नवनियुक्त अध्यक्ष का विरोध करने वाले नेता अब भाजपा संगठन के निशाने पर

फोन लगाकर दी जा रही समझाइश, नहीं मानने पर थमाया जा सकता है नोटिस

By: Mohit Panchal

Published: 16 May 2020, 11:36 AM IST

इंदौर। भाजपा में युवा नेतृत्व खड़ा करने के लिए संगठन सालभर से कसरत कर रहा है। पहले मंडल अध्यक्ष तो अब जिला अध्यक्षों की नियुक्ति उसी हिसाब से की। घोषणा होने पर बवाल मचा हुआ है, जिसको लेकर संगठन ने सख्ती शुरू कर दी है। विरोध करने वाले उनके निशाने पर है। चर्चा कर समझाया जा रहा है, लेकिन नहीं माने तो नोटिस तक थमाए जाएंगे।

प्रदेश भाजपा संगठन ने २४ जिला अध्यक्षों की घोषणा की और आधे प्रदेश में हंगामा मच गया। कई दिग्गज नेताओं को दरकिनार करते हुए युवाओं को मौका दिया गया। इस वजह से कई वरिष्ठ भाजपाई नाराज हो गए, जिसमें केंद्रीय मंत्री व सांसद भी शामिल हैं, लेकिन प्रदेश संगठन फैसले पर अडिग है, जबकि कुछ नेताओं ने दिल्ली तक अपनी बात पहुंचाई।

संगठन ने उन नेताओं को समझाना शुरू कर दिया है जो विरोध में खुलकर बयानबाजी कर रहे हैं। आग्रह किया जा रहा है कि कोई शिकायत है तो संगठन के नेताओं से बात करें, लेकिन सार्वजनिक तौर पर बात रखना ठीक नहीं। उनकी नाराजगी दूर करने के लिए अध्यक्ष को भी आशीर्वाद लेने भेजा जा रहा है। इसके बावजूद जो नहीं मानेगा, तो संगठन अपने हिसाब से निपटेगा।

सरकार में होंगे उपकृत
सूत्रों के मुताबिक कोरोना संकट और विधानसभा के उपचुनाव बाद सरकार के सारे राजनीतिक पदों को भरा जाएगा। मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान इस बार गलती नहीं करेंगे और संगठन भी होने नहीं देगा। इसके चलते अध्यक्ष के दावेदारों को उपकृत किया जाएगा। दौड़ से उन लोगों को बाहर रखा जाएगा, जो पिछली सरकार में सत्ता का स्वाद चख चुके हैं। ऐसे में बयानबाजी करने वालों की गुत्थी उलझ सकती है। इसलिए कई दावेदारों ने विरोध से खुद को दूर कर लिया।

BJP
Show More
Mohit Panchal Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned