Corona virus पैट डॉग में दिख रहे हैं ये वाले लक्षण तो तुरंत लें चिकित्सक की सलाह

चिड़ियाघर में दो शेरनियों में कोरोना Corona virus संक्रमण मिलने के बाद बढ़ रही पैट डॉग की चिंता, डॉक्टर्स बोले मानव वायरस नहीं करते जानवरों पर असर फिर भी सावधानी जरूरी चिकित्सक से लें सलाह

By: shivmani tyagi

Updated: 09 May 2021, 03:36 PM IST

पत्रिका न्यूज नटेवर्क

मेरठ ( meerut news ) आंध्र प्रदेश के हैदराबाद स्थित नेहरू जूलोजिकल पार्क में आठ एशियाई शेर कोरोना संक्रमित पाये जाने और यूपी के इटावा के लायन सफारी में दो शेरनियों के कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद अब यह आशंका जताई जा रही है कि कोरोना वायरस ( COVID-19 virus ) जानवरों को भी संक्रमित कर रहा है। ऐसे आगर आपके पालतू जानवर ( Pet Dog ) में भी ऐसे काेई लक्षण आपकाे देखने काे मिलते हैं ताे तुरंत चिकित्सक की सलाह लेनी चाहिए।

यह भी पढ़ें: नकली Remdesivir इंजेक्शन बेचते पकड़े गए शाहरुख और सलमान खान, गैंग में पूर्व मंत्री का भांजा भी शामिल

दरअसल, 29 अप्रैल को सेंटर फॉर सेल्युलर एंड मॉलेक्युलर बॉयोलाजी ने नेहरू जूलोजिकल पार्क के अधिकारियों को जानकारी दी थी कि आरटी-पीसीआर टेस्ट में आठ शेर कोरोना ( Corona virus )
पॉजिटिव मिले हैं। आरटीपीसीआर टेस्ट के बाद उन पर नजर रखी जा रही है। जानवरों में कोरोना लक्षण पाए जाने पर वरिष्ठ पशु चिकित्सक केके राणा का कहना है कि अभी शेरों की सीसीएमबी से आरटीपीसीआर रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है। उसके बाद ही कुछ कहा जा सकता है। उन्होंने कहा कि टेस्ट के नमूने उन्नत प्रयोगशालाओं में जांच के बाद ही कहा जा सकता है कि शेरों में पाए जाने वाला कोरोना वायरस हवा के माध्यम से आया या फिर और किसी माध्यम से। उन्होंने बताया कि ऐसे में माना जा रहा है कि आसपास रह रहे लोगों के संपर्क में आने से इन शेरों को संक्रमण हुआ होगा। संक्रमण कैसे हुए यह ताे जांच का विषय है लेकिन इस घटना ने यह साफ कर दिया है कि संक्रमण से पशु भी अछूते नहीं हैं।


पशुओं और मनुष्यों में होता है अलग वायरस
शेरों के कोरोना पॉजिटव होने के बाद बहुत से पशु प्रेमियों में जो कि पशु पालते हैं उत्सुकता है कि कहीं उनके पशु या डॉगी भी न संक्रमित हो जाए। इस बारे में डाक्टर केके राणा कहते हैं कि पशु और मनुष्य के वायरस एक दूसरे को कम ही इंफेक्ट करते हैं। इसकी वजह यह है कि जानवरो में पाए जाने वाले वायरस की प्रवृत्ति मनुष्य को बीमार करने वाले वायरस की प्रवृत्ति से अलग है। उन्होंने बताया कि जैसे टीबी जैसी बीमारी मनुष्य और जानवरों दोनों में पाई जाती है लेकिन दोनों को प्रभावित करने वाले वायरस अलग-अलग होते हैं। इसी तरह कोरोना वायरस भी यह अलग-अलग हाे सकते हैं लेकिन उनका यह भी कहना है कि अभी यह वायरस नया है इसलिए विष्लेक्षण के बद ही किसी सही सही नतीजे पर पहुंचा जा सकता है। इसलिए अब जरूरी है कि आगर आपको अपने पैट्स में किसी भी तरह के लक्षण दिखाई देते हैं ताे आपको चिकित्सक से सलाह लेनी चाहिए।

ये लक्षण हाे सकते हैं संकेत

अगर इन दिनों आपका डॉगी सुस्त रहता हो। खाना-पीना बंद कर दिया हो। दस्त लग रहें हों या फिर बुखार रहता हो। इसके अलावा अगर वह अधिक उग्र हो रहा हो तो उसको तुरंत पशु चिकित्सक के पास लेकर जाएं। जरूरी नहीं कि ये कोरोना के लक्षण ही हों लेकिन वर्तमान समय में सावधानी ही बचाव है।

यह भी पढ़ें: विदेशों से आए ऑक्सीजन प्लांट इंस्टोलेशन में रात दिन लगे हैं एनडीआरएफ के जवान

यह भी पढ़ें: यूपी में आंशिक कोरोना कर्फ़्यू 17 मई तक बढ़ाया गया

यह भी पढ़ें: Corona Curfew Extension : यूपी 17 मई तक बढ़ाया गया कोरोना कर्फ्यू, लागू रहेंगी ये पाबंदियां

COVID-19 virus Corona virus
Show More
shivmani tyagi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned