तिहाड़ की उसी सेल में रहेंगे पी चिदंबरम जहां रहा था बेटा कार्ति

तिहाड़ की उसी सेल में रहेंगे पी चिदंबरम जहां रहा था बेटा कार्ति

  • पी चिदंबरम पहुंचे तिहाड़ जेल, सेल नंबर 7 में रहेंगे
  • जेल मैनुअल के हिसाब से दी जाएंगी सुविधाएं
  • सेल नंबर 7 में ही रखे गए थे कार्ति चिदंबरम

नई दिल्ली। INX मीडिया केस में बृहस्पतिवार को पूर्व गृह मंत्री पी चिदंबरम को तिहाड़ जेल भेज दिया गया। राउज एवेन्यू कोर्ट के स्पेशल जज अजय कुमार कुहार ने चिदंबरम को 19 सितंबर तक 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजने का आदेश दिया। हालांकि तिहाड़ जेल की जिस सेल में पी चिदंबरम को रखा गया है, वहां पर उनके बेटे कार्ति चिदंबरम भी रह चुके हैं। इसके अलावा भी तिहाड़ में चिदंबरम को कुछ विशेष सुविधाएं देने की बात कही गई है।

INX मीडिया केसः तिहाड़ जेल में पी चिदंबरम को मिलेंगी विशेष सुविधाएं

राउज एवेन्यू कोर्ट द्वारा तिहाड़ भेजे जाने के आदेश के बाद पी चिदंबरम ने उनसे जेल में विशेष सुरक्षा देने और स्पेशल सेल देने की अर्जी डाली थी। इसके बाद अदालत ने उन्हें इसकी अनुमति देते हुए तिहाड़ जेल को निर्देश दे दिए। अब चिदंबरम को तिहाड़ जेल की सेल नंबर 7 में रखा गया है।

सेल नंबर 7 ही क्यों

बता दें कि तिहाड़ जेल की 7 नंबर कोठरी में सामान्य तौर पर ऐसे आरोपियों को रखा जाता है, जो आर्थिक अपराध के मामले में जेल पहुंचते हैं। इससे पहले पी चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम भी जब तिहाड़ जेल भेजे गए थे, तो उन्हें भी इसी सेल में रखा गया था।

विशेष सुविधाएं

यों तो तिहाड़ की 7 नंबर सेल पहुंचने वाले व्यक्तियों को जमीन पर ही सोना होता है, लेकिन पी चिदंबरम की 60 वर्ष से ज्यादा उम्र को देखते हुए जेल मैनुअल के हिसाब से उन्हें लकड़ी का तख्त सोने के लिए दिया गया है।

INX मीडिया केसः पी चिदंबरम को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत, भेजे गए तिहाड़ जेल

तिहाड़ जेल के महानिदेशक संदीप गोयल ने मीडिया से बातचीत में बताया कि पी चिदंबरम को सेल संख्या 7 में रखा जाएगा और उन्हें खाने के लिए दाल, रोटी और सब्जी दी जाएगी।

वहीं, चिदंबरम के वकील कपिल सिब्बल द्वारा अदालत में की गई अपील के चलते उन्हें वेस्टर्न टॉयलेट की सुविधा दी जाएगी।

एक क्लिक में जानिए क्या है INX मीडिया केस जिसमें फंसे हैं चिदंबरम

गौरतलब है कि राउज एवेन्यू कोर्ट में बृहस्पतिवार को सुनवाई के दौरान सीबीआई की ओर से आए सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने पी चिदंबरम को न्यायिक हिरासत में भेजे जाने की पैरवी की थी। इसके बाद अदालत ने कपिल सिब्बल की भी दलीलें सुनीं, और दोनों पक्षों को सुनने के बाद चिदंबरम को तिहाड़ भेजने का आदेश दे दिया।

इस दौरान मेहता ने अदालत को आश्वासन दिया था कि तिहाड़ जेल के भीतर चिदंबरम को पर्याप्त सुरक्षा मुहैया कराई जाएगी।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned