भाजपा नेता ने थाने में पकड़ी टीआई की कॉलर, वायरल हुआ वीडियो

भाजपा नेता ने थाने में पकड़ी टीआई की कॉलर, वायरल हुआ वीडियो

Lalit kostha | Publish: Feb, 15 2018 01:09:27 PM (IST) Jabalpur, Madhya Pradesh, India

पुलिस अधिकारियों और भाजपा नेताओं में तनातनी, घमापुर थाने में भाजपा नेताओं के साथ हाथापाई

जबलपुर। घमापुर थाना में बुधवार को पुलिस ने भाजपा पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं से मारपीट कर दी। नाराज कार्यकर्ताओं ने हंगामा करते हुए थाने का घेराव कर दिया। घमापुर टीआई अनिल गुप्ता पर अपशब्द कहने, मोबाइल छीनने और मारपीट का आरोप लगाया। वहीं एक मामले का एक वीडियो वायरल हुआ है, जिसमें साफ साफ दिखाई दे रहा है कि भाजपा नेताओं ने टीआई के साथ अभद्रता करने की कोशिश की, इसके बाद पुलिस वालों ने उन्हें धक्का देकर बाहर निकाला था। जिसे अभद्रता का मामला करार दे दिया गया। तीन घंटे तक चले भाजपाइयों के प्रदर्शन के बाद आला अधिकारी बैकफुट पर आए। थाना प्रभारी गुप्ता व एसआई देवी सिंह तोमर को लाइन हाजिर करने का आदेश दिया, जब प्रदर्शन समाप्त हुआ।

READ MORE- 500 और 2000 के नोट जोड़कर रखने वालों के लिए बुरी खबर

ये है मामला
घमापुर पुलिस ने दुर्गा कॉलोनी निवासी शिक्षिका ममता सोनी के बेटे के खिलाफ छेड़खानी का मामला दर्ज किया। पुलिस उसे थाने ले गई। शिक्षिका पार्षद रमेश प्रजापति, भाजपा मुखर्जी मंडल अध्यक्ष पंकज मिश्रा, भाजयुमो मुखर्जी मंडल अध्यक्ष सुमित ठाकुर के साथ थाने पहुंची। सभी ने आरोप लगाते हुए कहा, मामले की जांच की मांग करने पर टीआई गुप्ता ने भाजपा नेताओं और शिक्षिका को अपशब्द कहे। इस पर कार्यकर्ताओं ने हंगामा शुरू कर दिया।

READ MORE- सोने की कीमत में भारी गिरावट, जेवरों की जमकर हो रही खरीददारी

धक्का-मुक्की कर खदेड़ा
हंगामा बढऩे पर पुलिस ने सभी को खदेड़ा। इस दौरान भाजयुमो मंडल अध्यक्ष सुमित गिरकर जख्मी हो गए। कार्यकर्ताओं ने पुलिस पर भाजपा मुखर्जी मंडल अध्यक्ष पंकज से भी मारपीट का आरोप लगाया। इस बीच भाजपा के सैकड़ो कार्याकर्ता थाने पहुंच गए। पुलिस के खिलाफ नारेबाजी कर प्रदर्शन शुरू कर दिया। सूचना पर एएसपी राजेश तिवारी, सीएसपी अखिल वर्मा, कई थाना प्रभारी पुलिस बल के साथ पहुंच गए।

READ MORE- प्रेमी जोड़ा गार्डन मिलने पहुंचा था, युवकों ने आग जलाकर करा दिए फेरे!

धरने की चेतावनी
प्रदर्शनकारियों को पुलिस अधिकारी टालने का प्रयास कर रहे थे। ढाई घंटे तक कोई निर्णय न होने पर प्रदर्शनकारियों ने थाने में धरना देने की चेतावनी दी। इसके बाद पुलिस अफसर ने टीआई व एसआई को लाइन हाजिर करने का आदेश दिया।

अपराधियों को दे रहे संरक्षण
एएसपी और सीएसपी ने प्रदर्शनकारियों से मामले की जांच करने के लिए कहा, पर वे टीआई पर कार्रवाई की मांग पर अड़े रहे। इस दौरान भाजपा नगर मंत्री संदीप जैन, भाजयुमो नगर अध्यक्ष रंजीत पटेल, पार्षद कल्लू बाबा, राम सोनकर, मोनू चौहान, अनिकेत चौरसिया भी वहां पहुंचे। पुलिस अधिकारियों और भाजपा नेताओं में कई बार थाने के भीतर और बाहर बाहर तनातनी की स्थिति बनी। भाजपा कार्यकर्ताओं ने टीआई पर अवैध धंधेबाजों व अपराधियों को संरक्षण देने व अवैध वसूली का भी आरोप लगाया।

READ MORE- लाखों का खानदानी हार चुरा ले गए चोर, नगदी पर भी हाथ किया साफ

सांसद के खिलाफ जताया आक्रोश-
प्रदर्शन में भाजपा का कोई बड़ा नेता नहीं पहुंचा तो कार्यकर्ता बिफर गए। गुरुवार को होने वाली सांसद राकेश सिंह की रैली में नहीं जाने की बात भी कही। प्रदर्शन में भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं के बीच गुटबाजी भी उजागर हुई।

इनका का क्या कहना है-
थाना प्रभारी गुप्ता ने मुझसे मारपीट की। मोबाइल छीना। धमकी दी कि जितने कार्यकर्ता बुलाना हो बुला लो, मनमर्जी करूंगा।
- पंकज मिश्रा, अध्यक्ष, भाजपा मुखर्जी मंडल
थाना प्रभारी गुप्ता ने अपशब्द कहे। मंडल अध्यक्ष ने जांच के लिए कहा तो टीआई ने धमकी दी। बेटे को जबरन फंसाया गया है।
- ममता सोनी, शिक्षिका
घमापुर पुलिस मनमानी कर रही है। अपराधियों को संरक्षण देने के साथ आमजन को परेशान किया जा रहा है।
- रमेश प्रजापति, पार्षद
जनप्रतिनिधियों ने मारपीट व अपशब्द कहने का आरोप लगाया है। टीआई अनिल गुप्ता और एसआई देवी सिंह तोमर को लाइन हाजिर कर जांच के आदेश दिए गए हैं।
- राजेश तिवारी, एएसपी

Ad Block is Banned