घर जमाई बनाने ले गए ससुराल वालों ने 4 साल नहीं कराई शादी, गुस्से में युवक ने होने वाली नाबालिग पत्नी को बनाया शिकार

परिवार वाले लड़की के बालिग होने का इन्तजार कर रहे थे। शादी हो रही देरी से युवक बहुत नाराज था। 12 जुलाई 2018 को उसने गुस्से में आकर अपनी होने वाले पत्नी के ऊपर चाक़ू से हमला कर दिया। जिसके कारण वह बुरी तरह घायल हो गयी।

जांजगीर. छत्तीसगढ़ के जांजगीर जिले के एक युवक को अपनी होने वाली पत्नी के ऊपर चाकुओं से हमला करने जुर्म में दोषी पाते हुए न्यायालय ने उसे 7 साल की सजा सुनाई है। युवक को घर जमाई बनाने के लिए उसके ससुराल वाले घटना के 4 साल पहले उसके घर से ले गए थे।

गर्भवती महिला को लेकर जा रहे चालक को आ गया चक्कर, डिवाइडर से टकराकर तालाब में गिरा एम्बुलेंस

जानकारी के अनुसार, जिले के श्यांग थाना क्षेत्र के करतला के चारमार गांव के रहने वाले एक युवक जय कुमार राठिया अपनी बेटी से शादी करवाने और घर जमाई बना कर रखने की बात कह कर एक परिवार उसे अपने घर ले गया। लेकिन 4 साल बीतने के बाद भी जब उन्होंने उसकी शादी नहीं करवाई क्योंकि उनकी लड़की नाबालिग थी।

परिवार वाले लड़की के बालिग होने का इन्तजार कर रहे थे। शादी हो रही देरी से युवक बहुत नाराज था। 12 जुलाई 2018 को उसने गुस्से में आकर अपनी होने वाले पत्नी के ऊपर चाक़ू से हमला कर दिया। जिसके कारण वह बुरी तरह घायल हो गयी।

घर वालों ने युवक के खिलाफ थाने में शिकायत दर्ज करवा दी। जिसके बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। अब इस मामले की सुनवाई करते हुए विशेष न्यायाधीश (एक्ट्रोसिटी) योगेश पारीक ने युवक को हत्या के प्रयास में 7 साल सश्रम कारावास व एक हजार रुपए अर्थदंड की सजा सुनाई है।

ये भी पढ़ें: पढ़ाने-लिखाने के बहाने नाबालिग को गांव से शहर ले आया पादरी और धमकी देकर महीनो तक किया दुष्कर्म

Karunakant Chaubey Desk/Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned