Makar sankranti : छतों पर डटेगी पतंगबाजों की फौज, अंगुलियों के इशारे पर आसमान में होगी जंग

Zuber Khan

Publish: Jan, 13 2018 06:54:12 (IST) | Updated: Jan, 13 2018 08:16:03 (IST)

Kota, Rajasthan, India

शहर में मकर संक्रांति रविवार को मनाई जाएगी। इस मौके पर जहां एक ओर दान पुण्य व धार्मिक आयोजन होंगे वहीं आसमान में पतंगों की जंग होगी।

कोटा .शहर में मकर संक्रांति रविवार को मनाई जाएगी। इस मौके पर दान पुण्य व अन्य आयोजन होंगे। अनुष्ठान किए जाएंगे। तिल गुड़, खिचड़े का भगवान को भोग लगाया जाएगा। मंदिरों में विशेष आयोजन होंगे। भजन-कीर्तन व मनभावन शृंगार किए जाएंगे। धर्मप्रेमी व अन्य संगठनों की ओर से भंडारों के आयोजन होंगे। गायों को चारा डाला जाएगा। आचार्य धीरेन्द्र के अनुसार मकर राशि में सूर्य का प्रवेश दोपहर 1.45 बजे होगा। सूर्योदय से ही इसका पुण्यकाल रहेगा। इसमें लोग दानपुण्य कर सुख-समृद्धि की कामना करेंगे। एक ओर दानपुण्य का दौर चलेगा, वहीं आसमां रंग बिरंगी पतंगों से अटा नजर आएगा।

 

Read More: मकर संक्रांति 2018: किस राशि को फल और किस राशि को मिलेगा कष्ट...जानिए खास रिपोर्ट में

जमकर खरीदी पतंगें

संक्रांति के एक दिन पहले बाजारों में मकर संक्रांति की धूम नजर आई। लोगों ने जमकर पतंगें खरीदी। शहर में जगह जगह सजी डोर-पतंग की दुकानों पर सुबह से ही खरीदारी का दौर शुरू हो गया। नन्हें मुन्ने, बच्चे, युवा पतंग खरीदने पहुंचे। दुकानदारों की मानें तो इस वर्ष कई तरह की वैराइटी वाली पतंगें बाजार में मिल रही हैं। इनमें दो-पांच रुपए से लेकर 60 से 70 रुपए तक की पतंगें हैं। इनमें देशभक्ति का संदेश देती, राजनेताओं, फिल्मी व खेल जगत के सितारों के चित्रों व कार्टून बेस्ड पतंगें लोगों को लुभा रही है।

 

Read More: Makar Sakranti: कुछ शब्द ऐसें हैं जो पूरे साल में सिर्फ मकर सक्रांति के दिन ही लोगों की जुबान पर होते है, जानिए इन्हे...

इस बार भैंसे की सवारी और खप्परधारी

आचार्य धीरेन्द्र ने बताया कि सूर्य मकर राशि में प्रवेश दोपहर 1.45 बजे होगा। इस समय ज्येष्ठा नक्षत्र व धु्रव नाम का योग रहेगा। गर करण रहेगा। संक्रांति का गमन दक्षिण की ओर है। इसकी दृष्टि नैऋत्य कोण में रहेगी। यह भैंसे पर सवार होकर आएगी, उपवाहन उष्ट्र है। यह श्याम वस्त्र धारण किए हुए है। खप्परधारी है और दही का भक्षण कर रही है। यह तीस मूहर्ती हैं और बैठी हुई है। संक्रांति का वास वैश्य के घर है। मकर संक्रांति का यह रूप लोह जनित वस्तुओं, मशीनरी उपकरण, अफीम तिल कालीमिर्च, उड़द जीरा,रसायन और तरल पदार्थों, सूखा मेवा, काजू बादाम व सफेद रंग की वस्तुओं के भावो में तेजी रहेगी। मकर राशि में सूर्य के प्रवेश के समय शुक्र व केतु भी रहेंगे। इन पर मंगल की दृष्टि रहेगी। इससे देश के अपने ही लोग विरोधी गतिविधियों में शामिल रहेंगे। सत्ताधारी वर्ग चिंतित रहेंगे।

 

Read More: Human Angle Story: Video: बेटे को देख मां की अंतरात्मा का दर्द छलका, बोली तु असी करगो या तो कदी सोची भी न छी

राशियों पर प्रभाव

धनु, कर्क व कुंभ राशि वाले लोगों के लिए शुभ, वृश्चिक, सिंह व मेष राशि वाले जातकों के लिए विशेष शुभ फलदायक रहेगी। तुला मिथुन व मीन राशि के जातकों के लिए मध्य फलदायक तथा कन्या, वृष व मकर राशि के जातकों के लिए परेशानीदायक हो सकती है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned