एनडीआरएफ ने बाढ़ से निपटने के लिए किया मॉकड्रिल

एनडीआरएफ ने बाढ़ से निपटने के लिए किया मॉकड्रिल

Abhishek Gupta | Publish: Jun, 14 2018 10:45:33 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

फूलबेहड़ के सरवा टापर में सेना के जवानों व अधिकारियों ने एक माकर्डिल किया।

लखीमपुर-खीरी. खीरी जिले में बारिश के दौरान आने वाली बाढ़ के समय लोगों को किस तरह से बचाना है, इसका एक अभ्यास सेना के जवानों ने किया। फूलबेहड़ के सरवा टापर में सेना के जवानों व अधिकारियों ने एक माकर्डिल किया। शारदा नदी पर जाकर इस अभ्यास को किया गया। साथ ही प्रभावित लोगों का कैसे इलाज होता है, यह भी अपने अभ्यास में दौरान प्रशिक्षण लिया गया।

फूलबेहड़ के मिलपुरवा में गुरुवार की सुबह 10 बजे से पुलिस व प्रशासन के बड़े अधिकारियों का पहुंचना शुरू हुआ, तो वहीं एनडीआरएफ की टीम व पीएसी भी डेढ सेक्सन पहुंची। वहीं करीब 11 बजे डीएम शैलेंद्र कुमार सिंह व एसपी रामलाल वर्मा भी पहुंचे और सारी व्यवस्थाएं का जायजा लिया। यह माकर्डिल यहां के लोगों के लिए नया था। इसी कारण इसे देखने वालों की भी भीड़ जमा हो गई। इस अभ्यास के लिए पांच टाक्स फोर्स बनाएं गए। पुलिस टीम में फूलबेहड़ पुलिस, खीरी पुलिस, कोतवाली सदर पुलिस, फरधानपुलिस, शारदानगर की टीमे मुस्तैद रही। साथ ही प्रशासन टीम में एसडीएम सदर, एसडीम निघासन, एसडीएम धौराहरा एएसपी प्रशांत कुमार वर्मा तहसीलदार सदर राजेश चंद्र, तहसीलदार निघासन, तहसीलदार धौराहरा भी मौजूद रहे। राजस्व टीम में कानूनगो अंकित अवस्थी, कानूनगो योगेश बाजपेई क्षेत्र के सभी लेखपाल भी मौजूद रहे।

चिकित्सीय सेवा के लिए फूलबेहड़ सीएचसी की टीम मौजूद रही। फायर सर्विस की चार गाड़ियां मुस्तैदी के साथ तैनात थी, तो वहीं होमगार्ड कमांडेंट भी अपने फोर्स के साथ जमे थे। इसके साथ ही नगर पालिका की गाड़ी व जेसीबी भी खड़ी थी। डीएम व एसपी ने नदी पर जाकर वहां का पूरा हाल देखा। उसके बाद वहां खड़े मोटर बोर्ड की जानकारी भी पीएसी के जवानों ने नदी के किनारे मोटर बोर्ड को खड़ा किया। उसके बाद डीएम और एसपी ने मोटर बोर्ड पर बैठकर नदी का एक राउंड लिया। उसके बाद डीएम ने नदी के पास बसे कुछ लोगों से वार्ता की पूछा कि बाढ़ आने पर आप लोगों को भी कुछ प्रयास करने चाहिए। बाढ़ आने पर आप लोगों जब तक प्रशासन को फोन करेंगे प्रशासन के लोग आएंगे कुछ तो देर हो सकती हैं। इससे बचने के लिए आज यह माकर्डिल से आप लोगों को यह जानकारी दी गई है कि जब तक बचाव राहत के लिए प्रशासन कुछ करें तब तक आप लोग इस तरीके से बचाओ राहत कर सकते हैं। इसके बाद डीएम ने ग्राम प्रधान के बारे में जानकारी की। ग्राम प्रधान अभय नारायण ने डीएम से कहां कि शासन स्तर पर इस बार कटान रोकने पर काम हुआ और काम इतनी तेजी से हुआ जिसकी हम लोगों को उम्मीद नहीं थी। काम 15 दिन पहले पूरा हो गया अगर काम इतनी तेजी से ना होता तो फिर इस बार भी हम लोग कटान की चपेट में आ सकते थे। प्रधान ने कहा कि करीब 200 परिवार दूसरी जगह बसे हुए हैं। उनके आवास शौचालय नहीं बन पा रहे हैं। जिसके बाद डीएम ने कहां कि इन्हें मुख्यमंत्री आवाज योजना में सम्मिलित किया जाएगा। माकर्डिल के वक्त तमाम ग्रामीण और आस पड़ोस के गांवों के ग्रामीण यह नजारा देखने के लिए जमे रहे।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned