पुलिस से नाराज विधायक मदन दिलावर ने घेरा थाना, सीआई पर लगाया अभद्रता का आरोप

आरोप है कि रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए रामगंजमंडी विधायक मदन दिलावर ( Madan Dilawar ) ने फोन किया तो उनके साथ भी अभद्रता कर दी गई।

By: abdul bari

Published: 01 Jul 2019, 02:15 AM IST

कोटा.

पुलिस कर्मियों की लापरवाही के कारण रविवार रात एक बार फिर महकमे को जनता के आक्रोश का सामना करना पड़ा। रामजानकी मंदिर के पास सरेराह छेड़छाड़ के बाद जब छात्रा रिपोर्ट दर्ज कराने महावीर नगर थाने पहुंची तो उसे पुलिस कर्मियों ने बैरंग लौटा दिया। आरोप है कि रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए रामगंजमंडी विधायक मदन दिलावर ( Madan Dilawar ) ने फोन किया तो उनके साथ भी अभद्रता कर दी गई। जिसके बाद भाजपा विधायकों, जिलाध्यक्ष और कार्यकर्ताओं ने तीन घंटे तक थाने पर प्रर्दशन किया।


रविवार दोपहर को बीएससी द्वितीय वर्ष में अध्ययनरत एक छात्रा महावीर नगर राम जानकी मंदिर के पास से गुजर रही थी, तभी मुहल्ले के कुछ लड़कों ने उससे सरेराह छेड़छाड़ शुरू कर दी। छात्रा ने जब उनका विरोध किया तो वह खुलेआम अभद्रता पर उतारू हो गए। दोपहर में करीब तीन बजे छात्रा मामले की शिकायत करने महावीर नगर थाने पहुंची, लेकिन उसकी रिपोर्ट दर्ज कर कार्रवाई करने के बजाय पुलिस कर्मियों ने उसे टरका दिया। कार्रवाई न होती देख छात्रा ने अपने पिता को इसकी जानकारी दी और उन्होंने रामगंजमंडी विधायक मदन दिलावर को पूरा वाकया बताया।

विधायक का आरोप है कि जब उन्होंने थाने फोन किया तो सीआई ने उन्हें भी टका सा जवाब दे दिया। विधायक से अभद्रता का आरोप विधायक मदन दिलावर का आरोप है कि छात्रा जब वापस अपने कमरे पर पहुंची तो लड़कों ने उसे फिर से परेशान करना शुरू कर दिया। जानकारी मिलने के बाद वह शाम को करीब सात बजे कार्रवाई कराने के लिए थाने पहुंचे तो सीआई ने उनसे फिर अभद्रता कर दी। जिसके बाद वह कार्यकर्ताओं के साथ थाने के गेट पर धरना देकर बैठ गए। थाने में विधायक के प्रदर्शन की जानकारी राउंड पर निकली सीओ अमृता दुहन को मिली तो वह सीधे थाने पहुंच गई। करीब तीन घंटे समझाइश करने के बाद विधायक का गुस्सा ठंडा पड़ा। सीओ ने छात्रा से छेड़छाड़ की तत्काल रिपोर्ट दर्ज करा कार्रवाई शुरू कर दी।

खो गई तहरीर

कार्रवाई की शर्त पर मामला ठंडा हुआ था कि जैसे ही सीओ ने छात्रा की ओर से दी गई तहरीर पर रिपोर्ट दर्ज करने के निर्देश दिए तो पता चला कि थाने में उसकी दी गई शिकायत ही गुम हो गई। विधायक का पारा एक बार फिर चढ़ गया और उन्होंने ऐसे लापरवाह पुलिस कर्मियों को तत्काल थाने से हटाने की मांग कर डाली। सीओ ने मातहतों की लापरवाही और अभद्रता के लिए उनके कई मर्तबा माफी मांगी तब जाकर विधायक का विरोध खत्म हुआ।


पहले से ही भड़के हुए थे विधायक


सीओ से थाने पर तैनात स्टाफ और सीआई की शिकायत करते हुए विधायक मदन दिलावर ने बताया कि रविवार सुबह उनके मोबाइल पर पार्टी से जुड़े संगठनों को लेकर आपत्तिजनक मैसेज आए थे। मैसेज करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए वह थाने आए तो सीआई ने कार्रवाई करने के बजाय उन्हें सबूत देने की बात कह कर टाल दिया। वहीं शाम को छेड़छाड़ का मामला होने के बाद वह और भड़क गए और समर्थकों के साथ थाने का घेराव कर डाला।

थाने के घेराव की सूचना मिलते ही विधायक संदीप शर्मा भी मौके पर पहुंच गए और आरोपित पुलिसकर्मियों को थाने से हटाने पर अड़ गए। उन्होंने पुलिस अधिकारियों को चेतावनी दी कि छात्रा के साथ कुछ भी अप्रिय हुआ तो पुलिस कर्मियों की खैर नहीं है।


इनका कहना है..
छात्रा से छेड़छाड़ और विधायक के फोन पर आपत्तिजनक मैसेज आने के मामले में रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। दोनों ही मामलों को गंभीरता से ले कार्रवाई में जुटे हैं।

अमृता दुहन, सीओ चतुर्थ

 

abdul bari
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned