script डोटासरा की भजनलाल सरकार को चुनौती, कहाः घोटालों पर चिल्लाओ नहीं, हिम्मत है तो जांच करो और अंदर डालो | State Congress Committee President Govind Singh Dotasara challenges CM Bhajan Lal in Jodhpur | Patrika News

डोटासरा की भजनलाल सरकार को चुनौती, कहाः घोटालों पर चिल्लाओ नहीं, हिम्मत है तो जांच करो और अंदर डालो

locationजोधपुरPublished: Feb 04, 2024 11:54:43 am

Submitted by:

Rakesh Mishra

डोटासरा ने कहा कि भाजपा को पर्ची सरकार इसलिए कहते है, क्योंकि न तो सीएम और न ही मंत्री खुद से कोई निर्णय ले सकते हैं। अच्छा है भजनलाल शर्मा सीएम बन गए, सवाल यह है कि इस बात के लिए जनता ने मेंडेट दिया था क्या?

govind_singh_dotasara.jpg
कांग्रेस नेता राहुल गांधी जिन पांच मुद्दों को लेकर भारत जोड़ो न्याय यात्रा कर रहे हैं उसको लेकर प्रदेश कांग्रेस कमेटी की ओर से अभियान चलाया है। सभी 25 लोकसभा क्षेत्र में जाएंगे। 1 तारीख से बीकानेर से शुरूआत की अब नागौर जा रहे हैं। इन पांच मुद्दों में युवा, महिला, रोजगार, श्रमिक और भागीदारी शामिल है। यह बात प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने रविवार को जोधपुर में पत्रकारों से बातचीत में कही। उनके साथ प्रदेश कांग्रेस प्रभारी सुखजिंदर सिंह रंधावा और नेता प्रतिपक्ष टीकाराम जूली भी प्रेस से रूबरू हुए। उन्होंने ईआरसीपी, पर्ची सरकार, ट्रांसफर पॉलिसी और भ्रष्टाचार को लेकर लग रहे आरोपों पर जवाब दिए।
एनडीए सरकार का काम जीरोः डोटासरा

डोटासरा ने कहा कि हर दिन घोटालों की बयानबाजी कर रहे है। सरकार में हो तो चिल्ला क्यों रहे हो, हिम्मत है तो जांच करो और अंदर डालो, लेकिन ऐसा करेंगे नहीं, छह महीने बाद इनको पता चलेगा, टांगे बजेगी, कोई पूछने वाला नहीं होगा। आरोप तो कोई लगा दे, राजस्थान के सीएम भजनलाल का पहला फैसला क्या था, भरतपुर में कोई भ्रष्टाचार हुआ उसमें एफआर लगा दी। उन्होंने कहा कि एनडीए सरकार का काम जीरो है। ईडी, इनकम टैक्स व सीबीआई का दुरुपयोग चल रहा है, नफरत का माहौल है। हेमंत सोरेन को ईडी ले गई, केजरीवाल को नोटिस दे रहे हैं।
यह भी पढ़ें

राज्यसभा चुनाव के लिए कांग्रेस का नया प्लान, केंद्रीय नेताओं की आ सकती है मौज

हार की जिम्मेदारी मेरी व प्रदेश अध्यक्ष की - रंधावा
प्रदेश प्रभारी रंधावा ने कहा कि हर लोकसभा में घूम रहे हैं। हमारा मकसद लोकसभा चुनाव में कैंडीडेट एक ही न हो, बल्कि हर जगह 4 से 5 जने हो। विधानसभा चुनाव में हार की जिम्मेदारी बतौर प्रभारी मेरी व प्रदेश अध्यक्ष डोटासरा की है, हम स्वीकार करते हैं। नेता प्रतिपक्ष जूली ने कहा कि सदन को बेहतर तरीके से चलाने पर फोकस रहेगा।

ट्रेंडिंग वीडियो