एयरपोर्ट पर सफाई व्यवस्था सुधारने से 69 फीसदी कम हो सकती है बीमारियां- स्टडी

भले ही प्लेन को अपनी बीमारी का कारण मानते हैं लेकिन सच तो ये है कि प्लेन से कही ज्यादा गंदगी ग्राउंड पर होती है।

नई दिल्ली: कोरोनावायरस के तांडव से बचने के लिए हाईजीन पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। टीवी, सोशल मीडिया बिलबोर्ड हर जगह 20 सेकेंड तक हाथ धोने और किसी भी चीज को छूने पर सैनेटाइजर यूज करने की बात कही जा रही है। लोगों को ट्रैवेल करने से रोका जा रहा है। ऐसे टाइम पर एक University of Cyprus के एक अध्ययन में दावा किया गया है कि अगर दुनियाभर के 10 सबसे बड़े एयरपोर्ट्स पर हैंडवाश फैसिलिटी और इसके बारे में जागरूकता बढ़ा दी जाए तो हम गंदगी की वजह से होने वाली 37 फीसदी बीमारियों को कम कर सकते हैं। इसके साथ ही कहा गया है कि अगर ये सभी एयरपोर्टस पर लागू कर दी जाए तो बीमारियां 69 फीसदी तक कम हो सकती है। खास बता ये है कि ये अध्ययन कोरोनावायरस के प्रकोप से पहले ही सामने आ चुकी थी।

बदलने वाला है बैंकों के खुलने-बंद होने का, RBI जल्द कर सकती है ऐलान

सिक्योरिटी ट्रे है बीमारी फैलाने का सबसे बड़ा जरिया-

इस स्टडी में ये भी कहा गया है कि हम भले ही प्लेन को अपनी बीमारी का कारण मानते हैं लेकिन सच तो ये है कि प्लेन से कही ज्यादा गंदगी ग्राउंड पर होती है। उदाहरण के लिए कोरोना के रेफरेंस में सिक्योरिटी ट्रे कोरोना फैलाने का सबसे बड़ा जरिया है क्योंकि इन्हें बिना सेनेटाइज किये बार-बार इस्तेमाल किया जाता है और इसमें जूते से लेकर मोबाइल, आईपैड और पासपोर्ट, बेल्ट दैसी चीजें रखी जाती है यानि प्लास्टिक सरफेस वाली ऐसी चीजें जिनमें कोरोनावायरस पनपने का खतरा ज्यादा होता है।

Bank of Baroda कस्टमर्स के लिए खुशखबरी, 3 महीने तक ऑनलाइन बैंकिंग होगी फ्री

Emory University in Atlanta, Georgia के शोधकर्ताओं ने पाया कि 10 में से 8 लोग जो किसी बीमार के आस-पास या आमने-सामने बैठते हैं वो बीमार हो जाते हैं । ऐसे में बेहतर हो कि आप फ्लाइट मे विंडो सीट ले। इसके अलावा पब्लिक प्लेस पर खांसते या छीकते समय रूमाल, टिश्यू का इस्तेमाल करें। इस अध्ययन में प्लेन की साइड सीट्सस को सबसे संक्रमण के लिहाज से सबसे खतरनाक बताया गया है। इसके साथ ही हमे एयरपोर्ट पर पर्सनल हाइजीन के साथ वहां ग्राउंड पर इस्तेमाल होने के तरीकों को बदलने की बात कही गई है। भारत के संदर्भ में भी यही बात लागू होती है क्योंकि हमारे एयरपोर्ट पर भीड़ के साथ ही काम करने के तरीके पुराने जमाने के हैं जिन्हें फिलहाल बदलने की जरूरत है।

Corona virus
Pragati Bajpai
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned