इस बचकानी-सी वजह पर मेरठ में हिन्दू-मुस्लिम आ गए आमने-सामने, फिर हुआ यह...

इस बचकानी-सी वजह पर मेरठ में हिन्दू-मुस्लिम आ गए आमने-सामने, फिर हुआ यह...

Sanjay Kumar Sharma | Updated: 04 Oct 2018, 03:22:04 PM (IST) Meerut, Uttar Pradesh, India

जमकर हंगामे के बाद साम्प्रदायिक तनाव,फोर्स तैनात

 

मेरठ। घर पर हमला करने के मुस्लिम समुदाय के आरोपियों को पुलिस द्वारा पकड़ने पर मेरठ के ब्रह्मपुरी थाना क्षेत्र में बुधवार की देर रात जमकर हंगामा हुआ। इससे क्षेत्र में सांप्रदायिक तनाव व्याप्त हो गया। मामला बिगड़ने पर पुलिस फोर्स ने हालात को काबू में किया। इस दौरान पुलिस को हल्का लाठी चार्ज करना पड़ा।

यह भी पढ़ेंः फायरब्रांड भाजपा विधायक संगीत सोम ने अपने घर हुए हमले पर दिया बड़ा बयान, इस इस्लामिक संगठन की आेर किया इशारा

पार्क में कार खड़ी करने को लेकर कहासुनी

माधवपुरम सेक्टर तीन का रहने वाला विपिन कार चलाने का काम करता है। मंगलवार को पार्क में कार खड़ी करने को लेकर उसकी अपने पड़ोसी जुबेर से कहासुनी हो गई थी। उस समय लोगों ने मामला शांत करा दिया, लेकिन बुधवार देर रात जुबेर ने अपने साथियों के साथ मिलकर विपिन के घर पर हमला बोल दिया। इस झगड़े में विपिन के साथ ही उसके परिवार की तीन महिलाएं घायल हो गईं। इससे क्षेत्र में सांप्रदायिक तनाव फैल गया। भाजपाइयों ने इस घटना के विरोध में जमकर हंगामा किया तो पुलिस ने रात में ही आरोपी जुबेर, जाकिर और छोटू को पकड़ लिया।

यह भी पढ़ेंः अफगानिस्तान से आने वाली हवा पारे को करेगी धड़ाम, मौसम वैज्ञानिकों ने कहा- इस तारीख से शुरू हो जाएंगे सर्दियों के दिन

मुस्लिम समुदाय के लोगों ने किया हंगामा

पुलिस ने उनकी पिटाई कर दी तो मुस्लिम समुदाय के लोगों ने देर रात मेरठ के भूमिया पुल पर हंगामा करते हुए जाम लगा दिया। इससे पुलिस के हाथ-पांव फूल गए। मुस्लिम समुदाय के लोगों का कहना था कि पुलिस ने एकपक्षीय कार्रवाई की है। पुलिस को दोनों पक्षों पर कार्रवाई करनी चाहिए थी। जाम लगाने की सूचना पर सीओ कोतवाली दिनेश शुक्ला और सीओ ब्रह्मपुरी हरिमोहन भारी पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। इस दौरान पीएसी को भी बुला लिया गया। पुलिस ने जाम खोलने के लिए कहा तो लोगों ने मना कर दिया, लेकिन किसी तरह से सीओ ने लोगों को समझा-बुझाकर जाम खुलवाया। एहतियात के तौर पर क्षेत्र में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। एसपी सिटी रणविजय सिंह का कहना है कि आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। शहर की फिजां बिगाड़ने वालों में से किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा।

पहले भी बिगड़ चुका है माहौल

मेरठ में पहले भी इसी क्षेत्र में सांप्रदायिक माहौल खराब हो चुका है। इसके बाद भी पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी सतर्क नहीं हुए। पिछले चार महीने में सांप्रदायिक टकराव की यह तीसरी घटना है।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned