्डर करने वालों पर 10 हजार का इनाम घोषित

मौके पर पहुंची पुलिस फुटेज में बदमाश तलाशती रही

By: Gaurav Sen

Published: 07 Jul 2019, 03:37 PM IST

ग्वालियर। कैशवैन के गार्ड को मारकर 8 लाख 28 हजार की लूट करने वालों बदमाशों पर ग्वालियर एसपी अमन सिंह राठौर ने 10 हजार का इनाम घोषित कर दिया है। वारदात के दूसरे दिन यानि रविवार को एसपी सहित क्राइम ब्रांच के ऑफिसरों ने घटना का नाट्यरूपांतरण कर साक्ष्य जुटाने की कोशिश की। वारदात का पूरा वीडियो भी पुलिस के पास हैा जिसमें साफ दिख रहा है कि बदमाशों ने सीधे आकर गार्ड रमेश तोमर को 2 फिट की दूसरी से ताबड़तोड़ गोलियां मारी।

जबकि कैश से भरा बैग कैशियर रीतेश पचौरी के पास था। रीतेश पीछे वाली सीट पर बैठा था हमला होते ही रीतेश कैश से भरा बैग वहीं छोडकऱ गाड़ी से उतरकर भाग खड़ा हुआ था। वहीं ड्राइवर छर्रे लगने से घायल है और अस्पताल में एडमिट है। पुलिस ने दोनों से पूछताक्ष की है पुलिस का कहना है कि कैशियर और ड्राइवर की बयानों में अंतर है। पुलिस गहन जांच कर रही है। संदेही को पकड़ा जा रहा है। जल्द ही हत्या और लूट के आरोपी उनकी गिरफ्त में होंगे।

यह भी पढ़ें : कैश वैन के गार्ड को गोली मारकर 8 लाख की लूट, ड्राईवर हुआ घायल कैशियर सही सलामत


पुलिस की लापरवाही
मात्र 800 मीटर दूर चिरवाई नाके पर पुलिस की मौजूदगी के बाद भी बदमाश कैशवैन के गार्ड की हत्या कर 16 सेकंड में 8.28 लाख रुपया लेकर भाग गए लेकिन पुलिस को भनक तक नहीं लगी। जब लोगों ने फोन करके बताया तबपुलिस मौके पर पहुंची। अगर पुलिस सक्रिय होती तो बदमाश वारदात करने की हिम्मत नहीं कर पाते। बदमाश इस बात से वाकिफ थे कि चिरवाई नाके पर तैनात डायल 100 में मौजूद पुलिसकर्मी आराम फरमा रहे होंगे।

यह भी पढ़ें : 800 मीटर दूर थी पुलिस फिर भी 16 सेकंड में हत्या करके कैश लूटकर भागे बदमाश

मेरे सामने गार्ड को मारी गोली तो मैं जान बचाकर भागा
मैं कैश लेकर वैन में बैठ पाया था कि बदमाशों ने हमला कर दिया। उन्होंने बिना कुछ कहे गार्ड को गोली मार दी। मैंने देखा तो जीप से उतरकर दौड़ लगा दी। रास्ते में कीचड़ में भी गिर पड़ा। बदमाश में मुझे भागते देखा तो मुझ पर भी पिस्टल तानी, लेकिन मैंने कीचड़ से उठकर ऑफिस के अंदर भागकर जान बचाई।
जैसा कि गोल पहाडिय़ा निवासी कैशियर रीतेश पचौरी ने पत्रिका को बताया


कैश वैन से लूट की तीसरी घटना

  • कैश वैन लूट की यह तीसरी घटना है। तीनों लूट में एक जैसा तरीका अपनाया गया है। संभावना है कि तीनों लूट में एक ही गैंग का हाथ हो सकता है। लूट ने पुलिस सुरक्षा पर सवाल खड़े कर दिए हैं।
  • 27 मई को डीडी नगर में बैंक में पैसा जमा करने वाली वैन से 2 लाख 89 हजार लूटे थे।
  • मई 2018 सिटी सेंटर में बैंक में घुसकर बदमाशों ने कैश वैन के गार्ड को गोली मार 26 लाख रुपए लूटे थे।

ऐसे हुई वारदात

  • दोपहर 12:30 बजे कैश कलेक्शन वैन शिवपुरी लिंक रोड पर इंस्टाकार्ट के सामने रुकी।
  • 12 बजकर 41 मिनट 30 सेकंड पर कैशियर रीतेश ने वैन में बैग रखा और सीट पर बैठ गया।
  • इसके एक सेकंड बाद 12 बजकर 42 मिनट 31 सेकंड पर बदमाशों की बाइक वहां आकर रुकी।
  • फिर 3 सेकंड बाद 12 बजकर 42 मिनट 34 पर सेकंड पर गार्ड को गोली मारकर बंदूक छीन ली।
  • इसके बाद 36 वे सेकंड में सीट पर रखा कैश से भरा बैग लूट लिया।
  • करीब 16 सेकंड में पूरी वारदात करने के बाद 12 बजकर 41 मिनट 46 सेकंड पर रफूचक्कर हो गए।
gwalior announced 10 thousand reward on cash van loot accused

कहकरगए थे शाम को जल्दी आ जाऊंगा
गार्ड रमेश तोमर 10 साल से गार्ड की नौकरी कर रहे थे। उनकी पत्नी शांति देवी के अलावा दो बेटे कृपाल और दिलीप हैं। बेटी की शादी हो चुकी है। रिश्तेदारों ने बताया सुबह 9 बजे ड्यूटी के लिए निकले थे। पत्नी से कहा था शाम को घर जल्दी आ जाऊंगा लेकिन घर उनका शव पहुंचा।

gwalior announced 10 thousand reward on cash van loot accused

गोल पहाडि़या निवासी कैशियर रीतेश पचौरी

Gaurav Sen
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned