यूपी फिर शर्मसार: यमुना एक्सप्रेस-वे पर लिफ्ट देने के बहाने कक्षा 3 की छात्रा से हैवानियत

यूपी फिर शर्मसार: यमुना एक्सप्रेस-वे पर लिफ्ट देने के बहाने कक्षा 3 की छात्रा से हैवानियत

lokesh verma | Publish: Sep, 08 2018 09:49:12 AM (IST) Noida, Uttar Pradesh, India

यमुना एक्सप्रेस-वे पर 10 वर्षीय बच्ची से बलात्कार, आरोपी गिरफ्तार

नाेएडा. यमुना एक्सप्रेस-वे पर लिफ्ट देने के बहाने तीसरी क्लास में पढ़ने वाली छात्रा से बलात्कार का शर्मनाक मामला सामने आया है। दरअसल, कक्षा तीन में पढ़ने वाली बच्ची परिजनों से नाराज होकर अपनी नानी के घर जाने के लिए निकली थी। ग्रेटर नोएडा में जीरो प्वाइंट पर उसने एक बाइक सवार युवक से आगरा जाने के लिए लिफ्ट ली। इसके बाद युवक ने बच्ची से सुनसान जगह पर बलात्कार किया और उसे बीच रास्ते में ही छोड़कर फरार हो गया। बताया जा रहा है कि इस दौरान आरोपी ने बच्ची को नानी के घर जाने के लिए 100 रुपये भी दिए। परिजनों की शिकायत पर पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज के आधार पर आरोपी लोकेश शर्मा को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

सड़क पर तड़प रहा था हादसे में घायल युवक, महिला मजिस्ट्रेट ने अपनी कार में डालकर पहुंचाया अस्पताल

पुलिस की मानें तो 4 सितंबर को कक्षा तीन में पढ़ने वाली 10 वर्षीय एक बच्ची अपने गांव तुगलपुर से अपनी नानी के घर जा रही थी। इस दौरान बच्ची ने यमुना एक्सप्रेस-वे पर एक युवक से लिफ्ट मांगी। इसके बाद आरोपी युवक बच्ची को अपने साथ ले गया और फिर उसे सुनसान जगह पर ले गया। जहां आरोपी ने बच्ची के साथ बलात्कार की शर्मनाक वारदात को अंजाम दे डाला। इसके बाद वह बच्ची को छोड़कर फरार हो गया। आरोपी ने बच्ची को उसकी नानी के घर जाने के लिए 100 रुपये का नोट भी दिया।

बी-फार्मा की छात्रा ने कमरे में ही फांसी लगाकर जान दी, वजह नहीं आ रही सामने

आरोपी के फरार होने के बाद पीड़ित छात्रा सुनसान जगह पर अकेले भटक रही थी। इस दौरान टप्पल में रहने वाले समाजसेवी विमल चौधरी और उनके साथी ने बच्ची को अकेले देखकर उससे बातचीत की। बच्ची ने उनको आगरा जाने की बात बताई, जिसके बाद उन लोगों ने एक्सप्रेस-वे पर आकर आगरा जाने वाली बस में उसे बैठा दिया। बस चालक सुरेश पांडेय और परिचालक ने बच्ची से परिजनों के नंबर पूछकर उनसे संपर्क किया और बच्ची के बस में होने की सूचना दी। आगरा पहुंचने पर बच्ची के नाना और अन्य परिजन उसे घर ले गए। 5 सितंबर को परिजन उसे लेकर ग्रेटर नोएडा आए। बच्ची की हालत देखकर 6 सितंबर को नॉलेज पार्क पुलिस को मामले की सूचना दी गई। मेडिकल जांच में पुष्टि होने के बाद पुलिस ने आरोपी लोकेश शर्मा निवासी खोड़ा को गिरफ्तार कर लिया।

आपत्तिजनक स्थिति में था प्रेमी युगल, तभी पहुंच गए ‘ये’ और फिर जो हुआ, देखें वीडियो

कोतवाली प्रभारी देवेंद्र पाल सिंह पुंडीर ने बताया कि शिकायत मिलते ही जेवर टोल प्लाजा की सीसीटीवी फुटेज की जांच की गई। पीड़ित बच्ची द्वारा बताए गए समय के आसपास का सीसीटीवी फुटेज में बाइक सवार को बच्ची ने पहचान लिया। हालांकि, युवक ने पहचान से बचने के लिए हेलमेट पहना हुआ था, लेकिन बाइक में लगे बैग से बच्ची ने बाइक और आरोपी को पहचान लिया। पुलिस ने बताया कि जिस समय युवक ने बच्ची को आगरा जाने का झांसा देते हुए लिफ्ट दी, उस समय वह टप्पल के सुजानपुरा स्थित अपनी ससुराल जा रहा था। रक्षाबंधन पर उसकी पत्नी मायके गई थी, जिसे लेने के लिए वह जा रहा था। घटना के दूसरे दिन पांच सितंबर की शाम वह बाइक से पत्नी और बच्चे को लेकर वापस आ गया था। इस बात की पुष्टि पुलिस ने टोल प्लाजा के सीसीटीवी फुटेज से की है। पुलिस ने आरोपी लोकेश शर्मा को गिरफ्तार कर पाक्सो एक्ट के तहत कार्रवाई करते हुए जेल भेज दिया है।

मुज़फ्फरनगर: बरसों से चल रहे अवैध मछली बाज़ार हुए सील, देखें वीडियो-

Ad Block is Banned