डोप टेस्ट में फेल हुई एशियन चैम्पियनशिप की गोल्ड मेडलिस्ट गोमती, 4 साल का बैन संभव

डोप टेस्ट में फेल हुई एशियन चैम्पियनशिप की गोल्ड मेडलिस्ट गोमती, 4 साल का बैन संभव

Manoj Sharma Sports | Publish: May, 21 2019 10:31:20 PM (IST) अन्य खेल

  • गोमती के सैंपल में पाई गई नोरैन्ड्रोस्ट्रेरोन की मात्रा।
  • नाडा ने मार्च में लिया था गोमती के मूत्र का सैंपल।
  • दोहा एशियन चैम्पियनशिप में गोमती ने जीता था गोल्ड मेडल।

नई दिल्ली। डोप टेस्ट में नाकाम रहने के बाद भारतीय महिला एथलीट गोमती मारिमुथु को अस्थाई रूप से बैन कर दिया गया है। गोमती को प्रतिबंधित दवा के सेवन का दोषी पाया गया है। उनके सैंपल में नोरैनड्रोस्ट्रेरोन की मात्रा पाई गई है। गोमती ने पिछले महीने दोहा एशियन चैम्पियनशिप में 800 मीटर में गोल्ड मेडल जीता था।

गोमती को हो सकता है ये नुकसान-

डोप टेस्ट में फेल होने के बाद गोमती को इसकी भारी कीमत चुकानी पड़ सकती है। गोमती पर चार साल तक के लिए स्थाई रूप से बैन किया जा सकता है। इसके अलावा गोमती से उनके पदक भी वापस छिने जा सकते हैं।

आपको बता दें कि पटियाला में 13 से 15 मार्च के बीच हुए फेडरेशन कप में राष्ट्रीय डोपिंग रोधी एजेंसी (नाडा) ने उनके मूत्र का सैंपल लिया था। इसका परिक्षण राष्ट्रीय डोप प्रयोगशाला में हुआ था।

एक अंग्रेजी समाचार पत्र ने भारतीय एथलेटिक्स महासंघ (एएफआई) के अधिकारी के हवाले से लिखा है, "गोमती का पहला टेस्ट सकारात्मक रहा है।"

तमिलनाडु की इस खिलाड़ी को पोलैंड के स्पाला में जारी रिले कैम्प में हिस्सा लेने के लिए उड़ान भरनी थी लेकिन उनकी फ्लाइट रद्द कर दी गई साथ ही उन्हें बेंगलुरू में राष्ट्रीय शिविर में से जाने के लिए भी बोल दिया गया है।

उनके कोच जसविंदर सिंह भाटिया ने अपने आप को इस विवाद से अलग कर लिया है। भाटिया ने कहा, "फेडरेशन कप के बाद, वह शिविर के लिए चुनी गई थीं। वह कुछ समय के लिए मेरे साथ थीं क्योंकि उन्हें 13 अप्रैल को पटियाला में ट्रायल्स के लिए जाना था। वहां से वह दोहा चली गई थीं।"

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned