'बंटी' शिकार खोजता, 'बबली' जाल में फंसा करती थी ब्लैकमेल, इस तरह दबोचे गए

जाल में फंसा युवक पैसे वाला हुआ तो उससे फिरौती मांगी जाती, नहीं तो वो इनके नशे के कारोबार का कोरियर मैन बनता।rime

By: अमित शर्मा

Published: 02 May 2018, 05:02 PM IST

पीलीभीत। 'बंटी और बबली' गैंग का खुलासा हुआ है।इस गैंंग के शातिरों का काम है कि नवयुवकों को अपने जाल में फंसा कर उनकी वीडियो बनाना और बाद में ब्लैकमेलिंग करना। अगर इनके जाल में फंसा युवक पैसे वाला हुआ तो उससे फिरौती मांगी जाती है। नहीं तो वो इनके नशे के कारोबार का कोरियर मैन बनता है।


वीडियो बानकर करते थे ब्लैकमेल

पिछले दिनों बंटी और बबली गैंग के शातिरों ने दो युवकों को शराब पिलाकर उनकी वीडियो बनाई और बाद में उन्हें ब्लैकमेल कर अपने घर बुलाकर उनका अपहरण कर लिया। बंटी ने दोनों युवकों को ब्लैकमेल करते हुए उन्हें छोड़ने के एवज में तीन लाख की फिरौती मांगी। एक अपहृत युवक के पिता की सूझबूझ से इस गैंग का बंटी पकड़ा गया और दोनों युवकों को पुलिस ने आजाद कराया। घटना पूरनपुर थाना क्षेत्र के मोहल्ला गणेशगंज की है।

ऐसे हुआ खुलासा

पुलिस ने पूरनपुर के मोहल्ला गणेशगंज निवासी करूणा शंकर दीक्षित नाम के शातिर को गिरफ्तार किया है। इसके गैंंग मेंं एक युवती भी शामिल है जो फिलहाल पुलिस की गिरफ्त से दूर है। इसीलिए इनका गैंग पूरे पीलीभीत में बंटी और बबली के नाम से मशहूर है। इनका काम है नई उम्र के लड़कों के साथ उन्हें फंसाकर बबली के साथ शराब पिलवाना और बंटी उनकी वीडियो बनाकर उन्हें ब्लैकमेल करने का लेकिन इस बार बंटी फंस गया। अब से कुछ दिन पूर्व पीलीभीत के सुनगढ़ी थाना क्षेत्र की राजीव काॅलोनी निवासी मोहित कुमार व थाना बरखेड़ा क्षेत्र के कस्बा निवासी जयप्रकाश की मुलाकात बंटी उर्फ करूणाशंकर से हुई। बंटी ने दोनों को अपने जाल में फंसाने के लिए बबली का इस्तेमाल किया और सुनगढ़ी थाना क्षेत्र के ही छतरी चैराहे पर पिंटू होटल पर बैठाकर बबली के साथ शराब पिलवाई। दोनों ही नौजवान बबली के साथ शराब पीकर इनके जाल में फंस गये और बंटी इनकी वीडियो बनाता रहा। बीते मंगलवार को बंटी ने मोहित व उसके दोस्त जयप्रकाश को पहले तो पूरनपुर बुलाया और फिर उन्हें वीडियो दिखाकर ब्लैकमेल कर तीन लाख रूपये की मांग की व उन्हें अपने ही घर में बंधक बना लिया। बंटी और बबली ने दोनों से रूपए न देने के एवज में उनसे बदायूं में चरस, गांजा, स्मैक की स्पलाई ले जाने की बात कही। जिसके बाद मोहित ने बंटी को अपने पिता का नंबर दिया और कहा कि यह तीन लाख रूपए ले आएंंगे। बंटी को नहीं पता था कि इस बार उसका खेल बिगड़ गया है। मोहित के पिता रविशंकर ने पैसों की हामी भरी और वह पूरनपुर पहुंचे। जहां उन्होंने पूरी घटना पूरनपुर कोतवाली पुलिस को बताई। पूरनपुर कोतवाली पुलिस ने एक जाल बिछाया और मुख्य आरोपी बंटी उर्फ करूणा शंकर दीक्षित व उसके एक साथी अशोक को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। वहीं दोनों पीड़ित युवकों को पुलिस ने इनके चंगुल से छुड़ाया है लेकिन बबली इस बार बच गयी। वहीं बंटी खुद को बेगुनाह बताते हुए दोनों युवको पर तीन लाख रूपए की उधारी बताकर खुद को बेगुनाह साबित करने में लगा है। तीसरे आरोपी गुड्डू को पुलिस ने पूछताछ के बाद छोड़ दिया है।

Show More
अमित शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned