Corona की दवा पर घिरे Baba Ramdev, अब महाराष्ट्र सरकार ने कहा- बिना जांच के नहीं बेच सकते Coronil

  • पतंजलि ( Patanjali ) की Corona दवा पर उठ रहे सवाल
  • महाराष्ट्र सरकार ( Maharashtra Government ) ने कहा- फेक दवा को राज्य में बेचने की इजाजत नहीं
  • मंगलवार को योग गुरु बाबा रामदेव ( Yog Guru Baba Ramdev ) ने कोरोना मरीजों के लिए coronil दवा की थी लॉन्च

नई दिल्ली। पूरा देश इन दिनों कोरोना वायरस ( coronavirus in India ) की चपेट में है। आलम ये है कि लॉकडाउन ( Lockdown ) के बावजूद देश में यह महामारी तेजी से फैलता जा रहा है। इसी बीच योग गुरु बाबा रामदेव ( Yog Guru Baba Ramdev ) ने कोरोना ( COVID-19 Medicine ) की दवा बनाने का दावा किया है। लेकिन, इस दवा को लेकर बाबा रामदेव लगातार घिरते जा रहे हैं। पहले आयुष मंत्रालय ( Ayush Ministry ) ने कहा कि पहले दवा की जांच करानी होगी। वहीं, अब महाराष्ट्र सरकार ( Maharashtra Government ) ने भी साफ कह दिया है कि बिना क्लीनिकल ट्रायल ( Clinical Trial ) के उनकी दवा को बेचने की अनुमति नहीं दी जाएगी।

'महाराष्ट्र सरकार ने पतंजलि को दी चेतावनी'

कोरोना वायरस ( COVID-19 ) को लेकर पतंजलि की दवा कोरोनिल ( CORONIL ) पर बहस छिड़ गई है। महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ( Anil Deshmukh ) ने चेतावनी देते हुए कहा कि फेक दवा को महाराष्ट्र में बेचने की इजाजत नहीं दी जाएगी। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा, 'नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेस जयपुर ये पता लगाया जाएगा कि क्या पतंजलि ने कोरोनिल दवा के लिए क्नीनिकल ट्रायल्स किए थे या नहीं? उन्होंने कहा कि मैं योग गुरु बाबा रामदेव को कड़ी चेतानवी देता हूं कि महाराष्ट्र सरकार ऐसी नकली दवाई बेचनी की इजाजत बिल्कुल नहीं देगी।' यहां आपको बता दें कि पतंजलि आयुर्वेद की कोरोना की दवा पर कई लोगों ने सवाल उठाए हैं।

आयुष मंत्रालय ने लगाई रोक

इससे पहले बुधवार को आयुष मंत्रालय ( Ayush Ministry ) ने भी इस दवा पर संज्ञान लिया। आयुष मंत्री श्रीपद नाइक ( Shripad Naik ) ने कहा कि बाबा रामदेव ने देश को नई दवा दी, ये अच्छी बात है। लेकिन, पहले इसकी जांच करानी होगी। उसके बाद ही आगे कुछ तय किया जाएगा। वहीं, आयुष मंत्रालय ने दवा ( Coronil Medicine For Coronavirus ) के प्रचार-प्रसार पर रोक लगा दी। मंत्रालय का कहना है कि ICMR के परमिशन के बिना पंतजलि ऐसा दावा कैसे कर सकती है। मंत्रालय ने इस पूरे मामले को लेकर पंतजलि आयुर्वेद से जानकारी मांगी है। यहां आपको बता दें कि मंगलवार को पतंजलि ने कोरोना मरीजों के 'कोरोनिल' नामक दवा लॉन्च की थी। इसमें दावा किया गया है कि इस दवा के सेवन करने से पांच से 14 दिनों में कोरोना का मरीज पूरी तरह ठीक हो जाएगा। अब देखना ये है कि सरकार की ओर से इस दवा को लेकर फाइनली क्या प्रतिक्रिया आती है।

Kaushlendra Pathak Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned