बीजेपी सरकार को बदलने का वक्त आ गया, एकजुट हो जाए विपक्ष: मनमोहन सिंह

बीजेपी सरकार को बदलने का वक्त आ गया, एकजुट हो जाए विपक्ष: मनमोहन सिंह

Chandra Prakash | Publish: Sep, 10 2018 06:10:35 PM (IST) राजनीति

मनमोहन सिंह ने कहा कि अगले साल आम चुनावों से पहले यह एक महत्वपूर्ण क्षण है और हमें इस एकता का लाभ उठाना चाहिए और देश में एक आंदोलन शुरू करना चाहिए।

नई दिल्ली। पेट्रोल डीजल के दामों में बेतहाशा बढ़ोतरी के खिलाफ विपक्ष के 21 दलों एकजुट होकर भारत बंद का आह्वान किया। कांग्रेस की अगुवाई में रामलीला मैदान में आयोजित विरोध रैली में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने जमकर हमला बोला। उन्होंने अगले लोकसभा चुनावों में भारतीय जनता पार्टी को हराने के लिए विपक्ष से एकजुट होने का आग्रह किया।

सरकार बदलने का वक्त आ गया: मनमोहन सिंह

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने सोमवार को उन्होंने ईंधन की कीमतों में बढ़ोतरी और किसानों की परेशानी के कारण देशभर में छाई संकट की स्थिति के लिए मोदी सरकार पर हमला बोला। इसके साथ ही सिंह ने विपक्षी दलों को आगाह किया कि केंद्र की सरकार को बदलने के लिए एकजुट होने की बात कही है। मनमोहन सिंह ने कहा कि बीजेपी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार वर्ष 2014 के चुनाव से पहले लोगों से किए गए वादों को पूरा करने और ईंधन की कीमतों को नियंत्रित करने में बुरी तरह अफल रही है। मनमोहन सिंह ने कहा कि परिस्थितियों से पता चलता है कि स्थिति अब नियंत्रण से बाहर हो चुकी है। किसान, व्यापारी, युवा अपने-अपने क्षेत्र में संकट झेल रहे हैं। सरकार आम लोगों से किए अपने वादों को पूरा करने में बुरी तरह नाकाम रही है। उन्होंने कहा कि केंद्र में पार्टी को बदलने का समय आ गया है और यह जल्द ही होगा।

भारत बंद: कांग्रेस का आरोप- पेट्रोल पंप पर मोदी की तस्वीर बदलने में हर महीने होते हैं 60 करोड़ खर्च

अब मतभेद भुलकर एकजुट होने की जरूरत: सिंह

विपक्षी पार्टियों से एकजुट होने की अपील करते हुए सिंह ने कहा कि वर्तमान सरकार का विरोध करने वाले दलों को अपने मतभेदों को भूलना चाहिए और देश की एकता और धर्मनिरपेक्षता की पहचान को बनाए रखने के लिए एक साथ आना चाहिए। हमें एकता के सामूहिक लाभ को साबित करने की आवश्यकता है। पूर्व प्रधानमंत्री ने सरकार के विरोध में कांग्रेस का साथ दे रही लगभग 20 राजनीतिक विपक्षी दलों की उपस्थिति को सराहा। उन्होंने कहा कि अगले साल आम चुनावों से पहले यह एक महत्वपूर्ण क्षण है और हमें इस एकता का लाभ उठाना चाहिए और देश में एक आंदोलन शुरू करना चाहिए।

केंद्र सरकार के खिलाफ एकजुट दिखे 21 दल

बता दें कि इस विरोध प्रदर्शन को कांग्रेस और वामपंथी दलों द्वारा पेट्रोल और डीजल के बढ़ते दामों के खिलाफ बुलाया गया था। विरोध प्रदर्शन जनता दल-सेक्युलर, तृणमूल कांग्रेस, राष्ट्रीय जनता दल, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी, लोकतंत्रिक जनता दल, राष्ट्रीय लोक दल, ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट, रिवोल्यूशनरी सोशलिस्ट पार्टी और आम आदमी पार्टी सहित कई विपक्षी दलों द्वारा समर्थित है।

Ad Block is Banned