Delhi Violence: CM ममता बनर्जी ने लिखी एक कविता, कहा- क्या यह लोकतंत्र का अंत है?

  • नाम लिए बगैर मोदी सरकार पर साधा निशाना
  • वह पूछती हैं- मेरे सवाल का जवाब कौन देगा
  • शांत रहने वाले देश में हिंसा कैसे हो गया

By: Dhirendra

Updated: 27 Feb 2020, 11:08 AM IST

नई दिल्ली। दिल्ली में जारी हिंसक ( Delhi Violence ) घटना से पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ( Cm Mamata Banerjee ) काफी आहत हुई हैं। उन्होंने बुधवार को दिल्ली में हुई हिंसा की निंदा करते हुए एक कविता लिखी है। इस कविता के माध्यम से उन्होंने तोड़फोड़ और आगजनी की घटनाओं का केंद्र सरकार से जवाब मांगा है। पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने दिल्ली हिंसा पर अपना दुख व्यक्त करते हुए 'नर्क' शीर्षक से एक कविता लिखी है।

दिल्ली हाईकोर्ट के जज एस मुरलीधर का तबादला, हिंसा को लेकर दिल्ली पुलिस की लगाई थी फटकार

उन्होंने अपनी कविता में लिखा है, ‘‘एक ओझल हुए पते की खोज, बंदूक की नोक पर देश में उफान लेता एक तूफान, शांत रहने वाले देश का हिंसक हो जाना, क्या यह लोकतंत्र का अंत है?’’ सीएम ममता बनर्जी आगे लिखती हैं, ‘‘ कौन जवाब देगा? क्या कोई समाधान होगा? हम और आप बहरे और गूंगे हैंध्पवित्र धरा नर्क में तब्दील हो रही है।’’

भीमा कोरेगांव हिंसाः एनसीपी नेता शरद पवार से होगी पूछताछ, आयोग बहुत जल्द जारी करेगा समन

बता दें कि दिल्ली के जाफराबाद, मौजपुर, करावलनगर और चांद बाग में हुई हिंसा में 27 लोगों की मौत हुई है। हिंसक घटना में 200 से अधिक लोग जख्मी हैं। पुलिस ने हिंसा को लेकर 18 मामले दर्ज किए हैं और 106 लोगों को गिरफ्तार किया है। फिलहाल पुलिस बेकाबू स्थिति को नियंत्रित करने में लगी है। पुलिस का फ्लैग मार्च हिंसाग्रस्त क्षेत्र में जारी है। अब स्थिति नियंत्रण में है।

CAA protest
Dhirendra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned